Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

लिट् फेस्ट: Anupam Kher @ कलाकार पैदा नहीं होते बल्कि मेहनत और संघर्ष से बनते हैं

लिट् फेस्ट: Anupam Kher @ कलाकार पैदा नहीं होते बल्कि मेहनत और संघर्ष से बनते हैं

- Advertisement -

दयाराम कश्यप/ सोलन। पर्यटक नगरी कसौली में खुशवंत सिंह लिट् फेस्टिवल के अंतिम दिन अभिनेता अनुपम खेर पहुंचे और उपस्थित लोगों से अपने विचार साझा किए। उन्होंने कहा कि ये धारणा गलत है कि कलाकार पैदा होते है, उनकी सफलता इस बात का सबूत है कि कलाकार मेहनत और संघर्ष से बनते हैं। खेर ने कहा कि उनकी पढ़ाई हिंदी माध्यम में हुई थी बावजूद इसके आज वे मंच पर हैं और उनसे कहीं ज्यादा पढ़े लिखे लोग उन्हें सुनने बैठे हैं इस बीच कार्यक्रम में जब एक सवाल कर रहे प्रशंसक का माइक नहीं चला तो अनुपम खुद अपना माइक लेकर उसके पास पहुंच गए। वहीं, खेर ने अपनी आगामी फील्म रांची डायरीज के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा ये फिल्म एक युवा लेखक व निर्देशक की फिल्म है जिसके लिए उन्होंने खुद निर्माता खोजे है।

अनुपम ने अपने संघर्ष के दिनों को किया याद

खेर ने मुंबई में अपने संघर्ष के दिनों की यादें भी उपस्थित लोगों से शेयर की। खेर ने कहा कि कड़े संघर्ष के बाद उन्हें फिल्म सांराश मिली। इसके लिए उन्होंने दिन-रात  मेहनत की, लेकिन प्रोडूसर के दबाव में अंतिम समय में उनकी भूमिका संजीव कुमार को दे दी गई। उन्होंने विरोध किया और आखिरकार वह भूमिका उन्हें ही मिली। इसके बाद खेर ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। इस दौरान अनुपम खेर ने खुशवंत सिंह लिट्फेस्ट के अगले संस्करण से हर वर्ष सर्वश्रेष्ठ नए लेखक के लिए अपनी ओर से एक लाख का ईनाम देने की भी घोषणा की इससे पहले दिन के पहले सत्र में मिहिर बोस, सुमंत्र बोस, आनंद सेठी और मार्क टल्ली ने जासूस भगत राम तलवार के जीवन और सुभाष चंद्र बोस की इंडियन नेशनल आर्मी में भगत राम की भूमिका पर चर्चा की। अगले सत्र में लेखक अश्वनी सांघी और पब्लिशर रंजना सेन गुप्ता ने नए लेखकों का मार्गदर्शन किया। दिन के तीसरे सत्र में रिटायर्ड मेजर जनरल एजेएस संधू ने बैटलऑफ चंब पर लिखी अपनी किताब पर चर्चा की। पत्रकारों से बात करते हुए अनुपम ने कहा कि फिलहाल उनका राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है।


करवाचौथ: पत्नियों ने जेल पहुंच किया पति का दीदार, मांगी लंबी उम्र की दुआ

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है