Expand

शुरू हुआ हवा में कलाबाजी का रोमांच, Abhi Abhi मीडिया पार्टनर

शुरू हुआ हवा में कलाबाजी का रोमांच, Abhi Abhi मीडिया पार्टनर

- Advertisement -

गफूर खान/ बिलिंग। हवा में कलाबाजी और रोमांच का दौर शुरू हो गया है। 10 देशों के करीब 116 प्रतिभागी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छा जाने के gafoor4लिए बिलिंग पहुंचे हुए हैं। इंडियन नेशनल ओपन ए्क्यूरेसीय चैंपियनशिप का शुभारंभ हो गया है। हिमाचल अभी अभी चैंपियनशिप में मीडिया पार्टनर की भूमिका निभा रहा है । बैजनाथ के विधायक किशोरी लाल ने हवन के बाद हरी झंडी दिखाकर प्रतियोगिता का शुभारंभ किया।

  • बिलिंग पहुंचे 10 देशों के करीब 116 प्रतिभागी

अंतरराष्ट्रीय स्तर की इस प्रतियोगिता में 10 देशों के 116 पायलट्स अपनी चुनौती पेश कर रहे हैं। शुक्रवार को 12 बजकर 30 मिनट पर विंडो ओपन हुई। एक्यूरेसी चैंपियनशिप होने के चलते विंडो क्लोज होने का कोई समय तय नहीं है। आज प्रतिभागियों को टास्क नहीं दिया जाएगा और सिर्फ वह लैंडिंग की प्रैक्टिस ही करेंगे। Bpa के निदेशक अनुराग शर्मा ने बताया कि टेक ऑफ के लिए एक-एक मिनट का अंतराल रखा जाएगा। वहीं पायलट्स को 15 से 20 मिनट में लैंड करना होगा।

उधर, विधायक किशोरी लाल ने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन होना बीड़ बिलिंग ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के लिए गर्व की बात है। इस आयोजन के लिए विधायक ने सीएम वीरभद्र सिंह और शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा का आभार जताया। किशोरी लाल ने कहा कि कांग्रेस कार्यकाल में ही बीड़ बिलिंग क्षेत्र और पैराग्लाइडिंग के साहसिक और रोमांचक खेल का विकास हुआ है। बीजेपी की सरकारों के समय क्षेत्र और खेल की अनदेखी हुई है।

 

कठिन है एक्यूरेसी चैंपिनशिप
gafoor2बिलिंग। पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी चैंपिनशिप जैसी प्रतियोगिता का आयोजन इंडिया में पहली बार हो रहा है। यह प्रतियोगिता आसान नहीं है बल्कि बेहद कठिन स्तर की प्रतियोगिता होती है। यह कहना है ग्रुप कैप्टन आरके सिंह का जो की इस प्रतियोगिता के लिए एफएआई द्वारा ऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं।

  • सिंह का कहना है कि कुछ ही वर्षों में और खासकर वर्ल्ड कप के बाद बिलिंग पैराग्लाइडिंग के लिए दुनिया की बेहतरीन साइट के रूप में उभरी है। वहीं प्रतियोगिता के निदेशक ज्योति ठाकुर का कहना है कि यह प्रतियोगिता एक अलग तरह की प्रतियोगिता है, जिसमे पायलट को एक निर्धारित गोले के अंदर उतरना होता है।

ज्योति ठाकुर ने प्रतिभागियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी पायलट को लैंडिंग करते वक़्त रेडियो से इंस्ट्रक्शन लेते हुए पाए जाने पर अयोग्य करार दिया जाएगा। साथ ही किसी की लैडिंग में बाधा पहुंचाने वाले पायलट को भी अंकों का नुकसान उठाना पड़ेगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है