Story in Audio

Story in Audio

विज्ञान विषयः रासायनिक अभिक्रियाएं एवं समीकरण

रासायनिक अभिक्रियाएं एवं समीकरण (CHEMICAL REACTIONS AND EQUATIONS)

विज्ञान विषयः  रासायनिक अभिक्रियाएं एवं समीकरण

- Advertisement -

प्रश्न 1. वायु में जलाने से पहले मैग्नीशियम रिबन को साफ क्यों किया जाता है?
(H.P. 2014 Set I, 2015 Set v, 2016 Set I 2015
उत्तर- यदि मैग्नीशियम रिबन नम वायु के संपर्क में रहता है तो उस पर सफेद रंग की मैग्नीशियम ऑक्साइड की पर्त जम जाती है, यह पर्त मैग्नीशियम के जलने में अवरोध पैदा करती है। इसलिए मैग्नीशियम रिबन को पहले रेगमार से साफ किया जाता है।


प्रश्न 2. निम्नलिखित रासायनिक अभिक्रियाओं के लिए संतुलित समीकरण लिखें

(i) हाइड्रोजन + क्लोरीन → हाइड्रोजन क्लोराइड

(H.P. Dec. 2008)

(ii) बेरियम क्लोराइड + एलुमीनियम सल्फेट → बेरियम सल्फेट + एलुमीनियम क्लोराइड

(iii) सोडियम + जल→ सोडियम हाइड्रोक्साइड + हाइड्रोजन

उत्तर-(i) H2 + C12→2HCl

(ii) 3 BaC12 + A12, (SO4)3 →3 BaSO4+ 2 AIC13

(iii) 2 Na + 2 H2O1 → 2 NaOH + H2

प्रश्न 3. निम्नलिखित अभिक्रियाओं के लिए उनकी अवस्था के संकेतों के साथ संतुलित रासायनिक समीकरण लिखें-

(i) जल में बेरियम क्लोराइड तथा सोडियम सल्फेट का विलयन अभिक्रिया करके सोडियम क्लोराइड का विलयन तथा अघुलनशील बेरियम सल्फेट का अवक्षेप बनाते हैं।

(ii) सोडियम हाइड्रोक्साइड का विलयन (जल में) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के विलयन (जल में) से अभिक्रिया करके सोडियम क्लोराइड का विलयन तथा जल बनाते हैं।

उत्तर-(i) BaC12, (aq) + Na2,So4 (aq)→ BaSO4 (s) + 2NaC1 (aq)

(ii) NaOH (aq) + HC1 (aq) → NaC1 (aq) + H2O (1)

 

प्रश्न 1. किसी पदार्थ ‘X’ के विलयन का उपयोग सफेदी करने के लिए होता है।

(i) पदार्थ ‘X’ का नाम तथा इसका सूत्र लिखें।

(ii) ऊपर (i) में लिखे पदार्थ ‘X’ की जल के साथ अभिक्रिया लिखें।

उत्तर- (i) ‘x’ का नाम है-बिना बुझा चूना अर्थात कैल्शियम ऑक्साइड, CaO

(i)         CaO (s)               + H2O (1) →                Ca(OH)2, (aq)

कैल्शियम ऑक्साइड      जल कैल्शियम हाइड्रोक्साइड

 

प्रश्न 2. जल के विद्युत अपघटन में एक परखनली में एकत्रित गैस की मात्रा दूसरी से दोगुनी क्यों है ? उस गैस का नाम बताएं।

उत्तर- जल के विद्युत अपघटन में निम्न अभिक्रिया होती है-

                                                      विद्युत

2H2O (1)        →      2h2 (g)+O2 (g)

अपघटन

इस अभिक्रिया में हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन 2 :1 की मात्रा में मिलती है।

दुगनी पाई जाने वाली गैस हाइड्रोजन है।

प्रश्न 1. जब लोहे की कील को कॉपर सल्फेट के विलयन में डुबोया जाता है तो विलयन का रंग क्यों बदल जाता है?                                                                                                       (H.P. 2009, Set A, 2013 Set A)

उत्तर-जब लोहे की कील को कॉपर सल्फेट के विलयन में डुबोया जाता है तो वह भूरे रंग का हो जाता है। यह कॉपर सल्फेट के घोल में से कॉपर को प्रस्थापित करने की क्षमता रखता है।

Fe (s)            +           Cu SO4              →               FeSO4            +                Cu (s)

आयरन                   कॉपर सल्फेट                    आयरन सल्फेट                        कॉपर

इस अभिक्रिया के दौरान Cu SO4, का नीला रंग धीरे-धीरे फीका होता जाता है।

प्रश्न 2. BaC12, तथा Na2SO4 के बीच की अभिक्रिया से भिन्न द्विविस्थापन अभिक्रिया का एक उदाहरण दें?

