Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

Congress-BJP की तकरार, नाहन हुआ शिकार

Congress-BJP की तकरार, नाहन हुआ शिकार

- Advertisement -

शिलान्यास के 6 साल बाद भी शुरू नहीं हो पाया गिरि उठाऊ पेयजल योजना का काम

Attack : नाहन। शिलान्यास के 6 साल बाद भी ऐतिहासिक शहर नाहन के लिए प्रस्तावित गिरि उठाऊ पेयजल योजना का कार्य पूरा नहीं हो पाया है। दरअसल करोड़ों रुपए की यह योजना राजनीति का शिकार हो रही है। पूर्व CM प्रेम कुमार धूमल ने गिरि उठाऊ पेयजल योजना का अक्टूबर, 2011 में शिलान्यास किया था मगर आज तक योजना का कार्य पूरा नहीं हो पाया है अंदाजन नाहन शहर आज भी पानी के लिए तरस रहा है।

वहीं योजना पर बीजेपी व कांग्रेस खुलकर राजनीति कर रही है योजना पूरी न होने के लिए दोनों पार्टियां एक दूसरे पर दोषारोपण कर रही है। मौजूदा बीजेपी विधायक का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने योजना को गंभीरता से नहीं लिया, जिस समय इस पेयजल योजना का शिलान्यास हुआ था, उस समय इस योजना की लागत करीब 52 करोड़ रुपए थी मगर लेटलतीफी के चलते आज इस योजना की लागत 75 करोड़ रुपए से भी अधिक पहुंच गई है, जिसके लिए बीजेपी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है।


BJP ने डाली रुकावट

उधर इस बारे में योजना पूरी न होने के लिए कांग्रेस ने सीधे तौर पर बीजेपी को जिम्मेवार ठहराया है। कांग्रेस नेता अजय सोलंकी का कहना है कि बीजेपी नेताओं ने इस योजना को रोकने का काम किया है। कांग्रेस का कहना है की बीजेपी नेताओं ने लोगों के जरिए योजना के कार्य को आगे नही बढ़ने दिया और कई अड़चनें डाली।

दिनों दिन बढ़ रही है पेयजल किल्लत

शहर में पानी की समस्या दिनोंदिन विकराल रूप ले रही है। खैरी व नेहरस्वार दोनों पुरानी पेयजल योजनाएं दम तोड़ रही है, जिस में आए दिन तकनीकी खराबी पेश आती है। अंदाजन लोगों को पर्याप्त मात्रा में पीने का पानी नहीं मिल पाता है शिलान्यास के बाद से ही गिरि उठाऊ पेयजल योजना राजनीति का शिकार रही है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगाने में लगी हुई है मगर खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

VC अग्रिहोत्री बोले, कुल्लू में खुलें CU के कुछ विभाग

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है