Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

हिंदू पक्ष के वकील ने कहा- रामलला नाबालिग हैं, जमीन का नहीं हो सकता सौदा

हिंदू पक्ष के वकील ने कहा- रामलला नाबालिग हैं, जमीन का नहीं हो सकता सौदा

- Advertisement -

नई दिल्ली। अयोध्या मामले (Ayodhya Case) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में रोजाना सुनवाई बुधवार को भी जारी है। रामलला विराजमान के वकील सीएस वैद्यनाथन सुनवाई के दौरान जहां मगरमच्छ और कछुए की दलील दी गई थी.। वहीं, आज एक और दिलचस्प दलील दी गई जिसमें रामलला को नाबालिग (Minor) बताया गया। वैद्यनाथन ने कहा कि अगर वहां पर कोई मंदिर (Temple) नहीं था, कोई देवता नहीं है तो भी लोगों की जन्मभूमि के प्रति आस्था काफी है। वहां पर मूर्ति रखना उस स्थान को पवित्रता प्रदान करता है। अयोध्या के भगवान रामलला नाबालिग हैं। नाबालिग की संपत्ति को न तो बेचा जा सकता है और न ही छीना जा सकता है।

यह भी पढ़ें- आश्रम में आने वाली महिलाओं-बच्चियों के साथ जबरन संबंध बनाता था ये बाबा, मामला दर्ज

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है। इस संवैधानिक पीठ में जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस ए नजीर भी शामिल हैं। पूरा विवाद 2.77 एकड़ की जमीन को लेकर है। अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में आज की सुनवाई पूरी। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट फिर से मामले की सुनवाई करेगा। रामलला विराजमान अपना पक्ष जारी रखेगें। रामलला की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में एक नक्शा पेश किया गया। 1950 में शिव शंकर लाल ने सूट नंबर 1 में बतौर कमिश्नर ये नक्शा पेश किया था। जिसमें विवादित ढांचे का पूरा विवरण है। उसमें 14 पिलर है। जिसमें शंकर देवता तांडव नृत्य, हनुमान जी आदि देवताओं के चित्र हैं। इसमें 2 पिलर नस्ट किया गया। रामलला की तरफ से बहस शुक्रवार को भी जारी रहेगी।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है