Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

करतार सिंह के हाथों का कमाल, यहां सब कुछ बोतल में कैद है

करतार सिंह के हाथों का कमाल, यहां सब कुछ बोतल में कैद है

- Advertisement -

हमीरपुर। अगर आप बैंबूआर्ट का अद्भुत नमूना देखना चाहते हैं तो आप को हमीरपुर आना होगा। यहां पर करतार सिंह सौंखला ने शीशे की बोतल में ऐसी-ऐसी कलाकृतियां बनाई है, जिन्हें देख हर कोई दंग रह जाता है। चाहे वो अस्तित्व खो रही धरोहरें हो या फिर मंदिर या मशहूर टॉवर अपनी कला से करतार सिंह सौंखला ने सब कुछ बोतल के अंदर कैद कर दिया है। अभी हाल ही में लॉकडाउन के दौरान करतार सिंह सौंखला ने पीएम मोदी ,सीएम जयराम ठाकुर, पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के अलावा साईं राम, शिव परिवार की मूर्तियां बोतल में बना डाली है। इस कलाकृत्तियों दो देख सबके मन में एक ही सवाल उठता है कि आखिर किस तरह बोतल के अंदर कलाकृतियां बनाई गई है। लेकिन करतार सिंह सौंखला को इस काम में महारथ हासिल है।

यह भी पढ़ें: Video: घर के आंगन में Mini Bus Stand,बसों के साथ खड़े रहते हैं ट्राला, टैंकर, टिप्पर

करतार सिंह सौंखला हमीरपुर जिला के नौहंगी गांव के निवासी है। वह मार्च माह में एनआईटी हमीरपुर से स्वास्थ्य विभाग से वरिष्ठ फार्मासिस्ट के पद से सेवानिवृत्त हुए है। उन्हें बचपन से ही कुछ अलग करने का शौक रहा है और वर्ष 2000 में इसी शौक के चलते उन्होंने शीशे की बोतल में बांस से एक डिजाइन तैयार कर दिया। इसके बाद सिलसिला जारी रहा है। अब तक वे सेंकड़ों बोतल में विभिन्न कलाकृतियां बनाकर तैयार कर चुके हैं। इतना ही नहीं करतार सिंह अपनी कलाकृतियों की प्रदर्शनी प्रदेश सहित देश के विभिन्न हिस्सों में लगा चुके हैं।

छोटे-छोटे संस्थान खोलकर बैंबू आर्ट को बढ़ावा दें सरकार

सौंखला ने बताया कि कलाकृतियां बनाने का शौक उन्हें बचपन से रहा है लेकिन लॉकडाउन के चलते पीएम मोदी, सीएम जयराम ठाकुर, पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की बोतल में कलाकृतियां बनाई है। जिन्हें बनाने के लिए घर पर ही बांस के सामान से तैयार किया गया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि छोटे-छोटे संस्थान खोलकर बैंबू आर्ट को बढ़ावा दे और इसे टूरिज्म से जोडा जाए ताकि युवा इसका फायदा उठा सके। करतार सिंह सौंखला की पत्नी सुनीता ने बताया कि पहले तो यह बेकार काम लगता था लेकिन जब लोगों ने इस कला की सराहना की अब बहुत अच्छा लगता है। पूरा परिवार भी उनका पूरा साथ देता है। बांस के टुकड़ों को तराश कर बोतल में कलाकृति बनाना कठिन काम है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है