Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

राजनीति : जयंती-पुण्यतिथि पर आमने-सामने आ गई BJP-Congress

राजनीति : जयंती-पुण्यतिथि पर आमने-सामने आ गई BJP-Congress

- Advertisement -

बीजेपी ने नेहरू को लपेटा, कांग्रेस ने मोदी को सर्कीण मानसिकता का बताया

शिमला। दो बड़े नेताओं को जयंती और पुण्यतिथि पर बीजेपी-कांग्रेस एक दूसरे के आमने-सामने आ गए। एक ओर जहां बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को कटघरे में ला खड़ा किया तो वहीं, कांग्रेस ने पीएम मोदी को संकीर्ण मानसिकता वाला का बताया। बहरहाल, मंगलवार सुबह-सवेरे राजधानी में उधेड़ बुन लगी रही। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि यदि प्रधानमंत्री नेहरू का वश चलता तो देश में कई और पाकिस्तान बन गए होते। अमित शाह सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के मौके पर राष्ट्रीय एकता दौड़ में हिस्सा लेने यहां पहुंचे हुए थे। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ बीजेपी नेता जगत प्रकाश नड्डा, थावरचंद गहलोत, राष्ट्रीय संगठन मंत्री रामलाल, प्रदेश बीजेपी प्रभारी मंगल पांडे, सांसद अनुराग ठाकुर व वीरेंद्र कश्यप, बीजेपी प्रत्याशी सुरेश भारद्वाज, मेयर कुसुम सदरेट के अलावा सैकड़ों युवाओं और विद्यार्थियों ने भी दौड़ में हिस्सा लिया।
बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यदि सरदार पटेल नहीं होते तो देश आज सैकड़ों छोटे-छोटे देशों में तब्दील हो गया होता। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश के शीर्ष कांग्रेसी नेतृत्व ने राष्ट्रीय एकता को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाया। यदि पीएम जवाहरलाल नेहरू का बस चलता तो देश में कई पाकिस्तान बन गए होते। उन्होंने कहा कि नेहरू ने पटेल को कभी कोई तरजीह नहीं दी। इसके बावजूद पटेल ने भारत के सच्चे राष्ट्रवादी नेता होने का सबूत दिया और सैकड़ों छोटी-छोटी रियासतों को बिना किसी खून खराबे के भारत में विलय कराने का चमत्कार कर दिखाया। उनका कहना था कि पटेल के गृहमंत्री होने के बावजूद नेहरू ने उन्हें कश्मीर के मामलों से बिल्कुल अलग रखा, जिसका नतीजा यह राष्ट्र आज तक भुगत रहा है।

नेहरू की वजह से कश्मीर में लाखों हिंदुओं को झेलना पड़ा विस्थापन

कश्मीर का मामला भी यदि सरदार पटेल के पास होता तो वहां के लाखों निर्दोष हिंदुओं को अपने ही देश में विस्थापित न होना पड़ता और हमारे हजारों बहादुर जवानों को जान की कुर्बानी नहीं देनी पड़ती। अमित शाह ने कहा कि सरदार पटेल की मृत्यु के बाद नेहरू और अन्य कांग्रेस सरकारों ने उस महान जननायक को इतिहास के पन्नों से गायब कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी। वहीं,  कांग्रेस नेताओं ने पीएम मोदी को भी सवालों के घेरे में लिया। पत्रकारों से रूबरू होते हुए आनंद शर्मा ने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी की सोच संकीर्ण है। यह ठीक है कि वल्लभ भाई पटेल देश के स्वतंत्रता सेनानी थे।
देश के विकास में उनका अहम योगदान रहा, लेकिन बीजेपी औऱ पीएम मोदी देश की पहली महिला पीएम की शहादत को कैसे भूल गए। उन्होंने हैरानी जाहिर की इंदिरा गांधी की शहादत को याद न करना और उनके देश के लिए दिए योगदान को आज के दिन जाना बीजेपी व पीएम की संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी सुशील कुमार शिंदे भी शिमला में थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है