Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

इस बार रक्षाबंधन पर नहीं होगा भद्रा का साया

इस बार रक्षाबंधन पर नहीं होगा भद्रा का साया

- Advertisement -

लोक परंपरा तथा आजकल की व्यवस्तताओं के दृष्टिगत प्रातः काल ही रक्षाबंधन पर्व मनाने की परंपरा है। इस पर्व में दूसरों की रक्षा के धर्म भाव को विशेष महत्व दिया गया है। रक्षा बंधन का वैदिक स्वरूप यही है। इस दिन बहनें अपने भाइयों को राखी बांध कर अपनी जीवन रक्षा का दायित्व उन पर सौंपती है। इस बार रक्षाबंधन के दिन एक शुभ संयोग बनने जा रहा है। दरअसल चार वर्ष में पहली बार राखी पर भद्रा का साया नहीं रहेगा। ज्योतिष के पंचांग में भद्राकाल को अशुभ माना जाता है।

इस बार रक्षाबंधन ग्रहण के योग से भी मुक्त रहेगा। भद्रा दिन की शुरूआत में ही समाप्त होने से राजयोग बना रहेगा। राजयोग में राखी बाधंना काफी शुभ माना जाता है। रक्षाबंधन पर भद्राकाल नहीं होने से दिनभर राखी बाधंना शुभ है। हालांकिृ बहनें राहुकाल में अपने भाइयों को राखी बांधने से बचें। 26 अगस्त के दिन शाम 04.30 से 6 बजे तक राहुकाल रहेगा। इस समय राखी बांधी जा सकेगी। पूर्णिमा तिथि शाम पांच बजकर 26 मिनट तक रहगी। रक्षा सूत्र हाथ में जन्माष्टमी तक रहना चाहिए। रक्षा सूत्र सूती धागे का होना बेहतर होता है।


कैप्टन डॉ. लेखराज शर्मा
एमए, पीएचडी, ज्योतिषाचार्य (स्वर्णपदक), शारदा ज्योतिष निकेतन जोगिंद्रनगर

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है