Covid-19 Update

59,197
मामले (हिमाचल)
57,580
मरीज ठीक हुए
987
मौत
11,244,786
मामले (भारत)
117,749,800
मामले (दुनिया)

#Birdflu: हिमाचल में बाहरी राज्यों से आने वाले पोल्ट्री उत्पादों पर रोक एक सप्ताह बढ़ी

पौंग बांध में विदेशी परींदों के मरने का सिलसिला जारी, आज तीन मिले मृत

#Birdflu: हिमाचल में बाहरी राज्यों से आने वाले पोल्ट्री उत्पादों पर रोक एक सप्ताह बढ़ी

- Advertisement -

शिमला। बर्ड फ्लू के खतरे और इसकी रोकथाम के मद्देनजर हिमाचल (Himachal) में दूसरे राज्यों से पोल्ट्री और इससे संबंधित उत्पादों के आयात पर लगी रोक को और बढ़ा दिया है। प्रदेश सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले मुर्गा मुर्गी और अन्य पोल्ट्री उत्पादों (Poultry Products) पर लगी रोक को एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया है। बता दें कि हिमाचल में पौंग बांध में बर्ड फ्लू (Bird flu) के चलते प्रवासी पक्षियों के मरने का सिलसिला लगातार जारी है। शुक्रवार को भी पौंग बांध (Pong Dam) में तीन विदेशी परींदे मृत मिले हैं। इनमें से दो बार हेडिड गीज और एक ग्रे लेग गूज प्रजाति का है। यह पक्षी जवाली और धमेटा बीट में मिले हैं। अब तक पौंग झील में 4989 प्रवासी पक्षी मृत मिले चुके हैं। इसी के चलते प्रदेश सरकार ने पिछले दो सप्ताह से हिमाचल में बाहर से आने वाले पोल्ट्री उत्पादों पर रोक लगी हुई है। पंजाब और हरियाणा में बर्ड फ्लू की स्थिति संवेदनशील बनी हुई है।

यह भी पढ़ें: #BirdFlu बाहरी राज्यों से आने वाले Poultry Products पर रोक एक सप्ताह बढ़ाई गई

जिसके चलते हिमाचल इन राज्यों पर पोल्ट्री उत्पादों के लिए निर्भर है। लेकिन प्रदेश में फैले बर्ड फ्लू को देखते हुए बाहरी राज्यों से ऐसे सभी उत्पादों पर प्रदेश सरकार ने रोक लगाई हुई है। जिसे अब एक सप्ताह के लिए और बढ़ा दिया गया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव पशुपालन आरडी धीमान ने बताया कि प्रदेश में अभी बर्ड लू का खतरा अभी बना हुआ है। इस कारण प्रतिबंध को प्रदेश सरकार (State Govt) ने आगे बढ़ा दिया है। जब तक हालात ठीक नहीं हो जाते तब तक इस पर कड़ाई से नजर रहेगी। पशुपालन विभाग अपनी तरफ से कई कड़े कदम उठा रहा हैं। वहीं निदेशक पशुपालन डाण् अजमेर सिंह डोगरा के अनुसार सरकार ने पोल्ट्री उत्पादों पर एक सप्ताह के लिए रोक बढ़ा दी है। सोलन जिले में एक हजार मृत मुर्गे और मुर्गियां पाई गई थीं, जिन्हें किसी ने पड़ोसी राज्य से लाकर फेंका था। बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए हमारी रैपिड रिस्पांस टीमें पौंग बांध क्षेत्र में एक माह से डटी हुई है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है