Covid-19 Update

56,802
मामले (हिमाचल)
55,071
मरीज ठीक हुए
951
मौत
10,543,659
मामले (भारत)
94,312,257
मामले (दुनिया)

जाट आरक्षण की मांगों पर हुआ सहानुभूतिपूर्वक अध्ययन

जाट आरक्षण की मांगों पर हुआ सहानुभूतिपूर्वक अध्ययन

- Advertisement -

चंडीगढ़। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष एवं टोहाना के विधायक सुभाष बराला ने कहा है कि हरियाणा सरकार ने आरक्षण को लेकर आंदोलन कर रहे समाज के लोगों द्वारा रखी गई विभिन्न मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक अध्ययन किया है। फतेहाबाद में पत्रकारों को संबोधित करते हुए बराला ने कहा, पिछले दिनों हरियाणा सरकार द्वारा गठित की गई वरिष्ठ अधिकारियों की कमेटी और आंदोलनकारियों के प्रतिनिधियों के बीच हुई बातचीत में कई मांगों पर विस्तार से चर्चा हुई थी और इनमें से कई मांगों पर आगामी कार्यवाही भी आरंभ कर दी गई है। बराला ने कहा कि अभी तक सरकार के साथ बातचीत में दो मांगे प्रमुखता से रखी गई है। इनमें से एक मांग मृतकों के आश्रितों को नौकरी देने तथा दूसरी मांग पिछले आरक्षण आंदोलन के दौरान दर्ज किए गए मुकद्मों को वापिस लेनी की है। उन्होंने कहा कि पिछले आरक्षण आंदोलन के दौरान घायल हुए लोगों की भी जल्द ही आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके अतिरिक्त मृतक लोगों के आश्रितों को नौकरी देने की प्रक्रिया भी तेजी से पूरी की जा रही है और काफी लोगों को नौकरियां दी भी गई हैं। आंदोलनकारियों के प्रतिनिधियों द्वारा रखी गई अन्य मांगों पर सरकार द्वारा गठित कमेटी के अधिकारी जल्द ही अगले दौर की वार्ता करेंगे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, आरक्षण संबंधी बिल को विधानसभा में पारित करवाये जाने पर आरक्षण आंदोलन कर रहे लोगों के प्रतिनिधियों ने वर्तमान सरकार की प्रशंसा की है। जबकि पूर्व सरकारों ने जाटों को केवल गुमराह किया और इस मुद्दे को लटकाने के लिए विधानसभा में आरक्षण संबंधी कोई बिल पारित नहीं होने दिया। आरक्षण मुद्दे पर सरकार के सभी मंत्रियों के एकजुट न होने संबंधी विपक्ष के ब्यानों पर उन्होंने कहा कि यदि सरकार के मंत्री एकजुट न होते तो विधानसभा में आरक्षण का बिल पारित ही नहीं होता। इस अवसर पर उद्योग मंत्री विपुल गोयल, हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम की चेयरपर्सन सुनीता दुग्गल, सिरसा लोकसभा निगरानी समिति के संयोजक भारत भूषण मिड्ढा व जिलाध्यक्ष वेद फुलां सहित क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति व पार्टी के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है