Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

खून को साफ़ करने के लिए प्राकृतिक टॉनिक अपराजिता 

खून को साफ़ करने के लिए प्राकृतिक टॉनिक अपराजिता 

- Advertisement -

अपराजिता के पौधे के सभी भागों को औषधीय उद्देश्य के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका पौधा सामान्य तौर पर आयुर्वेद के पंचकर्म उपचार में प्रयोग किया जाता है। आयुर्वेद का पंचकर्म उपचार शरीर में से टॉक्सिन्स को निकालकर शरीर के संतुलन में सहायता करता है। इसकी जड़ को अक्सर त्वचा पर लेप बनाकर प्रयोग किया जाता है और इससे चेहरे की चमक बढ़ती है।
यह आंखों पर एक बहुत कूलिंग प्रभाव डालता है। यह आंखों की रोशनी में सुधार करने में मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर में खून को साफ़ करने के लिए एक अच्छा प्राकृतिक टॉनिक है। इसके रस को पीने से रक्त शुद्ध होकर त्वचा के फोड़े, मुंहासे आदि ठीक हो जाते हैं। संस्कृत में इसे आस्फोता, विष्णुकांता, विष्णुप्रिया, गिरीकर्णी, अश्वखुरा कहते हैं जबकि हिन्दी में कोयल और अपराजिता। यह चरपरी (तीखी), बुद्धि बढ़ाने वाली, कंठ (गले) को शुद्ध करने वाली, आंखों के लिए उपयोगी होती है।
यह बुद्धि या दिमाग और स्मरण शक्ति को बढ़ाने वाली है तथा आंवयुक्त दस्त, सूजन को दूर करने वाली भी है। यह दो  प्रकार की पाई जाती है श्वेत अपराजिता और कृष्ण अपराजिता। श्वेत अपराजिता का पौधा मिलना कठिन है। हालांकि नीले रंग का आसानी से मिल जाता है। श्वेत आंकड़ा और लक्ष्मणा का पौधा भी श्वेत अपराजिता के पौधे की तरह धनलक्ष्मी को आकर्षित करने में सक्षम है। इसके सफेद या नीले रंग के फूल होते हैं।
अकसर सुंदरता के लिए इसके पौधे को बगीचों में लगाया जाता है। इसमें बरसात के सीजन में फलियां और फूल लगते हैं।अपराजिता पौधे की पत्तियां उज्ज्वल हरे रंग की होती है। इसके फूल का रंग सफेद होता है।यह कभी-कभी शंख रूप में उगता है तथा भारत, मिस्र, अफगानिस्तान, फारस, मेसोपोटामिया, इराक आदि के सभी भागों में पाया जाता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है