Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

जहानाबाद कोर्ट से पुलिस को मिली शरजील इमाम की ट्रांजिट रिमांड, दिल्ली लाया जाएगा

जहानाबाद कोर्ट से पुलिस को मिली शरजील इमाम की ट्रांजिट रिमांड, दिल्ली लाया जाएगा

- Advertisement -

नई दिल्ली/जहानाबाद। भड़काऊ भाषण से सुर्खियों में आए जेएनयू छात्र शरजील इमाम को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया है। दिल्ली और बिहार पुलिस ने मंगलवार दोपहर जहानाबाद (Jehanabad) के कारो थाना क्षेत्र से गिरफ्तार (Sharjeel Imam Arrest) किया। गिरफ्तारी के बाद जहानाबाद में शरजील इमाम को निचली अदालत में पेश किया गया। दिल्ली पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड की मांग रखी। जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया है। अब शरजील इमाम को दिल्ली लाया जा रहा है।

इससे पहले शरजील के वकील की तरफ से इस बात का दावा किया गया कि शरजील ने दिल्ली पुलिस के आगे सरेंडर किया है। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फेंस करके कहा कि शरजील ने सरेंडर नहीं किया, उसे गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस के अनुसार, पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने की कोई प्रक्रिया नहीं हुई है। यदि कोई आरोपी सरेंडर करना चाहता तो कोर्ट के सामने सरेंडर किया जाता है, न कि पुलिस के सामने।

दिल्ली पुलिस पिछले दो दिनों से छापेमारी कर रही है और आज दोपहर 2 बजे, हमने उसे बिहार में जहानाबाद के काका थाना क्षेत्र में उसके गांव से हिरासत में लिया। शरजील की तलाश में पुलिस ने रविवार से ही कई स्‍थानों पर छापेमारी की थी। इससे पहले सोमवार रात को उसके भाई और दोस्त को पुलिस ने हिरासत में लिया था।

यह भी पढ़ें: सराज के जंगल में पेड़ काटने पहुंचे तस्कर, लोगों को लगी भनक-फरार

इस मामले में उसके खिलाफ छह राज्यों- बिहार, असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और मणिपुर में आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत कई केस दर्ज किए गए हैं। जिसके कारण शरजील को इन सभी राज्यों की पुलिस तलाश रही थी। उसके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज है। बता दें कि चार दिन पहले शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के मंच से पूर्वोत्तर के राज्य असम को भारत से काटने की बात कह रहा है। उसने कहा कि मुसलमानों को अपनी ताकत दिखाते हुए कम से कम एक महीने तक असम का संपर्क भारत से काट देना चाहिए। इसके लिए रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डाल देना चाहिए कि उसे साफ करते-करते कम से कम एक महीने का समय लग जाए।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है