Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

Asha के तेवरः राजनेताओं के बच्चे MP, MLA बनने लायक होंगे तो बनेंगे

Asha के तेवरः राजनेताओं के बच्चे MP, MLA बनने लायक होंगे तो बनेंगे

- Advertisement -

शिमला।  कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने विधानसभा में आज अपने तेवर दिखाए। उन्होंने सदस्यों को जहां सदन की गरिमा का पालने करने को लेकर नैतिकता का पाठ पढ़ाया, वहीं राजनेताओं द्वारा अपने बच्चों पर कटाक्ष करने पर भी सदस्यों को आड़े हाथ लिया। चर्चा के दौरान आशा कुमारी ने जब यह कहा कि कांग्रेस ने महापुरूषों से सीखा, लेकिन गधे से नहीं सिखा, तो इस पर सदन में हो-हल्ला होने लगा। बीजेपी सदस्य इस मुद्दे पर हो-हल्ला करने लगे और कहा कि सदस्य जूनियर सदस्यों को डराया जा रहा है। इससे सदन में दोनों तरफ से शोर-शराबा होने लगा और इस कारण कुछ देर कर सदन में हंगामा होने लगा।  इस बीच, विधानसभा अध्यक्ष बीबीएल बुटेल ने हस्तक्षेप किया और कहा कि वे सबको बोलने का मौका दे रहे हैं और विपक्षी सदस्यों को तीन गुणा समय दिया है। इसके बाद सदस्य चुप हुए और फिर सदस्य सुरेश भारद्वाज ने कहा कि नाम लेकर कहना कि तुम जूनियर हो, यह कहना शोभा नहीं देता। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जब सदस्य बोलता है वह अध्यक्ष की इजाजत से ही बोलता है।  इसके बाद आशा कुमारी ने कहा कि उन्होंने जूनियर-सीनियर की बात नहीं कही। उन्होंने कहा कि यदि उनके मन में भी ऐसी बात होती तो वे रामकुमार के बाद बोलने नहीं उठती।

  • बोली, राजनेताओं को अपने बच्चों को सदन में चर्चा में नहीं लाना चाहिए
  • सुरेश भारद्वाज बोले,  नाम लेकर कहना कि तुम जूनियर हो, शोभा नहीं देता

उन्होंने सदस्यों से कहा कि उन्हें अपने बच्चों को चर्चा में नहीं लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने बच्चों पर कटाक्ष क्यों करते हो। यदि बच्चे एमपी, एमएलए बनने लायक होंगे तो वे बनेंगे। उन्होंने सदस्यों से कहा कि सदन में सकारात्मक चर्चा होनी चाहिए।  आशा कुमारी ने नशे के मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए कहा कि पंजाब में चिट्टा कौन सप्लाई कर रहा है। उन्होंने कहा कि वहां चिट्टा सप्लाई करने वाली सरकार के साथ बीजेपी चिपकी हुई है। उन्होंने कहा कि चिट्टा हिमाचल का नहीं है। उन्होंने सीएम और कानून मंत्री से कहा कि पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में जिस अधिकारी ने यह शपथ पत्र दिया है कि नशे की सप्लाई हिमाचल से हो रही है, वह शपथ पत्र मंगवाया जाए और वहां सरकार की तरफ से शपथ पत्र दायर किया जाए कि यह हिमाचल को बदनाम करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण में राज्य के विकास का पूरा ब्यौरा है और हर क्षेत्र में हुए विकास का जिक्र है।

राजधानी को लेकर बीजेपी का क्या रुख, बताया जाए
आशा कुमारी ने धर्मशाला को दूसरी राजधानी बनाने की राज्य सरकार की घोषणा पर विपक्ष को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि राजधानी को लेकर उनका क्या रवैया है, बताया जाए। क्योंकि रविंद्र रवि ने ही इसका स्वागत किया और वह भी किंतु परंतु लगाकर, लेकिन बाकी ने इस पर रवैया स्पष्ट नहीं किया। उन्होंने कहा कि क्या बाकी सदस्य नहीं चाहते कि धर्मशाला दूसरी राजधानी बने। सीएम वीरभद्र सिंह ने यह ऐतिहासिक फैसला लिया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है