Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

ATM की Free Transaction के बाद लगेंगे 150 रुपए

ATM की Free Transaction के बाद लगेंगे 150 रुपए

- Advertisement -

मुंबई। नोटबंदी के बाद अब उपभोक्ताओं को बैंकों ने एक ओर बड़ा झटका दिया है। अब महीने में चार बार से अधिक एटीएम से पैसे निकालने पर 150 रुपए का चार्ज लगेगा। तीन बड़े प्राइवेट बैंक HDFC, ICICI और एक्सिस बैंक ने चार बार से अधिक की जमा और निकासी पर कम से कम डेढ़ सौ रुपए का चार्ज लगाना शुरू किया है। चार बार से अधिक की जमा और निकासी पर 150 रुपये का चार्ज 1 मार्च से लागू हो गया है, यानि लिमिट से ज्यादा   ट्रांजेक्शन पर एचडीएफसी, आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक ये चार्ज वसूलेंगे।

  • देश के तीन बड़े निजी बैंकों ने लागू की व्यवस्था

कैश ट्रांजेक्शन के नए नियमों के मुताबिक एचडीएफसी बैंक में 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजेक्शन पर 150 रुपए चार्ज वसूला जाएगा और इस पर सर्विस चार्ज अलग से देना होगा एचडीएफसी के होम ब्रांच से 2 लाख प्रति महीना से ज्यादा पर चार्ज 5 रुपए प्रति हजार (न्यूनतम 150 रुपए), दूसरी ब्रांच से 25 हजार रुपए से ज्यादा पर चार्ज 5 प्रति हजार (न्यूनतम 150 रुपए), थर्ड पार्टी कैश ट्रांजेक्शन अधिकतम 25 हजार प्रतिदिन।


थर्ड पार्टी कैश ट्रांजेक्शन पर 150 रुपए प्रति ट्रांजेक्शन चार्ज लगेगा। बजट 2017-18 में कैश ट्रांजेक्शन में 3 लाख लिमिट का प्रस्ताव रखा गया है। 3 लाख से ज्यादा कैश ट्रांजेक्शन पर बैन लगाते हुए 3 लाख से ऊपर ट्रांजैक्शन पर जुर्माना लगाने की बात कहीं है, वहीं कैश में ज्वेलरी पर टीडीएस लगाने की बात बजट में कहीं गई है। एक्सिस बैंक में आपको 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजेक्शन पर 150 रुपए चार्ज देना होगा वहीं 1 लाख रुपए प्रति महीना से ज्यादा पर 5 रुपए प्रति हजार चार्ज (न्यूनतम 150) देना होगा, जबकि आईसीआईसी बैंक में आपको 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजेक्शन पर 150 रुपए चार्ज के साथ ही सर्विस चार्ज देना होगा। वहीं पेट्रोल पंपों पर अब क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर बैंक 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज वसूल रहे हैं। दरअसल फरवरी के दूसरे हफ्ते में इस मुद्दे पर अहम बैठक हुई थी और पेट्रोल पंप पर कार्ड पेमेंट पर 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज पर सहमति बनी थी। ये बैठक पेट्रोलियम मंत्रालय के संबंधित पक्षों की हुई थी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है