Expand

पैराग्लाइडिंग को लेकर जारी की एडवाईजरी

पैराग्लाइडिंग को लेकर जारी की एडवाईजरी

- Advertisement -

मंडी। बीते एक महीने में मंडी जिला में दो विदेशी पैराग्लाइडरों की मौत के बाद अब जिला पुलिस ने पैराग्लाईडिंग को लेकर एडवाइजरी जारी कर दी है। इस बात की जानकारी डीएसपी हैडक्वाटर हितेश लखनपाल ने दी। उन्होंने बताया कि मंडी जिला में पैराग्लाइडिंग के लिए कोई भी चिन्हित स्थान नहीं है और ऐसे में देसी और विदेशी पर्यटक यहां पर अपनी मर्जी से पैराग्लाइडिंग करके जान जोखिम में डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहां पर चिन्हित स्थान है, वहीं पर ही पैराग्लाइडिंग की जानी चाहिए। बता दें कि पिछले कल मंडी जिला के साहल के पास एक विदेशी पैराग्लाइडर की दुर्घटना के कारण मौत हो गई थी और करीब एक महीना पहले बरोट के पास भी एक पैराग्लाइडर दुर्घटना का शिकार हुआ था और उसकी भी मौत हो गई थी।mandi-3

  • मंडी जिला में नहीं पैराग्लाइडिंग के लिए कोई चिन्हित स्थान
  • पैराग्लाइडर जान जोखिम में डालकर न करें यहां पर पैराग्लाईडिंग
  • सिर्फ चिन्हित स्थानों पर पैराग्लाइडिंग करने की दी सलाह

विदेशी पैराग्लाइडर यहां के पहाड़ों का आकर्षण देखकर खुद को रोमांच से भर देते हैं जो उनके लिए जानलेवा साबित हो रहा है। ऐसे में अब जिला पुलिस ने एडवाइजरी जारी करके साफ कह दिया है कि मंडी जिला में पैराग्लाइडिंग के लिए कोई भी स्थान चिन्हित नहीं है और यहां पर पैराग्लाइडिंग न की जाए। डीएसपी का कहना है कि इस बारे में होटलों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भी पोस्टर बांटकर लोगों और पर्यटकों को जागरुक किया जाएगा। वहीं, दूसरी तरफ बुधवार को रूस के मृतक पैराग्लाइडर निकोलाय हूडिन के शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव टांडा मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया जहां से शव को फ्रीजर के माध्यम से दिल्ली और फिर विदेश पहुंचाया जाएगा।

अप्रूव्ड साइट्स से ही दें पैराग्लाइडिंग की अनुमति

धर्मशाला। लगातार हो रहे पैराग्लाइडिंग हादसों को लेकर बीड़-बिलिंग पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन (बीपीए) भी चिंतित है। बीपीए के निदेशक अनुराग शर्मा ने अपनी यह चिंता एसपी और डीसी कांगड़ा के सामने भी व्यक्त की है। वहीं वह प्रदेश के डीजीपी को भी सिर्फ अप्रूव्ड साइट्स से ही पैराग्लाइडिंग की अनुमति देने के बारे में एक पत्र लिखने जा रहे हैं। अनुराग शर्मा बुधवार को धर्मशाला में जिला प्रशासन के साथ नेशनल ओपन एक्यूरेसी चैंपियनशिप की तैयारियों के लिए आयोजित बैठक में भाग लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

  • ilogoडीजीपी को पत्र लिखेगी बीपीए
  • बिलिंग पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन ने हादसों पर जताई चिंता
  • कहा, प्रदेश की छवि को नुकसान पहुंच रहा है
  • नेशनल ओपन एक्यूरेसी चैंपियनशिप की तैयारियों के लिए प्रशासन के साथ बैठक
  • पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए आईपीएच से जल्द कार्रवाई की मांग

अनुराग शर्मा ने कहा कि पैराग्लाइडिंग में हादसों का शिकार हो रहे लोगों का उन्हें दुख है लेकिन इन हादसों से प्रदेश की छवि खराब हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बीड़-बिलिंग और धर्मशाला की इंद्रूनाग साइट ही पैराग्लाइडिंग के लिए अप्रूव्ड है। लेकिन न जाने कैसे विदेशी पैराग्लाइडर ऐसी साइट्स पर जाकर पैराग्लाइडिंग कर रहे हैं जो कि किसी भी तरह से सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने बताया कि हाल ही में हुए दो हादसों में मारे जाने वाले पैराग्लाइडरों ने झटींगरी और पराशर से उड़ान भरी थी और यह दोनों ही साइट्स अप्रूव्ड नहीं हैं।

paraglading-kangraप्रशासन के साथ हुई बैठक की जानकारी देते हुए अनुराग ने बताया कि इसमें प्रतियोगिता के दौरान सुरक्षा व्यवस्था, सड़क, स्वास्थ्य सुविधा और पर्वतारोही दल के सदस्यों की तैनाती आदि विषयों पर चर्चा की गई। वहीं विशेष तौर पर आईपीएच विभाग से टेक ऑफ और लैंडिंग साइट पर पेयजल उपलब्ध करवाने की भी मांग की गई। गौरतलब है कि टेक ऑफ और लैंडिंग साइट पर प्रतियोगिता के समय, मौजूदा पेयजल व्यवस्था नाकाफी साबित होती है। अनुराग शर्मा ने कहा कि बीपीए लंबे समय से बीड़ में एक स्थाई चेक पोस्ट बनाने की मांग कर रही है ताकि टेक ऑफ प्वाइंट पर जाने वाले हर पैराग्लइडर की जांच की जा सके कि उसके पास उड़ने के लिए वैध लाइसेंस भी है अथवा नहीं। अनुराग ने कहा कि हर समय बीपीए के सदस्य यह काम नहीं कर सकते इसलिए पुलिस की मौजूदगी से इस मामले में काफी सहायता मिलेगी और अवैध रूप से उड़ान भरने वालों पर अंकुश लगाया जा सकेगा।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष पैराग्लाइडिंग वर्ल्ड कप के सफल आयोजन के बाद इस बार 11 से 15 नवंबर तक बीड़ -बिलिंग में नेशनल ओपन एक्यूरेसी चैंपियनशिप का आयोजन किया जा रहा है। अनुराग ने बताया कि इसके लिए रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि दस नवंबर तक निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय मानकों को ध्यान में रखते हुए प्रतिभागियों की कुल संख्या 130 से अधिक नहीं रखी जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है