Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

#PM कर सकते हैं अब किसानों से बात, नरेंद्र मोदी बोले-किसान और मेरे बीच एक फोन Call की दूरी

बजट सत्र की सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने दिए किसानों के साथ बातचीत के संकेत

#PM कर सकते हैं अब किसानों से बात, नरेंद्र मोदी बोले-किसान और मेरे बीच एक फोन Call की दूरी

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पहली बार किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर बातचीत के संकेत दिए हैं। इससे पहले पीएम हमेशा कृषि कानूनों (Agriculture Laws) के फायदे ही हर सभा और मंच पर बताते रहे, लेकिन कभी उन्होंने खुद किसानों से बातचीत (Talk) के संकेत नहीं दिए। अब ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) के बाद हर दिन बदल रहे घटनाक्रम के बाद पीएम ने खुद किसानों से बात करने का संकेत दिया है। बजट सत्र को लेकर हुई सर्वदलीय बैठक (All Party Meeting) में पीएम मोदी ने कहा है कि किसान और सरकार (Farmers and Govt.) के बीच बातचीत का रास्ता खुला है। सूत्रों के मुताबिक पीएम ने बैठक में कहा है कि किसानों और मेरे बीच बस एक कॉल की ही दूरी है।

यह भी पढ़ें: आज सद्भावना दिवस मना रहे किसान, दिनभर रहेंगे उपवास पर-पंजाब-हरियाणा से दिल्ली कूच

बताया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक में कहा कि मैं कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर की बात दोहराना चाहता हूं। कृषि कानूनों पर किसान नेताओं और भारत सरकार के बीच बातचीत के रास्ते हमेशा से खुले हैं। उन्होंने कहा है कि भले ही सरकार और किसानों के बीच अभी आम सहमति पर नहीं बनी हैं, लेकिन हम किसानों के सामने विकल्प रख रहे हैं। इन विकल्पों पर उन्हें चर्चा करनी चाहिए।

सर्वदलीय बैठक के दौरान पीएम ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसमें सभी विषयों पर चर्चा होगी और सभी राजनीतिक दलों को भी बोलने का मौका दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री द्वारा किसानों को दिया गया ऑफर अभी भी बरकरार है। उधर, ऑल पार्टी मीटिंग को लेकर संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने जानकारी दी। प्रह्लाद जोशी नेन कहा कि आज सर्वदलीय बैठक में 18 पार्टियां मौजूद रहीं। इसमें कृषि कानून को लेकर चर्चा की गई। सर्वदलीय बैठक में छोटी पार्टियों को भी ज्यादा समय देने पर सहमति बनी है। इसके साथ ही बड़े राजनीतिक दलों से चर्चा में व्यवधान नहीं करने की भी अपील की गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है