Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#CoronaVaccine : इंजेक्शन के बाद नेजल स्प्रे लाने की तैयारी में Bharat Biotech, जल्द शुरू होगा ट्रायल

जल्द ही इस ट्रायल को लेकर DCGI के सामने प्रपोजल रखेगी कंपनी

#CoronaVaccine : इंजेक्शन के बाद नेजल स्प्रे लाने की तैयारी में Bharat Biotech, जल्द शुरू होगा ट्रायल

- Advertisement -

नई दिल्ली कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी मिलने के बाद अब देशवासियों के लिए एक और अच्छी खबर है। इंजेक्शन से दूरी बनाने वाले लोगों के लिए अब नेजल स्प्रे लाने की तैयारी चल रही है। भारत बायोटेक (Bharat Biotech) देश में जल्द ही नेजल वैक्सीन का ट्रायल शुरू करने जा रहा है। नागपुर में इस वैक्सीन के पहले और दूसरे फेज का ट्रायल किया जाएगा। नेजल वैक्सीन नाक के जरिए दी जाती है, जबकि अभी तक भारत में जिन दो वैक्सीन को मंजूरी मिली है वो बाजू पर इंजेक्शन लगाकर दी जाती हैं।


यह भी पढ़ें: अलर्ट! कोरोना वैक्सीन के नाम पर OTP या लिंक आपके खाते से उड़ा सकता है पैसे

 


Nasal Vaccine में सिर्फ एक ही डोज देने की जरूरत

भारत बायोटेक के डॉ. कृष्णा इल्ला के मुताबिक उनकी कंपनी ने वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के साथ करार किया है। इस Nasal Vaccine में दो की बजाय सिर्फ एक ही डोज देने की जरूरत होगी। रिसर्च में पाया गया है कि ये काफी बेहतरीन ऑप्शन है। डॉ. चंद्रशेखर के कहा, “अगले दो हफ्तों में Nasal Covaxin का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए हमारे पास जरूरी सबूत हैं कि नाक से दी जाने वाली वैक्सीन इंजेक्शन वाली वैक्सीन से बेहतर है। भारत बायोटेक जल्द ही इस ट्रायल को लेकर DCGI के सामने प्रपोजल रखेगा।” भुवनेश्वर-पुणे-नागपुर-हैदराबाद में भी इस वैक्सीन का ट्रायल होगा। यहां पर 18 से 65 साल के करीब 40-45 वॉलंटियर्स का चयन किया जाएगा।

वाशिंगटन स्कूल ऑफ मेडिसन की रिसर्च के मुताबिक, अगर नाक के द्वारा वैक्सीन दी जाती है तो शरीर में इम्युन रिस्पॉन्स काफी बेहतर तरीके से तैयार होता है। ये नाक में किसी तरह के इंफेक्शन को आने से रोकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर इस तरह की वैक्सीन को मंजूरी मिलती है तो कोरोना से लड़ाई में ये गेम चेंजर साबित होगी क्योंकि जो इंजेक्शन लगाया जाता है उससे इंसान का सिर्फ निचला लंग ही सेफ हो पाता है। अगर नाक के जरिए वैक्सीन दी जाती है तो उससे ऊपरी और निचला लंग दोनों सेफ होने की संभावना है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है