Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

अयोध्या केस: मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव बोले- मूर्ति स्थापित करना छल से किया हुआ हमला

अयोध्या केस: मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव बोले- मूर्ति स्थापित करना छल से किया हुआ हमला

- Advertisement -

नई दिल्ली। अयोध्या के रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद (Ayodhya case) पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में लगातार 18वें दिन सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन (Rajiv Dhavan) ने कहा कि सिविल सूट में तथ्यों और साक्ष्यों पर स्वामित्व और अधिकार को साबित करने की आवश्यकता है। विवादित संपत्ति पर हिंदुओं का विशेष स्वामित्व दिखाने के लिए एक भी सबूत नहीं है। धवन ने कहा कि जमीन के हिस्से की पात्रता की बात कर रहे हैं। यदि अदालत देवता के स्वायंभु स्वरूप पर उनके तर्क को स्वीकार करती है, तो पूरी संपत्ति उनके पास जानी चाहिए। मुस्लिमों को कुछ नहीं मिलेगा। लेकिन वे इसपर अपना अधिकारी जता रहे हैं।

यह भी पढ़ें- इमरान खान का बड़ा बयान- परमाणु हथियार का पहले इस्तेमाल नहीं करेगा पाकिस्तान

राजीव धवन ने कहा कि बाबरी मस्जिद में भगवान रामलला की मूर्ति स्थापित करना छल से किया हुआ हमला है। राजीव धवन ने कहा कि हिन्दू महासभा ने कहा है कि वो इस मसले को लेकर सरकार के पास जाएगी। मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव ने आगे कहा कि स्तंभों की उपस्थिति दर्शाई गई है, लेकिन स्तंभ किसी विशेष धर्म का संकेत नहीं देते हैं। हिंदुओ का दावा है कि बीच वाले गुम्बद के नीचे ही रामजी का जन्म हुआ था। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि आप कैसे कह सकते हैं कि राम वहीं पैदा हुए थे। इतना बड़ा स्ट्रक्चर है आप का दावा ठोस तथ्यों पर आधारित नहीं है। अगर थोड़ी देर को मान भी लें कि जन्म वहां हुआ तो परिक्रमा के दावे करने का क्या मतलब है? 23 अगस्त 1989 को सुन्नी वक्फ बोर्ड इस मुकदमे में पार्टी बना। जन्मस्थान को रामजन्म भूमि कहते हुए हिंदुओ ने दावा किया कि वो हमेशा से उनके कब्जे में रहा। अब जन्मस्थान और जन्मभूमि के अर्थ में काफी अंतर और कन्फ्यूजन भी है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है