Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,204,179
मामले (भारत)
116,873,133
मामले (दुनिया)

प्रदेश भर में गरजीं Anganwadi, मिड-डे मिल और Asha Works

प्रदेश भर में गरजीं Anganwadi, मिड-डे मिल और Asha Works

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी टीम। प्रदेश भर की आंगनबाड़ी, मिड-डे मिल और आशा वर्कर्ज बुधवार को हड़ताल पर रहीं। अपनी मांगों के लिए इन वर्कर्ज ने प्रदेश भर में जमकर हल्ला बोला। हिमाचल प्रदेश मिड-डे मील यूनियन ने केंद्र सरकार पर मिड-डे मील स्कीम बंद करने और  मिड-डे मील वर्करों के शोषण के आरोप लगाए। 

यूनियन के पदाधिकारियों  मिड-डे मील  वर्कर्ज को एक हजार वेतन दिया जा रहा है जो आज की मंहगाई के दौर में नाकाफी है। इनका आरोप है कि उन्हें न ही कोई प्रसूति अवकाश और न ही सरकारी कर्मचारियों जैसी कोई सुविधाएं दी जाती हैं। उन्होंने आज एक दिन की संकेतिक हड़ताल की है और अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं, तो उग्र आंदोलन शुरू किया जाएगा।

मंडी, हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना में अपनी मांगों को लेकर किए धरने प्रदर्शन

मंडी में जिला भर से हजारों की संख्या में आई इन वर्करों ने सीटू के बैनर तले धरना प्रदर्शन किया और अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी की। यह सभी खुद को सरकारी कर्मचारी घोषित करवाने की मांग कर रही हैं। इनका कहना है कि 2013 में हुए श्रम सम्मेलन में इनके हक में जिन सिफारिशों को भारत सरकार ने माना था उन्हें आज दिन तक लागू नहीं किया गया है।
 हमीरपुर के गांधी चौक पर कार्यकर्ताओं ने भी धरना प्रदर्शन किया और भौटा चौक से लेकर गांधी चौक तक रैली निकाली, जिसमें केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।
बिलासपुर में इन आंगनबाड़ी और मिड-डे मील कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन और नारेबाजी करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 18,000 तो मिड-डे मील कर्मी को 6500 की बेसिक वेतन देने  की मांग की है। 
 ऊना में सीटू के जिला सचिव ने केंद्र सरकार पर आंगनबाड़ी और मिड-डे मिल वर्कर्स के खिलाफ साजिश रचकर बाहर करने का आरोप लगाया है। सीटू ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार उनकी मांगे नहीं मानती है, तो उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है