Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

जौहर और सती का होना गर्व और स्वाभिमान की बात : अशोक गहलोत

जौहर और सती का होना गर्व और स्वाभिमान की बात : अशोक गहलोत

- Advertisement -

जयपुर। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने शनिवार को कहा कि महिलाओं द्वारा आक्रमणकारियों द्वारा कब्जा करने से बचने की “जौहर” (jauhar) प्रथा या आत्मदाह करना गर्व की बात थी। उन्होंने कहा कि जौहर इतिहास में बलिदान और गौरव के बारे में है और ऐतिहासिक तथ्यों के साथ ‘छेड़छाड़’ के लिए भाजपा पर कटाक्ष किया। उन्होंने महाराणा प्रताप (Maharana Pratap) को त्याग और साहस का प्रतीक भी कहा।

राजस्थान में कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद स्कूल की पाठ्यपुस्तकों में बदलाव के विवाद के बीच गहलोत की टिप्पणी आई है। बदलावों में पिछली बीजेपी सरकार के दौरान शुरू की गई सामग्री को हटाना शामिल है। कक्षा 8 की अंग्रेजी पाठ्यपुस्तकों (textbooks)  में आत्मत्याग (self-immolation) का सुझाव देने वाली एक तस्वीर को एक पहाड़ी किले की तस्वीर के साथ बदल दिया गया है।


यह भी पढ़ें:  लोकसभा चुनावः हिमाचल में एक बजे तक 45.3 फीसदी मतदान 

राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि तस्वीर से स्पष्ट नहीं है कि जौहर या सती का सुझाव दिया गया था, जिसके तहत महिलाओं ने अपने पतियों की मृत्यु के बाद आत्मदाह किया। कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान की पाठ्यपुस्तकों में विनायक दामोदर सावरकर के नाम से उपसर्ग “वीर” भी हटा दिया गया है। बीजेपी ने कुछ बदलावों का विरोध किया है।

राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास और राज्य कांग्रेस उपाध्यक्ष गोपाल सिंह इदवा जैसे सत्तारूढ़ कांग्रेस के कुछ सदस्यों ने भी अपनी नाराजगी व्यक्त की। शनिवार को गहलोत ने पीएम नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) और राजस्थान की पूर्व  सीएम वसुंधरा राजे पर इतिहास को विकृत करने का आरोप लगाया। ‘जब आप सरकार चलाते हैं और ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ करते हैं, तो आप कभी भी इतिहास नहीं बना पाएंगे,’ उन्होंने कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि देश में  ने जहां भी शासन किया, उन्होंने इतिहास को विकृत करने का प्रयास किया। उन्हीने यह भी कहा कि बीजेपी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में कोई बलिदान नहीं दिया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है