Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

कर लो बातः इस अस्पताल में संक्रमितों से ज्यादा तिमारदारों की फौज, खुद घटा-बढ़ा रहे ऑक्सीजन का लेवल

लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज नेरचौक में अटेंडेंट बने परेशानी, संक्रमण फैलने का भी खतरा

कर लो बातः इस अस्पताल में संक्रमितों से ज्यादा तिमारदारों की फौज, खुद घटा-बढ़ा रहे ऑक्सीजन का लेवल

- Advertisement -

सुंदरनगरः मंडी जिला के नेरचौक स्थित लाल बहादुर शास्त्री मेडीकल कालेज एवं कोविड अस्पताल ( Lal Bahadur Shastri Medical College and covid Hospital, Nerchowk) में तिमारदार डाक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं। इसी कारण तिमारदारों का संक्रमितों के साथ सीधा कांटेक्ट होने के बाद अस्पताल से बाहर जाकर खुले में घूमने से संक्रमण फैलाने का डर लगातार बना हुआ है। बता दें कि सरकार ने संक्रमितों के परिजनों की आलोचनाओं के बाद हर कोविड संक्रमित के साथ अटेंडेंट ( Attendant)साथ रखने की अनुमति दे दी है। लेकिन अब इससे कोविड वार्ड में मरीजों के अटेंडेंट बिना पीपीई किट ( PPE Kit) के घूम रहे हैं, जिससे संक्रमण फैलने की संभावना बढ़ रही है। कोविड अस्पताल नेरचौक में अटेंडेंट पहले बाजार घूम रहे हैं और फिर वार्ड में मरीज को देखने पहुंच रहे हैं, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ गया है।

ये भी पढ़ेः हिमाचल में 18+ के लिए आज से शुरू हुआ टीकाकरण अभियान, सीएम जयराम ने किया शुभारंभ

जानकारी के अनुसार डॉक्टर व नर्सों के वार्ड से बाहर निकलते ही कई अटेंडेंट खुद ही ऑक्सीजन बढ़ा और घटा रहे हैं। इससे मरीजों को तय मानकों के तहत जो ऑक्सीजन देने की प्रक्रिया है उस पर भी असर पड़ रहा है। इससे कई बार ऑक्सीजन वेस्ट जाने के कारण सिलेंडर की खपत भी बढ़ रही है। लाल बहादुर शास्त्री मेडीकल कालेज एवं कोविड अस्पताल नेरचौक के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जीवानंद चौहान( Senior Medical Superintendent Dr. Jeevanand Chauhan) ने कहा कि कोविड वार्ड में मरीजों के अटेंडेंट द्वारा ऑक्सीजन बढ़ाने और घटाने की शिकायतें आ रही हैं। इस कारण मरीजों के ईलाज में समस्या पैदा होने के साथ उपकरण भी खराब हो रहे हैं। डॉ. चौहान ने लोगों से अपील की है कि कोविड वार्ड में तैनात मेडिकल टीम सक्षम है और सिर्फ ज्यादा आवश्यकता पड़ने पर ही मरीज के पास अटेंडेंट आए तो बेहतर होगा।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है