- Advertisement -

सावधान! यहां सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज बन रहा मुसीबत, कईयों की जान गई

be careful viral message causes death in this area

0

- Advertisement -

गुवाहाटी। अब डिजिटल टेक्नोलॉजी का जमाना है। छोटी से छोटी बात भी फैलानी हो तो बस सोशल मीडिया पर डाल दो और लोग उसे सभी जगह फैला देंगे। सोचेंगे भी नहीं कि यह सही है या गलत बस फॉरवर्ड करते जाएंगे। आज एक ओर जहां शिक्षा या जानकारी प्राप्त करने के लिए सबसे अच्छा साधन साबित हो रहा है, वहीं इसके माध्यम से फैल रही गलत जानकारियां किसी के लिए मुसीबत भी बन सकती हैं। असम में एक ऐसी घटना सामने आर्इ है जहां पर सोशल मीडिया पर वायरल हुई गलत जानकारी के कारण दो लोगों की जान चली गई। इससे पहले सोशल मीडिया पर फैले अफवाह के कारण ही मेघालय की राजधानी को एक सप्ताह तक हिंसा की आग में झुलसना पड़ा।

दरअसल इन दिनों असम में बच्चों को उठाने की अफवाह सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसी के चलते असम के पश्चिम कार्बी आंग्लांग जिले के डकमका के पानीबुरी गांव में बच्चों को उठाने वाले गिरोह के शक में गुवाहाटी के दो युवकों को पीट-पीटकर लोगों ने मार डाला।

जानकारी के अनुसार गुवाहाटी का नीलोत्पल दास और उसका दोस्त अभिजीत नाथ घूमने के लिए सुबह दस बजे काथी लोंगछा ईको-टूरिज्म के लिए निकले थे। जब शाम को अपने वाहन से वापस लौट रहे थे तब किसी ने गांववालों को खबर दी कि एक गाड़ी में बच्चों को उठाने वाला गिरोह जा रहा है। कुछ लोग आए और इन दो युवकों को गाड़ी से निकालकर बुरी तरह पीटा। वे अपना परिचय देते रहे लेकिन भीड़ ने इनकी एक न सुनी। जब तक पुलिस वहां तक पहुंची दोनों की मौत हो चुकी थी। असम के सीएम सर्वानंद सोनोवाल ने घटना को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल को घटनास्थल जाकर तुरंत कदम उठाने का निर्देश दिया है।

मामले के सामने आने के बाद राज्य के डीजीपी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में सोशल मीडिया पर बच्चों के अपहरणकर्ताओं के सक्रिय होने की पोस्ट वायरल हो रही है। हमनें सभी जिलों के एसपी को कहा है कि वह इस प्रकार के मामलों पर रोक लगाने के प्रयास करें, जिससे ऐसी घटनाएं ना हों। बता दें कि असम में इससे पूर्व भी कुछ अपहरणकर्ताओं के सक्रिय होने के मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे, जिसके बाद कई इलाकों में भीड़ द्वारा हिंसा करने की बात सामने आई थी। सोशल मीडिया पर वायरल हुर्इ पोस्ट के कारण ही मेघालय की राजधानी शिलांग एक सप्ताह से हिंसा की आग में जलता रहा। इसके बाद मेघालय के गारो हिल्स में वायरल एक पोस्ट के कारण हालात खराब हो गए।

- Advertisement -

Leave A Reply