Covid-19 Update

2,21,936
मामले (हिमाचल)
2,16,814
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,126,682
मामले (भारत)
242,810,096
मामले (दुनिया)

आश्रय का दावा- इंदिरा गांधी, पंडित सुखराम और कांग्रेस के प्रयासों से बनी Rohtang Tunnel

बीजेपी कार्यकाल में हो रहा सिर्फ उद्घाटन, श्रेय लेने में जुटे हैं बीजेपी नेता

आश्रय का दावा- इंदिरा गांधी, पंडित सुखराम और कांग्रेस के प्रयासों से बनी Rohtang Tunnel

- Advertisement -

मंडी। अटल रोहतांग टनल करीब 10 साल की कड़ी मेहनत के बाद बनकर अब पूरी तरह से तैयार है। शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं। इसी बीच अटल रोहतांग टनल को लेकर राजनीति भी गर्माने लगी है। पूर्व की यूपीए (UPA) सरकार में आधारशिला रखने के बाद मौजूदा की एनडीए (NDA) सरकार में इस टनल का उद्घाटन होने के कारण दोनों दलों में इसका श्रेय लेने की होड़ मच गई है, लेकिन इसी बीच मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे आश्रय शर्मा (Ashraya sharma) ने इस टनल निर्माण का श्रेय अपने दादा यानी पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम (Pandit Sukhram) को दे दिया है। आश्रय शर्मा ने दावा किया है कि अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) के निर्माण का श्रेय पूर्व पीएम स्व. इंदिरा गांधी, पूर्व मंत्री पंडित सुखराम और कांग्रेस पार्टी की सोच को जाता है।

यह भी पढ़ें: अटल टनल रोहतांग का लोकार्पण करने आ रहे Modi, क्या रहेगा Tour Program-जानिए

 

 an example image

मंडी से जारी बयान में आश्रय शर्मा ने कहा कि सोशल मीडिया पर बीजेपी नेता अटल टनल के निर्माण का इस तरह से श्रेय लेने में जुटे हैं जैसे यह टनल बीजेपी की सरकार ने ही बनाई हो। उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में बीजेपी और हिविकां के गठबंधन वाली सरकार थी तो उस वक्त पंडित सुखराम ने मनाली में तत्कालीन पीएम स्व. अटल बिहारी वाजपेयी से मिलकर लाहुल स्पीति (Lahaul Spiti) के लिए टनल निर्माण की मांग रखी थी। पीएम ने तत्कालीन सीएम प्रो. प्रेम कुमार धूमल और पंडित सुखराम के साथ लाहुल जाकर इसकी आधारशिला भी रखी थी। पूर्व की यूपीए सरकार ने इस टनल के निर्माण कार्य को शुरू करवाया और धन भी मुहैया करवाया, लेकिन आज ना तो कहीं पंडित सुखराम का जिक्र किया जा रहा है और ना ही कांग्रेस पार्टी (Congress Party)  का। बीजेपी नेता इसका झूठा श्रेय लेने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो बातें वह कह रहे हैं लोग इसकी जानकारी आरटीआई के माध्यम से भी ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अटल टनल रोहतांग में 4G नेटवर्क की सुविधा का Trial सफल; जानें कितनी मिलेगी स्पीड

आश्रय शर्मा का कहना है कि पंडित सुखराम ने संचार राज्य मंत्री रहते न सिर्फ देश और प्रदेश में बल्कि जनजातिय क्षेत्रों में भी संचार क्रांति लाने में अपनी अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि मंडी संसदीय सीट से बतौर सांसद उनका जनजातिय क्षेत्रों के प्रति विशेष लगाव रहा। आज बीजेपी इस टनल का श्रेय लेने की होड़ में है और पंडित सुखराम का कोई जिक्र तक नहीं कर रहा, जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

 

 an example image

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है