उत्तर-        AgNO3 (aq)        +       NaC1 (aq)      →          AgC1 (s)            +      NaNO3 (aq)

सिल्वर नाइट्रेट           सोडियम क्लोराइड          सिल्वर क्लोराइड            सोडियम नाइट्रेट

प्रश्न 3. निम्न अभिक्रियाओं में उपचयित तथा अपचयित पदार्थों की पहचान कीजिए-

  • 4Na(s) +  O2 (g)    →   2Na2O (s)
  • CuO (s) + H2(g)  →   Cu (s)  + H2O (1)

उत्तर- (i) 4Na (s)   +O2 (g)  →  Cu(S)  + H2O(1)

सोडियम (Na) Na2O में उपचयित होता है।

(ii) CuO (S) + H2 (g)  →  Cu(S) + H2O (1)

Cu, कॉपर (H2O) में अपचयित होता है:

H2, जल (H2O) में उपचयित होता है।

अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1. नीचे दी गयी अभिक्रिया के संबंध में कौन-सा कथन असत्य है?

2PbO(s) + C (s)  → 2Pb (s) + CO2 (g)

  • सीसा अपचयित हो रहा है।
  • कार्बन डाइऑक्साइड उपचयित हो रहा है।
  • कार्बन उपचयित हो रहा है।
  • लेड ऑक्साइड अपचयित हो रहा है।
  • (a) एवं (b)
  • (b) (ड्ड) एवं (c)
  • (a), (b) एवं (c)
  • सभी।
उत्तर-(1), (a) एवं, (b)
प्रश्न 2. Fe2 O3 + A12 O3 + 2Fe

ऊपर दी गई अभिक्रिया किस प्रकार की है-

(a)    संयोजन अभिक्रिया

(b)    द्विविस्थापन अभिक्रिया

(c)    वियोजन अभिक्रिया

(d)    विस्थापन अभिक्रिया

उत्तर उपरोक्त अभिक्रिया विस्थापन अभिक्रिया है जिसमें A1, Fe2 O3 के Fe को विस्थापित करता है। इसलिए (d) सही उत्तर है।

प्रश्न 3. लोह चूर्ण पर तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल डालने से क्या होता है? सही उत्तर पर निशान लगाएं।

(a)    हाइड्रोजन गैस एवं आयरन क्लोराइड बनता है।

(b)    क्लोरीन गैस एवं आयरन हाइड्रॉक्साइड बनता है।

(c)    कोई अभिक्रिया नहीं होती है।

(d)    आयरन लवण एवं जल बनता है।

उत्तर उपरोक्त अभिक्रिया इस प्रकार है-

Fe + 2HC1  →  FeC12 + H2

आयरन क्लोराइड

जिसमें H2 और FeC12 मिलते हैं। इसलिए (a) सही उत्तर है।

प्रश्न 4. संतुलित रासायनिक समीकरण क्या है? रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है?                                                                                                                                      (H.P. 2015)

उत्तर यदि किसी रासायनिक अभिक्रिया में अभिकारकों तथा उत्पादों के परमाणुओं की संख्या समान है तो वह संतुलित रासायनिक समीकरण कहलाता है।

समीकरण को संतुलित करना आवश्यक है क्योंकि द्रव्यमान के संरक्षण के नियम के अनुसार किसी भी रासायनिक अभिक्रिया में द्रव्यमान का न तो निर्माण होता है और न ही विनाश। इसके अनुसार दोनों तरफ द्रव्यमान समान होना चाहिए और वह तभी संभव है अगर दोनों तरफ तत्त्वों के परमाणुओं की संख्या समान हों।

प्रश्न 5. निम्न कथनों को रासायनिक समीकरण के रूप में अनुवाद कर उसे संतुलित करें।

(a)    नाइट्रोजन हाइड्रोजन गैस से संयोग करके अमोनिया बनाता है। (H.P. 2015)

