Covid-19 Update

2,23,145
मामले (हिमाचल)
2,17,645
मरीज ठीक हुए
3,723
मौत
34,213,644
मामले (भारत)
245,086,616
मामले (दुनिया)

Bangladesh के संस्थापक मुजीबुर्रहमान के हत्यारे कैप्टन को आधी रात दी गई फांसी

Bangladesh के संस्थापक मुजीबुर्रहमान के हत्यारे कैप्टन को आधी रात दी गई फांसी

- Advertisement -

ढाका। बांग्लादेश के संस्थापक एवं स्वतंत्रता सेनानी बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान (Sheikh Mujibur Rahman) की 1975 में की गई हत्या के दोषियों में से एक सजायाफ्ता सेना के बर्खास्त कैप्टन अब्दुल माजिद (Abdul Majed) को रविवार की आधी रात 12:01 बजे फांसी पर लटका दिया गया। इस हत्या के दोषी को लगभग 45 साल फरार रहने के बाद इसी मंगलवार को ढाका से गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद माजिद की मौत की सजा को चार दिनों के भीतर ही अंजाम दे दिया गया।

यह भी पढ़ें: Coronavirus पर खोज कर रही साइंटिस्ट का दावा : शायद कभी ना मिल पाए वैक्सीन

बता दें कि 15 अगस्त 1975 को बांग्लादेश के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की परिवार के कई सदस्यों के साथ हत्या कर दी गई थी। इस मामले में कोर्ट ने सेना के 12 अधिकारियों को दोषी करार दिया था। कोर्ट ने सभी को फांसी की सजा सुनाई थी। इनमें से पांच को साल 2010 में फांसी दे दी गई थी। हत्या के बाद अब्दुल माजिद फरार हो गया था। इस वारदात को अंजाम देने के 45 साल बाद आरोपी कैप्टन को फांसी की सजा सुनाई गई।

माजिद के पार्थिव शरीर को आज दफन किया जाएगा, इससे पहले शुक्रवार को, परिवार के चार सदस्यों, जिनमें दोषी की पत्नी शामिल नहीं थी, जेल में उनसे मुलाकात की। राष्ट्रपति अब्दुल हमीद द्वारा बुधवार को दया याचिका ठुकराए जाने के बाद माजिद की मौत की सजा को चार दिनों के भीतर ही अंजाम दे दिया गया। हालांकि शेख मुजीबुर्रहमान की हत्या के पांच साजिशकर्ता अभी भी छुपे हुए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है