Covid-19 Update

2,05,391
मामले (हिमाचल)
2,01,014
मरीज ठीक हुए
3,503
मौत
31,484,605
मामले (भारत)
196,043,557
मामले (दुनिया)
×

गोबर में मिली बच्ची का मामला: नाबालिग साली ने दिया था जीजा के बच्चे को जन्म

लोक लाज के भय से परिजनों ने बच्ची को गोबर के ढेर के पास फेंका, आरोपी की तलाश में पुलिस

गोबर में मिली बच्ची का मामला: नाबालिग साली ने दिया था जीजा के बच्चे को जन्म

- Advertisement -

शिलाई। हिमाचल के सिरमौर जिला में बीते रोज गोबर के ढेर के पास मिली नवजात बच्ची (Newborn baby) के मामले को पुलिस ने 24 घंटे में ही सुलझा लिया है। बच्चे को जन्म देने वाली युवती नाबालिग बताई जा रही है। वहीं यह भी खुलासा हुआ है कि नाबालिग से उसके जीजा (Brother-in-Law) ने ही करीब 8 से 9 माह पहले दुराचार (Rape) किया था। इसके बाद किशोरी गर्भवती हो गई और एक बच्ची को जन्म दिया। परिजनों ने लोक लाज के भय से इस बच्ची को गोबर के ढेर के पास फेंक दिया। जिसके बाद बात पुलिस तक पहुंची और एक बड़े मामले का खुलासा हुआ और एक दुराचारी पुलिस के शिकंजे में फंस गया। बताया जा रहा है कि इस समय नवजात बच्ची की मां बालिग हो चुकी है, लेकिन उम्र को लेकर उस तारीख को आधार बनाया जाएगाए जिस दिन किशोरी से दुराचार हुआ था।

यह भी पढ़ें: ये कैसी मां! पैदा होते ही गोबर के ढेर के पास छोड़ दी नन्ही जान

बता दें कि रोनहाट उप तहसील की ग्राम पंचायत शंखोली के कमियारा गांव में मंगलवार को गोबर के ढेर के समीप लावारिस हालत में नवजात बच्ची मिली थी। पुलिस के सामने पहला सवाल बच्ची की मां की पहचान करना था। पहचान होते ही इस मामले ने एक नया मोड़ लिया। इसी बीच पुलिस ने बालिग हो चुकी किशोरी के बयान के आधार पर जीजा के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 व पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही तलाश भी शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि आरोपित के मिल जाने के बाद उसके डीएनए सैंपल (DNA Sample) भी नवजात बच्ची के डीएनए के साथ मैच किए जा सकते हैं। ये भी माना जा रहा है कि अगर नाबालिग ने दुराचार होने के बाद ही पुलिस को मामले से अवगत करवा दिया होता तो इस समय आरोपित सलाखों के पीछे होता। साथ ही एक नवजात बच्ची के जीवन को लेकर ऐसी स्थिति न पैदा होती। बता दें कि नवजात बच्ची नाहन मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों की देखरेख में स्वास्थ्य लाभ ले रही है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।


 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है