Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,622
मामले (भारत)
196,707,763
मामले (दुनिया)
×

धारा 370 को धराशायी करना मोदी की इच्छाशक्ति व अमित शाह की रणनीति का परिणाम

नड्डा बोले, आज एक देश में एक निशान एक विधान और एक प्रधान

धारा 370 को धराशायी करना मोदी की इच्छाशक्ति व अमित शाह की रणनीति का परिणाम

- Advertisement -

कुल्लू। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP National President JP Nadda) ने कहा है कि आज भारतीय जनता पार्टी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है। नड्डा के कहा कि 5 अगस्त 2019 को पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार ने जेएंडके में धारा 370 को धराशायी कर दिया। मुझे गृह मंत्री अमित शाह के बगल में बैठकर इस काले कानून को हटाने में मत डालने का मौका मिला। यह केवल पीएम नरेंद्र मोदी की इच्छाशक्ति व अमित शाह की रणनीति का परिणाम है।

यह भी पढ़ें: अटल टनल रोहतांग का दीदार करने पहुंचे जेपी नड्डा, कहा कुछ ऐसा

आज एक देश में एक निशान, एक विधान और एक प्रधान है। नड्डा ने ये बातें डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी (Dr. Shyama Prasad Mukherjee) की जयंती के अवसर पर कुल्लू के बर्थ नंबर 73, पिरड़ी में उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद कहीं। नड्डा ने यहां पर रुद्राक्ष का पौधा भी लगाया। इस अवसर पर जेपी नड्डा ने बूथ अध्यक्षए बूथ पालक एवं बीएलओ का धन्यवाद करते हुए कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए। श्यामा प्रसाद के जन्म और जीवन को समझना बहुत ज़रूरी है, वो कभी भी पार्टी से नहीं बल्कि एक विचार से जुड़े थे। इसी के चलते उन्होंने अपने आपको अनेक पार्टियों से जोड़ा और तोड़ा। मुखर्जी 33 वर्ष की उम्र में कोलकात्ता यूनिवर्सिटी के वीसी बने, जो उस समय ऐतिहासिक था।


नड्डा ने कहा कि भारत को एकजुट रखने में श्यामा प्रसाद मुखर्जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। जब कांग्रेस पार्टी ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) को स्पेशल स्टेटस देने की बात कही थी तो मुखर्जी ने तत्कालीन पीएम पं जवाहरलाल नेहरू का विरोध किया था। तब वह कांग्रेस में केंद्रीय मंत्री थे। उन्होंने भारत की एकता और अखंडता के लिए कांग्रेस से इस्तीफा दिया और जनसंघ की स्थापना की। उन्होंने धारा-370 के विरोध में नारा दिया कि एक नए दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं चलेंगे। उस समय जम्मू-कश्मीर जाने के लिए पास की आवश्यकता होती थी, डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इसके विरोध में बिना पास जाने की निर्णय लिया और गिरफ्तार हो गए, जहां संदिग्ध परिस्थितियों में उनकी मृत्यु हो गई। बीजेपी कार्यकर्ताओं की उस समय हज़ारों में संख्या थी, बाद में हमारी संख्या लाखों में हुई और आज हमारी संख्या 18 करोड़ है। नड्डा अपने दो दिवसीय प्रवास के बाद आज वापस दिल्ली लौट जाएंगे।\

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है