(b)    हाइड्रोजन सल्फाइड गैस का वायु में दहन होने पर जल एवं सल्फर डाइऑक्साइड बनता है।

(c)    एलुमिनियम सल्फेट के साथ अभिक्रिया कर बेरियम क्लोराइड, एलुमिनियम क्लोराइड एवं बेरियम सल्फेट का अवक्षेप देता है।

(d)    पोटैशियम धातु, जल के साथ अभिक्रिया करके पोटैशियम हाइड्रॉक्साइड एवं हाइड्रोजन गैस प्रदान करता है।

उत्तर – (a) चरण 1 उपरोक्त कथन के अनुसार-

नाइट्रोजन + हाइड्रोजन →  अमोनिया

चरण 2 – दिए गए कथन का कंकाली रासायनिक समीकरण

N2 + H2  →  NH3

चरण 3– दोनों तरफ परमाणुओं की संख्या को समान करें-

N2(g) +  3H2(g)  →  2NH23(g)

चरण 4 – उपरोक्त अभिक्रिया में परमाणुओं की संख्या को जांचते हैं

LHS                   RHS

N2-परमाणु              2                         2

H2– परमाणु             6                         6

अत: यह इस अभिक्रिया का संतुलित समीकरण है।

 

 (b) चरण 1 – उपरोक्त कथन के अनुसार

हाइड्रोजन (g) सल्फाइड + ऑक्सीजन → जल + सल्फर डाइऑक्साइड

चरण 2 – दिए गए कथन का कंकाली समीकरण-

H2S(g) + O2 → H2O + SO2

चरण 3 – दोनों तरफ परमाणुओं की संख्या को समान करें-

2H2S (g)  + 3O2(g) → 2H2O(1) + 2SO2(g)

चरण 4 – उपरोक्त अभिक्रिया में परमाणुओं की संख्या को दोनों ओर जांच लें-

LHS                   RHS

H                           4                       4

S                            2                       2

O                           6                       6

अत: इस अभिक्रिया का संतुलित रासायनिक समीकरण है।

(c) चरण 1 – उपरोक्त कथन के अनुसार-

एल्यूमीनियम सल्फेट + बेरियम क्लोराइड → एलुमिनियम क्लोराइड + बेरियम सल्फेट

चरण 2 – दिए गए कथन का कंकाली समीकरण-

A12(SO4)3 + BaC12  → A1C13 + BaSO4

चरण 3 – दोनों तरफ परमाणुओं की संख्या को समान करो-

A12 (SO4) + BaC12(s)  → 3BaSO4 ↓+ 2A1C13 (aq)

चरण 4 – उपरोक्त अभिक्रिया में परमाणुओं की संख्या को दोनों ओर जांच लें-

LHS                               RHS

Ba                            3×1=3                            3×1=3

C1                            2×3=6                            2×3=6

A1                                2                                 2×1=1

S                                   3                                 3×1=1

O                               3×4=12                         3×4=12

अत: यह इस अभिक्रिया का संतुलित समीकरण है।

(d) चरण 1-उपरोक्त कथन के अनुसार-

पोटैशियम + जल →   पोटैशियम हाइड्रोक्सॉइड + हाइड्रोजन

चरण 2 – दिए गए कथन का कंकाली समीकरण है-

K + H2 O →  KOH + H2

चरण 3 – दोनो तरफ परमाणुओं को संख्या का समान करन पर-

2K(s) + 2H2O(1) → 2 KOH(aq) + H2(g)

चरण 4 – उपरोक्त अभिक्रिया में परमाणुओं की संख्या को दोनों ओर जांच लें-

LHS                    RHS

K                            2                         2

H                           2                         2

O                           4                         2+2=4

अत: यह इस अभिक्रिया का संतुलित समीकरण है।

प्रश्न 6. निम्न रासायनिक समीकरणों को संतुलित कीजिए-

(a) HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + H2O                       (H.P. 2009, 2011 Set-III)

(b) NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + H2O                         (H.P. 2009, Set B- 2015)

(c) NaC1 + AgNO3 → AgC1 + NaNO3

(d) BaC12 + H2SO4  → BaSO4 + HCL

उत्तर-(a) HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + H2O

यहां Ca है दो तत्वों में, N दो तत्वों में, H तीन तत्वों में और O चार तत्वों में।

पहले Ca, N, H और फिर अंत में O के परमाणुओं की संख्या को समान करेंगे।

Ca परमाणुओं को संतुलित करें तो → Ca के परमाणु दोनों तरफ समान संख्या में हैं (1)

