Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

बजट 2018 : Mobile हुआ महंगा और Petrol-Diesel सस्ता, जानिए कुछ और भी

बजट 2018 : Mobile हुआ महंगा और Petrol-Diesel सस्ता, जानिए कुछ और भी

- Advertisement -

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज आम बजट पेश किया। वैसे तो इस बजट से लोगों को काफी उम्मीदें थीं लेकिन इसमें उन्हें कुछ खास नहीं मिल पाया है। बजट में सरकार ने देश के बाहर से आने वाली चीजों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी है और इसी कारण ज्यादातर चीजें महंगी भी हुई है। जानिए  इस बजट में कौन सी चीजें महंगी हुई और कौन सी सस्ती …

ये सब हुआ महंगा

मोबाइल पार्ट्स पर कस्टम ड्यूटी 20%की है। इसके साथ ही मोबाइल फोन के एक्सेसरीज, फोन का चार्जर, एडॉप्टर, प्लास्टिक चार्जर, प्लास्टिक एडॉप्टर पर 10 फीसदी कस्टम ड्यूटी लगाई है। स्मार्ट वॉच और इसी तरह के पहनने वाले सभी डिवाइस महंगे, सिगरेट, लाइटर भी मंहगा, इस पर कस्टम ड्यूटी 20 फीसदी की है। ऑरेंज फ्रूट जूस, क्रेनबेरी जूस पर कस्टम ड्यूटी 50  फीसदी की, परफ्यूम और टॉयलेट पेपर भी महंगा हो गया है। सनस्क्रीन, मेनीक्योर, पेडीक्योर के सामान सहित मेकअप के सामान पर कस्टम ड्यूटी 20% कर दी गई है। शेविंग के सामान, डियोड्रेंट, मोटर कारों के पार्ट्स, मोटरसाइकिल, मोटर कार्स, ट्रक और बसों के रेडियल टायर महंगे हुए, सिल्क फैब्रिक, फुटवियर व नकली गहनों पर कस्टम ड्यूटी  20% की। एलसीडी, एलईडी, ओएलईडी टीवी और इनके पार्ट्स भी महंगे, फर्नीचर, लैंप, लाइटिंग फिटिंग, नेम प्लेट पर कस्टम ड्यूटी 20% बढ़ाई। रिस्ट वॉच, पॉकेट वॉच, स्टॉप वॉच और अलॉर्म क्लाक महंगी हुई। बच्चों के खिलौने, तीन पहिए वाली साइकिल, पैडल कार, डॉल और बाकी तरह के खिलौने, वीडियो गेम कंसोल भी महंगे हो गए हैं। इसके अलावा कैंडल, पतंग सफोला ऑयल, कोकोनट, रिफाइंड वेजिटेबल ऑयल भी महंगे हुए हैं।

क्या हुआ सस्ता

पेट्रोल और डीजल भी 2 रुपये सस्ता हुआ, कच्चे काजू पर सीमा शुल्क 5 प्रतिशत से घटाकर 2.5 प्रतिशत कर दिया गया है इससे कच्चा काजू अब सस्ता हो जाएगा। सोलर टेंपर्ड ग्लास, श्रवण यंत्र और प्रत्यारोपण से जुड़े उपकरण, बॉल स्क्रू, लिनियर मोशन गाइड जैसी चुनिंदा वस्तुएं और इलेक्ट्रॉनिक सामान सस्ता हुआ। जेटली ने कहा कि कुछ क्षेत्रों मसलन खाद्य प्रसंस्करण, इलेक्ट्रॉनिक्स, वाहन कलपुर्जे, फुटवियर तथा फर्नीचर जैसे क्षेत्रों में घरेलू स्तर पर मूल्यवर्धन की काफी गुंजाइश है। इन उपायों से देश में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है