×

Kapoor के बोलः CM को बताया नालायक, कुछ नहीं कर रहे

Kapoor के बोलः CM को बताया नालायक, कुछ नहीं कर रहे

- Advertisement -

धर्मशाला। पूर्व परिवहन मंत्री किशन कपूर ने विभिन्न मसलों पर वीरभद्र सरकार की विफलता के लिए उन्हें नालायक की संज्ञा दी है। कपूर का कहना है कि अगर आज हिमुडा के कमचारी हडताल पर हैं, डॉक्टर हड़ताल पर हैं, अस्पतालों में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की कमी है, एचआरटीसी के कर्मचारियों को पेंशन नही दी जा रही, यह सब सीएम वीरभद्र सिंह की नालायकी ही तो है।


  • अस्पतालों में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की कमी के पीछे सीएम की नाकाबलियत
  • कहा, सीएम खुद वित्त मंत्री फिर भी कर्मचारियों के हितों के लिए कुछ नहीं कर पा रहे
  • कांगडा में जो कुछ बोलते हैं शिमला में जाकर मुकर जाते हैं कि मैने तो मजाक किया
  • धर्मशाला में सिर्फ मंत्री का हो रहा विकास, गरीब के विकास के लिए कोई कार्य नहीं हो रहा

कपूर ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि वीरभद्र सिंह वित्त विभाग भी खुद देख रहे हैं फिर भी वह कर्मचारियों के हितों के लिए कुछ नहीं कर पा रहे है। उन्होंने कहा सीएम का इस साल का शीतकालीन प्रवास कांगड़ा के लोगों को गुमराह करने तक सीमित रहा। सीएम ने बहुत सारी घोषणाएं की, जहां भी गए वहां घोषणाए की। कपूर ने कहा कि गत वर्ष जो घोषणाएं की थी उनका धरातल पर तो कुछ भी नजर नहीं आ रहा।  सीएम कांगड़ा में आकर जो बोलते है शिमला जा कर मुकर जाते है कि मैने तो मजाक किया था। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह कांगड़ा के लोगों से राजनीति करते रहे है इसके अतिरिक्त कुछ नही। कपूर ने कहा कि बीजेपी ने मांग की थी इस वर्ष का बजट सत्र धर्मशाला में हो और धर्मशाला भी जम्मू-कश्मीर की तर्ज पर राजधानी का कार्य करें और इसके लिए सारे कार्यालय धर्मशाला शिफ्ट होने चाहिए। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में मंत्रियों के ठहरने के लिए कमरे उपलब्ध है। बीजेपी सरकार के कार्यकाल में यहां पर मिनी सचिवालय का निर्माण किया गया है जहां पूरी सरकार की बैठने की व्यवस्था है। कपूर ने कहा कि वीरभद्र सिंह कांगड़ा को अपनी चालाकी से सिर्फ बांटने का प्रयास कर रहे है। सीएम ने ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कही थी, लेकिन उसके बाद कितने चुनाव जीते फिर भी ओबीसी को आरक्षण नही मिल पाया।

कपूर ने सीएम से सवाल किया कि क्या शहरी विकास मंत्री के घर के पास हैलिपेड बना देना और उसका उद्घाटन करना विकास का पैमाना है। उन्होंने यह भी पूछा कि बीजेपी के शासनकाल के बाद धर्मशाला में किसी एक सड़क का निर्माण करवाया हो तो बताएं। कपूर ने कहा बीजेपी के शासनकाल में सीमेंट के दामों में 25 रुपए प्रति बेग कमी की गई थी, लेकिन कांग्रेस ने सीमेंट के दाम 50 रुपए प्रति बेग बढ़ा दिए। कपूर ने कहा कि धर्मशाला में शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा के घर के आसपास की सड़कों को चकाचक बनाया गया है। सिर्फ मंत्री का विकास हो रहा है और गरीब के विकास के लिए कोई भी कार्य नही किया जा रहा है। कपूर ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने खुद माना है कि केंद्र से स्मार्ट सिटी के लिए 186 करोड रुपए आ चुके है और प्रदेश सरकार ने इसमें अभी तक अपना हिस्सा मात्र 10 लाख ही जमा करवाया है। कपूर ने सीएम वीरभद्र सिंह से पूछा कि क्यों जानबूझ कर स्मार्ट सिटी के कार्य को लटकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला को स्पोर्ट्स हब के रूप में विकसित करने और सारे कार्यालय धर्मशाला में स्थापित करने का श्रेय बीजेपी को जाता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है