Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

भावावैली के 14 गांवों में दो दिन से Black out

भावावैली के 14 गांवों में दो दिन से Black out

- Advertisement -

Bhabha Valley Kinnaur Black out : भावानगर। प्रदेश को बिजली राज्य का दर्जा दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले किन्नौर जिले की भावावैली के 14 गांव दो दिन से अंधेरे में डूबे हुए हैं। क्षेत्र में हो रही बारिश ने भावावैली में बिजली सेवा को पूरी तरह बाधित कर दिया है। क्षेत्र में हो रही बारिश ने बेहतर बिजली सेवा प्रदान के दावों की पोल खोल दी है। मात्र दो कर्मचारी बिजली आपूर्ति बहाली के कार्य में लगे हुए हैं। इससे भावावैली में बिजली सेवा बहाल करना बोर्ड के लिए चुनौती पूर्ण बना हुआ है। बोर्ड द्वारा दलील दी जा रही है कि कटगांव के निकट पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे है, जिस कारण तार को जोड़ना आसान नहीं है। कटगांव के निकट पहाड़ी से भारी चट्‌टान गिरने के कारण बिजली की हाईटेंशन तार टूट गई थी। बोर्ड के दो कर्मचारी स्थानीय लोगों के बाद भी इसे जोड़ नहीं पाए हैं।

  • मात्र दो कर्मचारी बिजली आपूर्ति बहाली के कार्य में लगे

इसके अलावा अन्य फाल्ट को ढूंढना भी इन के लिए चुनौतीपूर्ण बना हुआ है। भावावैली के लोगों के आय दिन बिजली समस्या से दो-चार होना पड़ता है। बोर्ड यहां बिजली समस्या हल करने में फेल हो चुका है। ऐसे में क्षेत्र के लोग बोर्ड की कार्यप्रणाली पर अंगुलियां उठा रहे हैं। हैरानी कि यह बात की प्रदेश को बिजली परियोजना देने वाले भावावैली के लोगों को आय दिन बिजली समस्या से जूझना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि भावावैली में इन दिनों दो कर्मचारी 22 बिजली के ट्रांसफार्मर देख रहे हैं। भावावैली में बिजली सेवा बुधवार देर रात से पूरी तरह ठप हो गई है। इसे बोर्ड स्थानीय लोगों द्वारा सहयोग करने के बाद भी बहाल नहीं कर पाया है। बोर्ड दो कर्मचारी ने स्थानीय लोगों के सहयोग के बाद भी कटगांव के निकट टूटी तार को जोड़ नहीं पाया है।  उधर, बिजली बोर्ड के सहायक अभियंता जितेश नेगी ने माना कि भावावैली में मात्र दो ही कर्मचारी बिजली बहाली के कार्य में लगे हैं। उन्होंने कहा कि भावानगर से अतिरिक्त कर्मचारी भावावैली में भेजे जाएंगे, ताकि जल्द बिजली सेवा बहाल की जा सके।


काफनू-बांगतू मार्ग दूसरे दिन भी बहाल नहीं

काफनू-बांगतू मार्ग दूसरे दिन भी बहाल नहीं हो पाया है। मार्ग बंद होने से भावावैली का संपर्क शेष दुनिया से कट गया है। इससे भावावैली के लोगों को घंटों की पैदल यात्रा करनी पड़ रहीं है। लोक निर्माण विभाग ने मार्ग बहाल करने के लिए 28 घंटे बाद मिश्नरी लगाई। नुकसान काफी ज्यादा हुआ है। ऐसे में मार्ग जल्द बहाल होना संभव नहीं है। जबकि लोक निर्माण विभाग को मार्ग बंद होते ही मार्ग बहाली का कार्य शुरू करना चाहिए था। गौरतलब है कि काफनू-बांगतू मार्ग शेरपा कॉलोनी के निकट पहाड़ी से भारी चट्‌टान खिसकने के कारण पूरी तरह बंद हो गया है। मार्ग में चट्‌टान वीरवार दोपहर 12 बजे गिरी, लेकिन विभाग ने मार्ग बहाली का कार्य शुक्रवार सायं ठीक साढे़ तीन बजे शुरू किया। ऐसे में लोक निर्माण की सुस्त कार्य प्रणाली पर अंगुलियां उठ रही हैं। उधर, लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता ज्ञान ठाकुर ने कहा कि जल्द मार्ग बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : Luxury Car चोरी मामलाः अब Police की संलिप्तता की भी होगी जांच

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है