Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

बाबा अमरदेव प्रकरणः माकपा ने DC ऑफिस के बाहर बोला हल्ला

बाबा अमरदेव प्रकरणः माकपा ने DC ऑफिस के बाहर बोला हल्ला

- Advertisement -

Baba Amaradev Case:  शिमला। माकपा ने सोलन जिले के कंडाघाट स्थित श्रीराम लोक आश्रम में बाबा अमरदेव द्वारा की गई अराजकता व हिंसा के खिलाफ डीसी ऑफिस शिमला के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में माकपा कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। माकपा के जिला सचिव विजेंद्र मेहरा की अगुवाई में हुए इस प्रदर्शन में माकपा नेता जगत राम, बलबीर पराशर, सत्यवान, बाबू राम, किशोरी ढटवालिया, विनोद बिरसांटा, बालक राम, पूर्ण चन्द, अशोक, सुरेन्द्र, ओम प्रकाश, प्रेम कायथ, चंद्रकांत, सुरेश सरवाल, नोबल, रोनी, प्रेम, कपिल, सोनिया, आषु भारती, बबलू, उमा, दलीप आदि मौजूद रहे।


इस दौरान राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई और राज्य सरकार पर बाबा को आश्रय देने का आरोप लगाया।  प्रदर्शन के दौरान पार्टी सचिव विजेन्द्र मेहरा ने प्रदेश सरकार से मांग की कि बाबा अमरदेव पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए। उन्होंने कहा कि सरकार ने यदि ऐसा न किया तो उसके खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा।  इसके बाद माकपा ने एडीसी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा।

Baba Amaradev Case: राज्य सरकार पर बाबा को आश्रय देने का आरोप लगाया

इसमें माकपा ने राज्य सरकार पर बाबा अमरदेव को बचाने और  ग्रामीणों को तंग करने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में माफिया राज का बोलबाला है और माफिया को प्रदेश सरकार का खुला संरक्षण है।

मेहरा ने कहा कि 26 अप्रैल को श्रीराम लोक मंदिर के पुजारी बाबा अमरदेव ने कल्होग निवासी शांति देवी (54) पर तेजधार हथियार से हमला किया। इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई और वह सोलन अस्पताल में उपचाराधीन है। उन्होंने कहा कि सरकार ने बाबा अमरदेव पर कोई कार्रवाई करने के बजाय कंडाघाट पुलिस थाने के सभी 18 कर्मचारियों का तबादला कर दिया।

यही नहीं, बाबा अमरदेव को गिरफ्तार करने के बजाय 7 निर्दोष ग्रामीणों को विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया। मेहरा ने ज्ञापन में कहा कि बाबा अमरदेव को गिरफ्तारी से बचाने के लिए प्रशासन द्वारा उन्हें जानबूझकर इंदिरा गांधी मेडिकल काॅलेज शिमला के स्पैशल वार्ड 633 में भर्ती किया गया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मेहरबानी बाबा अमरदेव की ओर इस बात से भी साफ झलकती है। उन्होंने कहा कि वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत बाबा अमरदेव पर मामला दर्ज किया गया था और देहरादून स्थित वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट आॅफ इंडिया ने वैज्ञानिक प्रमाणिता के तहत बाबा के आश्रम में मिली खालों की पुष्टि की है।

बाबा अमर देव प्रकरणः ग्रामीणों को मिली जमानत

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है