N परमाणुओं को संतुलित करने पर-

LHS                 RHS

N            1                       2

N की संख्या दोनों ओर समान करने के लिए LHS के HNO3 को 2 से गुना कर दें।

इसी प्रकार O तथा H को भी दोनों तरफ संतुलित करें। इस प्रकार संतुलित समीकरण करके उपरोक्त अभिक्रिया होगी-

2HNO3 + Ca (OH)2 → Ca(NO3)2 + 2H2O

जांच करने पर-

परमाणु                 LHS पर संख्या             RHS पर संख्या

H                          2×1+2×1=4                    2×2=4

N                          2×1=2                             2×1=2

O                          2×3+2×1=8                     2×3+2×1=8

Ca                         1                                      1

(b) NaOH + H2SO4 → Na2So4 + H2O

यहां Na दो तत्वों में है, O चार तत्वों में, S दो तत्वों में। इसलिए पहले Na फिर S और H और अंत में O को संतुलित करेंगे।

Na परमाणुओं की संख्या जांचने पर-

LHS                     RHS

Na                      1                        2

इसे संतुलित करने के लिए LHS के NaOH को 2 से गुना करें।

2NaOH + H2SO4 → Na2 SO4 + H2O

S के परमाणुओं की संख्या पहले से ही दोनों तरफ समान है।

H को संतुलित करें-

LHS                     RHS

H                        4                          2

इसे संतुलित करने के लिए RHS में H2O को 2 से गुना करें।

2NaOH + H2SO4 → Na2 SO4 + 2H2O

अब O के परमाणुओं की संख्या को जांचे-

LHS                     RHS

O                        6                          6

तो अब उपरोक्त अभिक्रिया का संतुलित समीकरण है-

2NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + 2H2O

जांच करने पर-

परमाणु             LHS पर संख्या         RHS पर संख्या

Na                              2                                2

O                              2+4=6                      4 +2 = 6

H                              2+2=4                      2×2=4

S                                   1                                1

(c ) NaC1 + AgNO3 → AgC1 + NaNO3

उपरोक्त अभिक्रिया में परमाणुओं की संख्या को जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Na                                      1                                           1

C1                                      1                                           1

Ag                                      1                                           1

N                                        1                                           1

O                                       3                                           3

उपरोक्त अभिक्रिया में दोनों तरफ परमाणुओं की संख्या समान है अत: यह संतुलित समीकरण है।

(d) BaC12 + H2SO4 → BaSo4 + HC1

उपरोक्त अभिक्रिया में हर परमाणु दो तत्वों में है।

C1 की संख्या जांचने पर-

LHS                        RHS

C1               2                            1

इसे संतुलित करने के लिए RHS में HCL को 2 से गुना कर दें।

BaC12 + H2SO4 → BaSO4 + 2H1

Bs, S, O और H के परमाणुओं की संख्या दोनों तरफ पहले से ही समान है।

अत: संतुलित रासायनिक समीकरण है-

BaC12 + H2SO4 → BaSO4 + 2HC1

फिर से उपरोक्त अभिक्रिया को जांचने पर

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Ba                                      1                                           1

C1                                      2                                           2

H                                        2                                           2

S                                        1                                           1

O                                       4                                           4

 

प्रश्न 7. निम्न अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए-

  • कैल्शियम हाइड्रोक्साइड + कार्बन डाइऑक्साइड कैल्शियम कार्बोनेट + जल
  • जिंक + सिल्वर नाइट्रेट जिंक नाइट्रेट + सिल्वर
  • एलुमिनियम + कॉपर क्लोराइड एलुमिनियम क्लोराइड + कॉपर
  • बेरियम क्लोराइड + पोटैशियम सल्फेट बेरियम सल्फेट + पोटैशियम क्लोराइड

उत्तर-(a) चरण-1-उपरोक्त अभिक्रिया का कंकाली रासायनिक समीकरण है-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Ca                                      1                                           1

O                       2×1+2×1=4                         3×1+1×1=4

H                                2×1=2                                  2×1=2

C                             1 in CO2                                  1 in CaCO3

