Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,122,986
मामले (भारत)
114,822,832
मामले (दुनिया)

जवाली: टीपी के लिए दूरदराज क्षेत्र में भिजवाने पर भड़के बीएड कॉलेज प्रशिक्षु, आंदोलन को चेताया

जवाली: टीपी के लिए दूरदराज क्षेत्र में भिजवाने पर भड़के बीएड कॉलेज प्रशिक्षु, आंदोलन को चेताया

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी/ जवाली। कान्ता कॉलेज ऑफ एजुकेशन चलवाडा के बीएड प्रशिक्षुओं को टीचिंग प्रेक्टिस (TP)के लिए दूरदराज के क्षेत्रों में भेजने पर उनमें खासा रोष है। प्रशिक्षुओं ने बीएड कॉलेज जवाली (B.Ed College Jawali)के आदेशों को रद्द करवाने के लिए एसडीएम जवाली (SDM Jawali) अरुण कुमार शर्मा के माध्यम से डिप्टी डायरेक्टर हायर एजुकेशन को लिखित मांग पत्र भेजा है। प्रशिक्षु शिल्पा, अक्षय, अंकुश, राहुल, सचिन, रजत, नितिका, श्रुति, तनुजा, दीक्षा, मनीषा, शालू, ममता, सारिका, अनिता, अर्चना, पूनम, प्रवीण, मनदीप, आतिश बाला ने कहा कि कॉलेज में 200 प्रशिक्षु हैं जिनकी तीन माह की टीपी जवाली के स्कूलों में हुई है जबकि एक माह के लिए उनकी टीपी को बदलकर दूरदराज इंदौरा कर दिया गया है। इंदौरा के स्कूल जवाली से करीबन 40-50 किलोमीटर दूर पड़ता है। प्रशिक्षु लड़कियों ने कहा कि वे दूरदराज टीपी लगवाने के लिए नहीं जा सकती हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 74 कॉलेज हैं लेकिन जवाली के बीएड कॉलेज के प्रशिक्षुओं (B.Ed College Trainees) की ही टीपी दूरदराज लगाई गई है। उन्होंने कहा कि कॉलेज में सुंदरनगर, भरमौर, कुल्लू, कांगड़ा, हमीरपुर, नगरोटा बगवां से प्रशिक्षु आते हैं जोकि जवाली में क्वार्टर लेकर रहते हैं। उन्होंने कहा कि इंदौरा में आना-जाना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने दो टूक कहा है कि डिप्टी डायरेक्टर हायर एजुकेशन अपने आदेशों को वापिस लें अन्यथा मजबूरन आंदोलन का रास्ता अपनाया जाएगा। उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर, शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज से मांग की है कि आदेशों को वापिस करवाकर उन्हें राहत दिलाई जाए।

वहीं, इस बारे एसडीएम जवाली अरुण कुमार शर्मा ने कहा कि प्रशिक्षुओं ने उनके पास लिखित शिकायत की है जिसको संबंधित विभाग को भेज दिया जाएगा। इस बारे में डिप्टी डायरेक्टर हायर एजुकेशन गुरदेव भारती से बात हुई तो उन्होंने कहा कि यह हमारी जुरीडिक्शन में आता है। उन्होंने कहा कि जहां टीपी लगाई गई है, वहीं जाना पड़ेगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है