Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

फार्मेसी का निजीकरण किया तो विरोध के लिए तैयार रहे सरकार

फार्मेसी का निजीकरण किया तो विरोध के लिए तैयार रहे सरकार

- Advertisement -

मंडी। जिला के जोगिंद्रनगर में सरकारी क्षेत्र में चल रही फार्मेसी को निजी हाथों में सौंपने जा रही राज्य सरकार को अब विपक्षी दल के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी जोगिंद्रनगर ने सरकार को सख्त लहजे में चेताया है कि अगर फार्मेसी का निजीकरण किया तो फिर इसका सड़कों पर खुले तौर पर विरोध किया जाएगा और सरकार की इस मंशा को किसी भी लिहाज में पूरा नहीं होने दिया जाएगा।

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी जोगिंद्रनगर के अध्यक्ष जीवन ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार के 10 महीनों के कार्यकाल में सांसद के चार वर्षों के कार्यकाल के दौरान जोगिंद्रनगर क्षेत्र को निराशा ही हाथ लगी है। जोगिंद्रनगर में बीते करीब 20 वर्षों से भी अधिक समय से सरकारी क्षेत्र में फार्मेसी चल रही है जहां पर आयुर्वेदा से संबंधित विभिन्न दवाईयां और औषधीय उत्पाद तैयार किए जाते हैं। लेकिन सरकार अब इसका निजीकरण करके इसे ठेकेदारों के हवाले करने की सोच रही है।


जीवन ठाकुर के अनुसार इस संदर्भ में सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। उन्होंने कहा कि सरकार की इस मंशा को किसी भी हाल में पूरा नहीं होने दिया जाएगा और इसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 1200 आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्रों से लगभग 190 दवाईयां गायब हैं और दूसरी तरफ सरकार इतने बड़े संस्थान को निजी हाथों में सौंपने जा रही है। जीवन ठाकुर ने सांसद राम स्वरूप शर्मा को वो वादा भी याद दिलाया जिसके तहत उन्होंने जोगिंद्रनगर में आयुर्वेदा का विश्वविद्यालय खोलने की सपना यहां के लोगों को दिखाया था। अभी तक सरकार इस दिशा में कोई प्रयास नहीं कर पाई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है