Covid-19 Update

2,01,054
मामले (हिमाचल)
1,95,598
मरीज ठीक हुए
3,446
मौत
30,082,778
मामले (भारत)
180,423,381
मामले (दुनिया)
×

चीनी से भी ज्यादा हानिकारक होती है आर्टिफिशियल शुगर, इस तरह होता है सेहत पर असर

चीनी से भी ज्यादा हानिकारक होती है आर्टिफिशियल शुगर, इस तरह होता है सेहत पर असर

- Advertisement -

कई लोग चीनी (Sugar) के वजाए आर्टिफिशियल स्वीट का सेवन करते हैं क्योंकि इसको लेकर उनके मन में यह धारणा बनी है कि इससे उन्हें डायबिटीज नहीं होगी साथ ही उन्हें मोटापा (Obesity) नहीं होगा। लेकिन आपको इस बात की जानकरी न होगी कि आपकी ये एआर्टिफिशियल शुगर चीनी से भी ज्यादा हानिकारक होती हैं ,..इससे सेहत को कई तरह से नुकसान पहुंचता है। यदि आप चीनी विकल्प की तलाश कर रहे हैं, तो शहद, स्टीविया जैसे नुचरल चीजों का प्रयोग करें। इन्हें सीमित मात्रा में लेना आपके लिए खतरे पैदा नहीं करेगा।

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी से दोगुनी सैलरी लेते हैं हिमाचल के सीएम, इन राज्यों के सीएम भी हैं आगे

चलिए जानते हैं कैसे आर्टिफिशियल शुगर आपको नुकसान पहुंचता है ?


आर्टिफिशियल स्वीटनर्स (Artificial sweeteners) आपकी भूख को बढ़ा देते हैं जिससे कैलोरी की खपत बढ़ जाती है। जिससे आपका वेट बढ़ता है। जब आप आर्टिफिशियल स्वीटनर वाले खाद्यपदार्थ खाते हैं तो आप ये सोच कर ज्यादा खाने लगते हैं कि ये नुकसान नहीं करेगा।

सभी ये सोचते हैं कि आर्टिफिशियल स्वीटनर्स डायबिटीज पेशंट्स के लिए अच्छा होता है, लेकिनये डायबिटीज का कारण बन सकता है, क्योंकि आर्टिफिशियल स्वीटनर्स ब्लड में शुगर के विनियमित करने की क्षमता को बाधित करता है। इससे मेटाबॉलिज्म डिस्टर्ब हो जाता है। चीनी के बजाय आर्टिफिशियल स्वीटनर्स का बहुत अधिक सेवन डायबिटीज के प्रमुख कारणों में से एक है।

जो एक दिन में दो से अधिक बार आर्टिफिशियल स्वीटनर से बने मीठे पेय पदार्थों का सेवन करते हैं उनमें उच्च रक्तचाप और हृदय रोग, कोरोनरी हृदय रोग जैसी बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है।

आर्टिफिशियल स्वीटनर से मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा पैदा होता है। ये ऐसी स्थितियों का एक समूह होता है, जिसमें आमतौर पर रक्तचाप में वृद्धि, उच्च रक्त शर्करा का स्तर, कमर के आसपास अतिरिक्त वसा का जमना और असामान्य कोलेस्ट्रॉल का स्तर होता है।

आर्टिफिशियल स्वीटनर, एक टेबल चीनी की तुलना में बहुत अधिक मीठा होता है। मिठास की इतनी उच्च तीव्रता रोज लेने से टेस्ट बड धीरे-धीरे डल होने लगता है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है