Covid-19 Update

2,06,161
मामले (हिमाचल)
2,01,388
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,695,958
मामले (भारत)
199,022,838
मामले (दुनिया)
×

मनाली विंटर कार्निवल के लिए मंडी में होंगे ऑडिशन, यह लगेगा प्रवेश शुल्क

मनाली विंटर कार्निवल के लिए मंडी में होंगे ऑडिशन, यह लगेगा प्रवेश शुल्क

- Advertisement -

मंडी। विश्व विख्यात पर्यटन नगरी मनाली में 2 से 6 जनवरी तक मनाए जाने वाले राष्ट्रीय स्तरीय विंटर कार्निवल के लिए 22 दिसंबर को मंडी में सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में ऑडिशन लिए जाएंगे। इस बारे जानकारी देते हुए एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने बताया कि 22 दिसंबर रविवार को विंटर क्वीन और वाइस ऑफ कार्निवल के लिए ऑडिशन होंगे। ऑडिशन में आने वाले प्रतिभागी सुबह 8.30 बजे से अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। विंटर क्वीन के लिए ऑडिशन प्रवेश शुल्क 2 हजार रुपए और वाइस ऑफ कार्निवल के लिए 500 रुपए रखा गया है। इस संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए 98166-10808, 98160-82959, 98160-10024, 94180-33039 पर संपर्क किया जा सकता है अथवा www.manaliwintercarnival.in पर जानकारी हासिल की जा सकती है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

एसडीएम मनाली रमन का कहना है कि 2 से 6 जनवरी तक आयोजित किया जाने वाला यह पांच दिवसीय विंटर कार्निवल देश-विदेश में अपनी विशेष पहचान बना चुका है। कार्निवल में विंटर क्वीन और वॉयस ऑफ कार्निवल जैसी स्पर्धाएं हिमाचली प्रतिभाओं को एक बेहतर मंच प्रदान करती हैं।


इतिहास की नजर से मनाली विंटर कार्निवल

नववर्ष के आगमन के साथ ही मनाली में आयोजित किए जाने वाले विंटर कार्निवल में देश-विदेश के पर्यटकों को स्थानीय व देश के विभिन्न राज्यों की लोक संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। मनाली में इस महोत्सव के इतिहास पर नजर डालें तो 1970 के दशक में मनाली की कुछ संस्थाओं और विंटर र्स्पोट्स प्रेमियों ने विंटर कार्निवल की परिकल्पना की और आयोजन की शुरूआत की थी। उस समय इसका मुख्य उद्देश्य विंटर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देना था। कई उतार चढ़ाव के बाद किसी न किसी रूप में इसके आयोजन की परंपरा बनी रही।विगत कुछ दशकों के दौरान मनाली में पर्यटन उद्योग के अदभुत विस्तार के साथ ही विंटर कार्निवल के स्वरूप में भी व्यापक विस्तार हुआ है। अब इसमें पर्यटन और लोक संस्कृति के पहलु भी जुड़ चुके हैं और अब यह एक बहुत बड़े सांस्कृतिक आयोजन के रूप में मनाया जाता है। इस उत्सव को 1999 में राज्य स्तरीय व 2011 में राष्ट्रीय स्तर का दर्जा दिया गया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है