उपरोक्त अभिक्रिया एक संतुलित रासायनिक समीकरण है।

(b) चरण 1कंकाली सासायनिक समीकरण-

Zn + AgNO3 Zn (NO3)2 + Ag

चरण-2– Zn और Ag पहले से ही संतुलित हैं।

N को संतुलित करने के लिए LHS पर AgNO3 को 2 से गुना कर दें।

Zn + 2 Ag NO3  Zn (NO3)2 + Ag

अब Ag के परमाणुओं की संख्या समान करने के लिए RHS पर Ag को 2 से गुना करें।

इससे O अपने आप ही संतुलित हो जाएगा। अब संतुलित रासायनिक समीकरण है-

Zn + 2 Ag NO3  Zn (NO3)2 + 2Ag

चरण-3– जांच करने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Zn                                      1                                           1

Ag                                      2                                           2

N                                        2                                           2

O                                        6                                           6

अत: उपरोक्त अभिक्रिया अब संतुलित रासायनिक समीकरण ही है।

(c) चरण-1-कंकाली रासायनिक समीकरण है।

A1 + CuC12 A1C13 + Cu

चरण-2-उपरोक्त समीकरण को संतुलित करने के लिए-

  • LHS के CuC12 को उसे गुना करें और RHS के A1C13 को 2 से।
  • LHS के A1 को 2 से गुना करें।
  • RHS के Cu को 3 से गुना करें।
  • अत: संतुलित समीकरण होगा-

2A1 + 3 CuC12 2 A1C13 + 3 Cu

चरण-3-जांच करने पर

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

A1                                      2                                           2

Cu                                      3                                           3

C1                                      6                                           6

अत: संतुलित रासायनिक समीकरण है-

2A1 + 3 CuC12 2 A1C13 + 3 Cu

(d)  चरण-1-कंकाली रासायनिक समीकरण है-

BaC12 + K2SO4 BaSO4 + KC1

चरण-2-प्रत्येक परमाणु को संतुलित करने के लिए-

  • RHS के KC1 को 2 से गुना करें।
  • Ba, K, O पहले से ही संतुलित हैं।

अत: अब संतुलित समीकरण होगा

BaC12 + K2SO4 BaSO4 + KCL

चरण-3-जांच करने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Ba                                      1                                           1

C1                                      2                                           2

K                                        2                                           2

S                                         1                                           1

O                                        4                                           4

अत: उपरोक्त संतुलित समीकरण ठीक है।

प्रश्न 8. निम्न अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए एवं प्रत्येक अभिक्रिया का प्रकार बताइए।

(a) पोटैशियम ब्रोमाइड (aq) + बेरियम आयोडाइड (aq)  पोटैशियम आयोडाइड (aq)

+ बेरियम ब्रोमाइड

(b) जिंक कार्बोनेट (s) जिंक ऑक्साइड (s) + कार्बन डाइऑक्साइड (g)

(c) हाइड्रोजन (g) + क्लोरीन (g)   हाइड्रोजन क्लोराइड (g)

(d) मैग्नीशियम (s) + हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (aq)    मैग्नीशियम क्लोराइड (aq) + हाइड्रोजन (g)

उत्तर-(a) चरण-1-कंकाली रासायनिक समीकरण है-

KBr (aq) + Ba I2 (aq) KI (aq) + BaBr2 (aq)

चरण-2-परमाणुओं की संख्या जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

K                                       1                                           1

Br                                     1                                            1

Ba                                     1                                           1

I                                         2                                           2

K तथा Ba पहले से ही संतुलित हैं।

Br और I को संतुलित करने के लिए

(i) LHS पर Kbr को 2 से गुना करें।

(ii) RHS पर KI को 2 से गुना करें।

अत: अब संतुलित समीकरण होगा-

2 KBr (aq) + BaI2 (aq)  2KI (aq) + BaBr2 (aq)

चरण-3-उपरोक्त समीकरण में परमाणुओं की संख्या को फिर से जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Br                                       2                                           2

K                                        2                                            2

Ba                                      1                                           1

I                                         2                                           2

उपरोक्त अभिक्रिया में आयनों का आदान-प्रदान हो रहा है, इसलिए इसको द्विविस्थापन अभिक्रिया कहते हैं।

(b) चरण-1-कंकाली समीकरण है-

ZnCo3 (s) ZnO (s) + CO2 (g)

