Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

बढ़े वेतन से खुश नहीं आंगनवाड़ी वर्कर, हेल्पर, हरियाणा की तर्ज पर मांगा

बढ़े वेतन से खुश नहीं आंगनवाड़ी वर्कर, हेल्पर, हरियाणा की तर्ज पर मांगा

- Advertisement -

शिमला। समेकित बाल विकास परियोजना रामपुर व ननखड़ी से जुड़ी आंगनवाड़ी वर्कर व हेल्पर का सम्मेलन रविवार को सीटू कार्यालय चाटी में हुआ। बैठक में आंगनवाड़ी वर्कर ने उनके बढ़े हुए वेतन पर असंतोष व्यक्त किया और हरियाणा की तर्ज पर वेतन देने की सरकार से मांग की है। सम्मेलन का शुभारंभ सीटू राज्य उपाध्यक्ष बिहारी सेवगी ने किया।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार आंगनवाड़ी वर्कर, हेल्पर और मजदूर विरोधी है। दोनों सरकारों की नव उदारवादी नीतियों का सीधा असर आम लोगों पर पड़ रहा है। इन नीतियों के लागू होने से महंगाई, बेरोजगारी व भ्रष्टाचार बढ़ रहा है, जिससे गरीब और अधिक गरीब हो रहे हैं और अमीर लोग और अमीर हो रहे हैं। उन्होंने कहा 5 सितंबर 18 को दिल्ली में सीटू की रैली में 5 लाख से अधिक मजदूर और किसानों ने भाग लिया था। इसमें लगभग 1 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शामिल थीं।

मजदूरों की ताकत देख कर पीएम को आंगनवाड़ी वर्कर व हेल्पर का मानदेय में मासिक 1500 रुपए और 750 रुपए 1 अक्टूबर 2018 से बढ़ाना पड़ा, जिससे आंगनवाड़ी कार्यकर्ता संतुष्ट नहीं है। उन्होंने हरियाणा की तर्ज पर मासिक मानदेय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता 11,429 और हेल्पर्ज 5800 की मांग रखी है।

प्राथमिक स्कूलों में प्री नर्सरी कक्षाएं शुरू करने का विरोध

आंगनवाड़ी राज्य अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में प्री नर्सरी कक्षाएं शुरू करने के लिए आदेश दिए हैं, जो तर्क संगत नहीं है। इसमें तीन से छह साल के बच्चों को दाखिला दिया जाएगा, जिसका सीधा असर आंगनवाड़ी वर्कर पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यूनियन के सदस्यों ने इसे लेकर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज से मुलालत की और प्री नर्सरी कक्षाएं शुरू करने के आदेशों को वापस लेने की मांग की।

आंगनवाड़ी वर्कर को प्रशिक्षण देकर प्राइमरी स्कूलों में अध्यापक नियुक्त करने की भी मांग की। इसके साथ ही आंगनवाड़ी वर्कर को सभी हक प्रदान करने की मांग की, जो एक कर्मचारी को दिए जाते हैं। उन्होंने कहा अपनी मांगों को मनवाने के लिए 22 से 27 अक्टूबर तक हिमाचल के सभी जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन किया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है