Expand

BJP Online : देश हमारे साथ, असुविधा से लड़ लेंगे

BJP Online : देश हमारे साथ, असुविधा से लड़ लेंगे

- Advertisement -

अभी अभी डेस्क। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी पर देश हमारे साथ है। हां, लोगों को असुविधाएं झेलनी पड़ रही हैं, सरकार उन्हें सुलझाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने साफ कर दिया कि कालेधन के खिलाफ यह लड़ाई अभी शुरू हुई है आगे-आगे देखिए होता है क्या।

  • जेटली ने देशभर के आईटी सैल के साथ की ऑनलाइन कांफ्रेंस
  •  जाना जनता का फीडबैक, नोटबंदी के फायदे भी गिनाए
  • बोले, कालेधन के खिलाफ जारी रहेगी सरकार की लड़ाई

जेटली आज देशभर के आईटी सैल के नेताओं से ऑनलाइन चर्चा कर रहे थे। चर्चा में उनके साथ थे बीजेपी आईटी प्रकोष्ठ के नेशनल हेड अमित मालवीय। इस ऑनलाइन मीट में अन्य राज्यों के साथ-साथ हिमाचल भी शरीक हुआ। बीजेपी नेता गणेश दत्त शर्मा और एससी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सिकंदर कुमार इस चर्चा में मौजूद थे।

arun-jaitleyIT Cell के साथ ऑनलाइन कांफ्रेंस

देश में हर तरफ नोटबंदी का शोर है। आम लोग इसे जहां सरकार का बड़ा कदम मान रहा हैं, वहीं इससे हो रही परेशानियां भी गिना रहा है। लोगों को नोटबंदी से हो रही असुविधा से निपटने के लिए सरकार आए दिन नए नियम जारी कर रही है। सरकार के इन्हीं फैसलों का जनता से मिल रहा फीडबैक जानने के लिए आज बीजेपी के दिल्ली कंट्रोल रूम से वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पार्टी के देशभर के आईटी सैल के नेताओं से ऑनलाइन चर्चा की।

हिमाचल ने भी किया सवाल

जेटली ने इस दौरान नेताओं के सवालों के जवाब भी दिए। हिमाचल की तरफ से शादी के लिए 2.50 लाख रुपए निकासी की सीमा और अवधि बढ़ाने के बारे में पूछे गए सवाल पर जेटली बोले, फिलहाल यह व्यवस्था जारी रहेगी। कालेधन को सोने में बदलने के एक सवाल पर जेटली बोले कि धीरे-धीरे सब मामलों में कालाधन रखने वालों को नकेला जाएगा।

जन-जन को गिनाओ फायदे

videoजेटली ने नेताओं को सरकार के इस फैसले के फायदे भी गिनाए। साथ ही उन्हें हर पार्टी कार्यकर्ता तक पहुंचाने की जिम्मेवारी भी दी। ताकि हर आम आदमी तक यह बात पहुंचाई जा सके। उन्होंने कहा कि अभी तक सवा पांच लाख करोड़ रुपए बैंकों में जमा हो चुके हैं। लोगों के घरों में पड़ा पैसा भी बैंकों में पहुंचा है। यह धन भी अब बाजार में आएगा और अर्थव्यवस्था को संबल देगा। इसका फायदा सीधा जनता को ही होगा। उल्लेखनीय है कि पहले इस मीट के लिए आज सुबह साढ़े 12 बजे का समय तय हुआ था लेकिन फिर इसे री-शैड्यूल कर तीन बजे किया गया। यह मीट अपनी तरह की पहली थी, क्योंकि इसमें बीजेपी के राष्ट्रीय नेता ऑनलाइन चर्चा करेंगे। इस मीट में हर राज्य से एक-एक बीजेपी नेता ने भाग लिया। इसके लिए बाकायदा एक लिंक हर राज्य को भेजा गया था, उसी लिंक के जरिए सब आपस में जुड़े। कुछ सुझाव पहले से दर्ज करवा दिए गए थे तो कुछ ऑनलाइन साझा हुए।

मोदी के ट्वीट के बाद बनी रणनीति

बीजेपी मुख्यालय दिल्ली से कल देर शाम ही इस बाबत एजेंडा भेजा गया था, इसलिए अभी तक इस ऑनलाइन मीट को लेकर कई राज्य ऊहापोह की स्थिति में भी थे। क्योंकि कुछ जगह तो लाइव कांफ्रेंस की व्यवस्था है जबकि कुछ जगह ऐसा संभव नहीं था। जहां-जहां लाइव कांफ्रेंस की व्यवस्था नहीं है वहां-वहां मोबाइल पर ही कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली मुख्यालय से लोग जुडे़। इस तरह की मीट का विचार पार्टी में उस वक्त आया है जब पीएम नरेंद्र मोदी ने बीते कल ट्वीट कर आमजन से नोटबंदी के बाद के हालत पर फीडबैक मांगा। यह ऑनलाइन मीट भी उसी का हिस्सा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है