Expand

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र बदला तो आंदोलन

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र बदला तो आंदोलन

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल बाल कल्याण परिषद के आंगनवाड़ी कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र को रसमाई से गुपचुप बदलने की सूचना है। इस की भनक लगते ही कर्मचारी वर्ग सहित स्थानीय लोग भड़क गए हैं। प्रशिक्षु, कर्मचारी व स्थानीय लोगों ने बताया कि स्वार्थ के चलते केंद्र को बदलने के लिए भवन छोटा होने का बहाना रचा गया है। केंद्र को बदलने का यह पहला मौका नहीं है। इससे पहले बीते वर्ष जून माह में भी गुपचुप यह कार्रवाई जारी कर मुख्यालय को बताए बिना ही उपायुक्त मंडी को भवन उपलब्ध करने के लिए आवेदन किया था।

  • इसका चौतरफा विरोध होने पर शिमला स्थित हिमाचल बाल कल्याण परिषद के सचिव राजकुमारी सोनी ने मामला रद्द किया था। इसके बाद फिर से इस केंद्र को बदलने की साजिश रची गई है। परिषद के रसमाईं केंद्र में 40 महिला कार्यकर्ताओं के प्रति बैच को तीन माह का प्रशिक्षण व एक माह रिफरेशर कोर्स व अन्य संबंधित कार्यों को अंजाम देने का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।
  • लोगों की शिकायत पर पूर्व मंत्री रूप सिंह ठाकुर ने कड़ा विरोध करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारी खुद नालायक है और दूसरों पर बेवजह आरोप लगाते रहते है। उन्होंने कहा कि प्रभारी को अपनी सुविधा के लिए केंद्र को ही मंडी ले जाने की जरूरत पड़ गई है।
  • मंडी में महिला गृह भवन में बेसहारा महिलाओं की बजाय प्रशिक्षण केंद्र खोलने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि करीब तीन दशक से यहां चल रहे केंद्र को किसी भी हाल से यहां से नहीं जाने देंगे। उन्होंने सरकार को चेतावनी दी है कि इस मामले में बीजेपी सड़कों उतर कर जोरदार विरोध प्रदर्शन करेंगी।

पूनम कुमारी, ओमलता, रोशनी देवी, पूजा, अंजना देवी, रमा, पार्वती, कौशल्य, सीमा देवी, जय माला, रूमती, सावित्री देवी, handउमावति, यादविंद्र, हेम सिंह और दिनेश ने आरोप लगाया कि केंद्र में तैनात प्रभारी व शिमला स्थित विभाग के एक अधिकारी ने अपने स्वार्थ को साधने के लिए केंद्र को सुंदरनगर से बदलने की तैयारी की है। जबकि वर्तमान में रसमाई स्थित केंद्र में तमाम मूलभूत सुविधाएं जैसे अस्पताल, बस स्टैंड, बैंक, बाजार निकट हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र के साथ पुलिस और प्रशासन के कार्यालय होने के चलते प्रशिक्षु महिलाओं की सुरक्षा की बेहतर सुविधा है। उधर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र सुंदरनगर की प्रधानाचार्य प्रभारी पूर्णिमा शर्मा ने कहा कि इस संबंध में निर्णय प्रधानाचार्य का नहीं, शिमला के अधिकारियों को लेना है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है