Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

अनुराग ठाकुर बोले: मोदी सरकार की नीतियों से भारत बना Mobile Manufacturing हब

अनुराग ठाकुर बोले: मोदी सरकार की नीतियों से भारत बना Mobile Manufacturing हब

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश बन कर उभरा है और इससे लाखों लोगों को रोजगार भी मिला है। जो मोबाइल पहले दूसरे देशों में बनते थे वह आज भारत (India) में बन रहे हैं। यह बात केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कही। अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा कि भारत में बढ़ते विदेशी निवेश व मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग (Mobile Manufacturing) के क्षेत्र में विदेशी कंपनियों द्वारा भारत को पहली पसंद रखने का श्रेय मोदी सरकार की नीतियों को जाता है। ठाकुर ने कहा सूचना क्रांति के इस दौर में मोबाइल फ़ोन आज बुनियादी ज़रूरत का रूप ले चुका है। यह सेक्टर ना सिर्फ़ लोगों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए क्रियाशील है बल्कि इसके माध्यम से लाखों लोगों को रोज़गार भी मिल रहा है। उद्योग-धंधों को बढ़ावा देने की मोदी सरकार की प्रभावशाली नीतियों का ही परिणाम है कि भारत अब दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल निर्माता देश बन गया है।

यह भी पढ़ें: PUBG Mobile में रोलआउट हुआ 0.19.0 अपडेट: Livik मैप की हुई शुरुआत

भारत में अब 300 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स स्थापित

भारत में अब तक 300 से ज़्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स सेट अप हो चुकी हैं। भारत में 330 मिलियन से ज़्यादा मोबाइल हैंडसेट्स बनाए जा चुके हैं। वर्ष 2014 से अगर इसकी तुलना की जाए तो उस वक्त देश में 60 मिलियन स्मार्टफोन बनाए गए थे और सिर्फ दो मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भारत में थे। वर्ष 2014 में भारत में बने मोबाइल फोन की वैल्यू 3 बिलियन डॉलर थी। वहीं 2019 में यह वैल्यू 30 बिलियन डॉलर हो गई है। आज से कुछ वर्ष पहले वर्ष 2014 से पहले भारत दूसरे नंबर पर इलेक्ट्रॉनिक गुड्स (Electronic Goods) का इंपोर्ट करता था। आज पीएम मोदी की नीतियों के कारण भारत मात्र 4.5 वर्षों में मोबाइल फोन का दुनिया भर दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बना है।

 

एपल ने भारत में शुरू किया आईफोन का उत्पादन

ठाकुर ने कहा कि आत्मनिर्भरता की दिशा में बढ़ते भारत ने सफलता का एक और कदम बढ़ाया है। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस बनाने के मामले में मशहूर विश्व के बड़े ब्रांड्स एपल (Apple) ने अब भारत में आईफोन (I-Phone) का उत्पादन शुरू कर दिया है। यह देश के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। आईफोन को स्थानीय स्तर पर बनाने का कदम भारत सरकार की प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम से जुड़ा है, जिसने देश में स्मार्टफोन (Smart Phone) की डोमेस्टिक मैन्युफैक्चरिंग और असेंबल करने के लिए प्रोत्साहित किया है। मोदी सरकार बड़े अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों को भारत में अपनी पूरी सप्लाई चेन मशीनरी लाने के लिए जोर दे रही है ताकि भारतीय बाजार केवल फोन असेंबलिंग तक ही सीमित न रह जाए। सैमसंग (Samsung) ने भारत में दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल बनाने वाली फैक्ट्री का सेटअप किया है। दुनिया की बड़ी कंपनियों के भारत आने से यहां लोगों को रोज़गार से और अधिक अवसर उपलब्ध होंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी भी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है