Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

बंगाल में हिंसा के खिलाफ शिमला डीसी ऑफिस के बाहर BJP का प्रदर्शन

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने केंद्र से मांग हस्तक्षेप

बंगाल में हिंसा के खिलाफ शिमला डीसी ऑफिस के बाहर BJP का प्रदर्शन

- Advertisement -

शिमला। बंगाल में हिंसा को लेकर बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (National President Jagat Prakash Nadda) के आह्वान पर शिमला मंडल ने कोविड-19 (Covid-19) प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए डीसी कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हिंसा के घटनाओं के विरोध में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज की अगुवाई में यह प्रदर्शन किया गया। बंगाल में हिंसा को लेकर निंदा की। इस धरने में शिमला मंडल के पदाधिकारी व शिमला मंडल युवा मोर्चा के पदाधिकारी सम्मिलित हुए। शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज (Urban Development Minister Suresh Bhardwaj) नेपश्चिम बंगाल में हिंसा की घटनाओं को लेकर केंद्र सरकार से हस्तक्षेप का अनुरोध किया।
मंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) और ममता बनर्जी की चुप्पी इन हिंसात्मक घटनाओं का मौन समर्थन है।

यह भी पढ़ें: कोरोना काल में जान पर बनी-BJP धरना देने चली, हिमाचल के हर मंडल को हिदायत जारी

भारद्वाज ने कहा कि लोकतंत्र में जनादेश को स्वीकार करना चाहिए, लेकिन तृणमूल कांग्रेस और पार्टी की नेता ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) शायद नंदीग्राम के नतीजों को पचा नहीं पाई हैं, इसके चलते प्रदेश भर में हिंसा का जो नंगा नाच तृणमूल कांग्रेस के अराजक तत्व द्वारा किया जा रहा है, वह निंदनीय है।भारद्वाज ने कहा कि ममता बनर्जी अभी बंगाल की कार्यकारी सीएम (CM) हैं और हो सकता है की दोबारा सीएम बनें, लेकिन ऐसे नेता का इस सारी हिंसा और दंगा फसाद पर चुप्पी का मतलब यही हो सकता है कि उनका इन अराजक तत्वों को पूर्ण समर्थन है। ऐसे में जब प्रदेश में सरकारी मशीनरी शिथिल हो और वह लोग जिन्हें कार्रवाई करनी चाहिए निष्क्रिय हों तो केंद्र सरकार से आह्वान करते हैं कि बंगाल के मामले में हस्तक्षेप करें।


यह भी पढ़ें: बंगाल में हो गया ‘खेला’ : TMC की हैट्रिक, पर नंदीग्राम में सस्पेंस बरकरार
पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने की निंदा

हमीरपुर। पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल (Former CM Prem Kumar Dhumal) ने कहा कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Election) परिणाम के बाद जो हो रहा है, वह बहुत ही शर्मनाक है। यह पूरे राष्ट्र के लिए एक खतरे की घंटी है कि चुनाव जीतने के पश्चात कोई शासक दल कितना खतरनाक अन्य दलों के कार्यकर्ताओं के लिए हो सकता है। किसी भी राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं के साथ ऐसा हो सकता है, जैसा पश्चिम बंगाल में हो रहा है। महिलाओं के साथ ज्यादती की जा रही है, कार्यकर्ताओं को मारा पीटा जा रहा है, उनके घर जला दिए गए हैं। बीजेपी कार्यालय तोड़े जा रहे हैं, यह बहुत ही दर्दनाक है। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद बीजेपी के कार्यकर्ताओं को विशेष रूप से निशाना बनाकर की जा रही हिंसा से आहत होकर वरिष्ठ बीजेपी नेता एवं पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने हमीरपुर संसदीय क्षेत्र की आयोजित एक विशेष वर्चुअल बैठक में संपूर्ण पार्टी का पश्चिम बंगाल के पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए खड़े होने का आह्वान किया। केंद्र सरकार से मांग की है कि पार्टी कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा के विरुद्ध धरना-प्रदर्शन करें और राष्ट्रपति को ज्ञापन तो भेजें ही साथ में केंद्र को भी हस्तक्षेप करना चाहिए कि पश्चिम बंगाल में और क्या किया जा सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है