Expand

मंडी का जवान Manipur में हुए बम विस्फोट में शहीद, Assam Rifles में था तैनात

मंडी का जवान Manipur में हुए बम विस्फोट में शहीद, Assam Rifles में था तैनात

मंडी। भारत-म्यांमार सीमा के पास मणिपुर के चंदेल जिले में सोमवार को हुए बम विस्फोट में मंडी जिला के पंडोह के जवान राइफलमैन इंद्र सिंह की मौत हो गई। वे 18 असम राइफल्स में तैनात थे। ब्लॉस्ट में 18 असम राइफल्स के दो जवान शहीद हुए हैं, जबकि 5 अन्य घायल हो गए। मिली जानकारी के मुताबिक अमस राइफल्स के जवान सशस्त्र सुरक्षाकर्मियों के साथ सुबह की गश्त पर निकले थे और जैसे ही वे जिला कलेक्टर के कार्यालय के पास पहुंचे, बम विस्फोट हो गया।

शोकाकुल परिवार में 7 वर्षीय बेटा , पत्नी और बूढ़ी मां

35 वर्षीय इंद्र सिंह असम राईफल में वर्ष 2003 से मणीपुर में ही तैनात था। सुबह करीब 7 बजे घटी इस घटना की जानकारी परिजनों को 9 बजे दी गई। शहीद का शव पूरी तरह से क्षत-विक्षत हो गया है। घर पर शहादत की सूचना मिलते ही पूरा परिवार गम में डूब गया है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद इंद्र सिंह के पिता की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। शहीद का एक भाई और दो बहनें हैं। शोकाकुल परिवार में  29 वर्षीय पत्नी इंदु, 7 वर्षीय पुत्र उदय सिंह और बूढ़ी मां हैं।  बताया जा रहा है कि शहीद का पार्थिव शरीर बुधवार तक पैतृक गांव पहुंच सकता है। परिजनों को अपने वीर सपूत की शहादत पर तो नाज है लेकिन नकसलियों द्वारा आए दिन किए जा रहे ऐसे कारयाना हमलों को लेकर भारी आक्रोश भी है। परिजनों ने सरकार ने नकसलवाद पर ठोस कार्रवाही की मांग की है। शहीद इंद्र सिंह जून महीने में छुट्टियां काटने घर आया था और जुलाई महीने में वापस ड्यूटी पर लौटा था। बीती रात को ही शहीद ने अपने परिवार वालों से फोन पर बात की थी और अपनी खैरियत के बारे में बताया था, लेकिन सुबह तक परिजनों को कुछ और सूचना प्राप्त हुई।

घर आ रहे फौजी की रुक गई दिल की धड़कन, घर से था महज तीन किमी दूर

शाहपुर। सूबेदार मेजर मदन लाल की हृदय गति रुकने से मौत हो गई। मदन लाल कुठेड (लाहड़ी) तहसील ज्वाली का रहने वाले था। उनकी तैनाती लेह में की गई थी। परिवार से मिली जानकारी के मुताबिक वह छुट्टी पर घर आ रहे थे और घर से मात्र तीन किलोमीटर पहले ही हृदय गति रुकने से उसकी मृत्यु हो गई। मदन लाल का बेटा भी 20 पंजाब में है तथा वह भी लेह में अपनी सेवाएं दे रहा है। मृतक के पार्थिव देह को उनके बेटे अरविंद ने मुखाग्नि दी।

यह भी पढ़ें: पुलवामा में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकी किए ढेर, मुठभेड़ में एक जवान भी शहीद

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है