Covid-19 Update

1,35,782
मामले (हिमाचल)
99,400
मरीज ठीक हुए
1925
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

अंधविश्वास में एसोसिएट प्रोफेसर पिता और स्कूल प्रिंसिपल मां ने कर दी बेटियों की हत्या

आंध्र प्रदेश के चित्तूर में सामने आया दिल दहला देने वाला मामला

अंधविश्वास में एसोसिएट प्रोफेसर पिता और स्कूल प्रिंसिपल मां ने कर दी बेटियों की हत्या

- Advertisement -

चित्तूर। आंध्र प्रदेश के चित्तूर (Andhra Pradesh Chittoor) से अंधविश्वास की हदें पार कर देने वाली खबर सामने आई है। यहा अंधविश्वास (Superstition) में माता-पिता ने अपनी दो बेटियों की हत्या (Daughters Murder) कर दी है। हैरान कर देने वाली बात यह भी है कि हत्यारा पिता सरकारी कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल (Vice Principal) है तो हत्यारी मां भी प्राइवेट स्कूल में प्रधानाचार्य है। बताया जा रहा है कि माता-पिता (Mother-Father) ने बेटियों ने इस अंधविश्वास में बेटियों की हत्या कर दी कि कलयुग सतयुग में बदलने वाला है और दोनो बेटियां कुछ ही देर में फिर से जिंदा हो जाएंगी।


पुलिस मामले की की जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि पिता ने बेटियों की हत्या करने के बाद खुद अपने एक दोस्त को फोन किया और पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया। पुलिस ने बताया कि इस घटना की जानकारी मिलने के बाद उसने पुलिस को सूचित किया। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पाया कि दंपति बेहोशी की हालत में है। पुलिस के मुताबिक उन्हें शक है कि दोनों पिछले कुछ समय से तंत्र मंत्र की गतिविधियों में संलिप्त थे।

ये भी पढ़ें- अंधविश्वास की हदः बेटे की चाह में घर के आंगन में चढ़ा दी इकलौती बेटी की बलि

पुलिस के मुताबिक एक बेटी की हत्या से पहले उसका मुंडन तक किया गया था। यही नहीं, ये दंपति खुद भी आत्महत्या करने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। जानकारी के अनुसार पिता एक सरकारी कॉलेज में एसोसिएट प्रोफेसर है जबकि मां भी पोस्ट ग्रेजुएट है और उसने पोस्ट ग्रेजुएशन में गोल्ड मेडल भी जीता था। मृतक बहनों में एलिकख्या (27) भोपाल में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रही थी और छोटी बेटी साई दिव्या (22) एआर रहमान के केएम संगीत संरक्षिका में एक वार्ड थी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है