Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,063,038
मामले (भारत)
113,544,338
मामले (दुनिया)

जयललिता के निधन की जांच कर रहें पैनल ने स्वास्थ्य सचिव पर लगाया साजिश का आरोप

जयललिता के निधन की जांच कर रहें पैनल ने स्वास्थ्य सचिव पर लगाया साजिश का आरोप

- Advertisement -

नई दिल्ली। तमिलनाडु की पूर्व सीएम दिवंगत जयललिता के निधन की जांच कर रहे पैनल के वकील ने तमिलनाडु के स्‍वास्‍थ्‍य सचिव जे राधाकृष्णन और अपोलो हॉस्पिटल पर साजिश का आरोप लगाया है। वकील ने कहा है कि अगर ठीक से इलाज होता तो जयललिता को बचाया जा सकता था। इसके अलावा वकील मोहम्‍मद जफरउल्‍लाह खान ने पूर्व चीफ सेक्रटरी रामा मोहन राव पर आरोप लगाया है कि उन्‍होंने जानबूझकर गलत सबूत पेश किए। वकील ने कार्डियोथोरेसिक सर्जन के बयान की एक लाइन के आधार पर यह निष्‍कर्ष निकाला है कि अपोलो हॉस्पिटल में जयललिता का ठीक से इलाज नहीं किया गया था। हालांकि, डॉक्‍टर ने उस वाक्‍य विशेष पर ऐतराज जताते हुए कहा कि इसे 29 नवंबर को गलत तरह से दर्ज किया गया, लेकिन पैनल ने उनके विरोध को नजरअंदाज कर दिया।

ये भी पढ़ें:जयललिता के खाने पर ही हो गए थे 1 करोड़ खर्च, 7 करोड़ का आया था कुल बिल

जयललिता के करीबी शशिकला को भेजा गया नोटिस

पैनल के वकील मोहम्‍मद जफरउल्‍लाह खान ने ये आरोप गुरुवार को रिटायर्ड जस्टिस ए अरुमुगास्‍वामी आयोग के सामने याचिका दायर करते हुए लगाए हैं। खान ने आयोग से राधाकृष्णन और राव को नोटिस जारी करने का आग्रह करते हुए कहा है कि उन्हें कमिशन ऑफ इन्‍क्‍वॉयरी ऐक्ट, 1952 की धारा 5 और 8 बी के तहत जवाब देने के लिए पेश किया जाना चाहिए। फिलहाल, एआईएडीएमके की पूर्व महासचिव और जय‍ललिता की करीबी वीके शशिकला व अपोलो हॉस्पिटल को अरुमुगास्‍वामी आयोग की ओर से सेक्‍शन 5 और 8बी के तहत नोटिस भेजा गया है।

ये भी पढ़ें: तमिलनाडु…एक युग का अंत, जयललिता को अंतिम विदाई

जयललिता के इलाज को लेकर सरकार को नहीं भेजी गई कोई नोटिस

याचिका में, खान ने आयोग के सामने राधाकृष्णन के बयान का हवाला देते हुए कहा कि उन्हें जयललिता की गंभीर बीमारियों और अपोलो के इलाज की जानकारी थी फिर भी उन्होंने किसी भी कैबिनेट मंत्री को कोई रिपोर्ट नहीं भेजी। तत्‍कालीन चीफ सेक्रटरी राव पर आरोप लगाते हुए अपनी याचिका में खान ने कहा है कि राव ने अपने बयान में कहा है कि उन्‍होंने सरकार को जयललिता के इलाज के बारे में जानकारी दे दी थी, जबकि मौजूदा चीफ सेक्रटरी का कहना है कि राव की ओर से ऐसा कोई लेटर नहीं मिला था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है