Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बीजेपी विस्तारकों का डेरा, कांग्रेस ने उठाए सवाल

पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बीजेपी विस्तारकों का डेरा, कांग्रेस ने उठाए सवाल

- Advertisement -

सचिन ओबरॉय/पांवटा साहिब। पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पिछले नौ दिन से बीजेपी विस्तारक डेरा जमाए हुए हैं। इस पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। कांग्रेस का कहना है कि पार्टी विस्तार के लिए बीजेपी ने सरकार विश्राम गृह को अपना कार्यालय बना लिया है, जोकि निंदनीय है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव अनिंद्र सिंह नौटी व पांवटा साहिब शहरी कांग्रेस अध्यक्ष असगर अली आदि ने कहा कि बीजेपी जीतने के लिए हर प्रकार के हथकंडे अपना रही है। बीजेपी सरकारी मशीनरी का पार्टी के कार्यों के लिए इस्तेमाल कर रही है।

पांवटा साहिब विश्राम गृह इसका ताजा उदाहरण बना है, जहां पर पिछले करीब 9 दिन से बीजेपी के विस्तारक डेरा डाले हुए हैं। आधे से ज्यादा कमरे इनके पास ही हैं, जिसमें पार्टी मजबूती के कार्य चल रहे हैं। इतने दिनों से 6 कमरे बुक होने से दूसरे जिलों से आने वाले कर्मचारियों और लोगों को जरूरत के समय कमरे नहीं मिल पा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक गत 13 दिसंबर से बीजेपी के विस्तारक यहां डेरा डाले हुए हैं। इनके पास ग्राउंड फ्लोर के 11 से लेकर 14 नंबर कमरे सहित पहली मंजिल पर 5 और 6 नंबर कमरे हैं। इसके बाद बचे 1, 4 और 7 नंबर कमरे वीआईपी के लिए हैं, जो आम आदमी को नहीं मिलते हैं। 2 और 3 नंबर कमरे बड़े अधिकारियों के लिए भी रखने पड़ते हैं। जानकारी के मुताबिक विश्राम गृह में तीन दिन से ज्यादा का एक कमरे का परमिट नहीं मिलता।

इस बारे अधिषासी अभियंता लोनिवि पांवटा मंडल अजय शर्मा ने बताया कि बीजेपी के विस्तारक 22 दिसंबर तक विश्राम गृह के 6 कमरों में ठहरे हुए हैं, जिनके परमिट काटे गए हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है