चरण-2-परमाणुओं की संख्या जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Zn                                      1                                           1

C                                        1                                           1

O                                        3                                           3

उपरोक्त अभिक्रिया पहले से ही संतुलित है। यह वियोजन क्रिया का उदाहरण है।

(c) चरण-1-कंकाली समीकरण हैं-

H2 (g) + C12 (g) HC1 (g)

चरण-2-परमाणुओं की संख्या जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

H                                      2                                           1

C1                                    2                                           1

उपरोक्त समीकरण को संतुलित करने के लिए-

(i)  RHS पर HC1 को 2 से गुना कर दें।

अत: संतुलित समीकरण हैं-

H2( g) + C12 2HC1 (g)

उपरोक्त अभिक्रिया संयुक्त अभिक्रिया का उदाहरण है।

(d) चरण-1-कंकाली समीकरण हैं-

Mg (s) + HC1 (aq) MgC12 (aq) + H2 (g)

चरण-2-परमाणुओं की संख्या जांचने पर-

परमाणु                      LHS पर संख्या                  RHS पर संख्या

Mg                                    1                                           1

H                                      1                                           2

C1                                     1                                           1

उपरोक्त अभिक्रिया को संतुलित करने के लिए-

LHS पर HC1 को 2 से गुना करें। अब संतुलित समीकरण होगा।

Mg (s) + 2HC1 (aq) MgC12 (aq) + H2 (g)

यह अभिक्रिया विस्थापन अभिक्रिया का उदाहरण है।

प्रश्न 9.  ऊष्माक्षेपी एवं ऊष्माशोषी अभिक्रिया का क्या अर्थ है? उदाहरण दें।

उत्तर-ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया (HP 2008, 2013 Set II, III)-जिन अभिक्रियाओं में उत्पाद के साथ ऊष्मा का भी उत्सर्जन होता है उन्हें उष्माक्षेपी अभिक्रिया कहते हैं।

उदाहरण-

(1) प्राकृतिक गैस का दहन-

CH4 (g) + 2O2 (g) CO2 (g) + 2H2 O (1) + ऊष्मा

(2) कोक का दहन-

C (s) + O2 (g) CO2 (g) + ऊष्मा कोक

ऊष्माशोषी अभिक्रिया (HP 2013 Set II, 2014 Set II) -जिन अभिक्रियाओं में ऊष्मा का अवशोषण होता है उन्हें ऊष्माशोषी अभिक्रिया कहते हैं।

उदाहरण-

(1) कोक की भाप के साथ प्रक्रिया-

C (s) + H2O (g) + ऊष्मा   CO (g) + H2 (g)

(2) N2, और O2 की प्रक्रिया-

N2 (g) + O2 (g) ऊष्मा  2NO (g)

नाइट्रिक ऑक्साइड

प्रश्न 10. श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रया क्यों कहते हैं? वर्णन करें।

उत्तर-जीवित रहने के लिए हमें ऊर्जा की आवश्यकता होती है। यह ऊर्जा हमें भोजन से प्राप्त होती है। पाचन क्रिया के दौरान खाद्य पदार्थ छोटे-छोटे टुकड़ों में टूट जाता है। जैसे चावल, आलू तथा ब्रैड में कार्बोहाइड्रेट होता है। इन कार्बोहाइड्रेट के टूटने से ग्लूकोज प्राप्त होता है। यह ग्लूकोज हमारे शरीर के कोशिकाओं में मौजूद ऑक्सीजन से मिलकर हमें ऊर्जा प्रदान करता है। श्वसन इस अभिक्रिया का विशेष नाम है।

C6H12O6 (aq) + 6O2 (aq) 6CO2 (aq) + 6H2O (1) + ऊर्जा

(ग्लूकोज)

प्रश्न 11. वियोजन अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया के विपरीत क्यों कहा जाता है? इन अभिक्रियाओं के लिए समीकरण लिखिए।

उत्तर-संयोजन अभिक्रिया में दो या दो से अधिक पदार्थ मिलकर एक नया पदार्थ प्रदान करता है। वियोजन अभिक्रिया, संयोजन अभिक्रिया के विपरीत होती हैं। वियोजन अभिक्रिया में एकल पदार्थ वियोजित होकर दो या दो से अधिक पदार्थ प्रदान करता है।

संयोजन अभिक्रिया के उदाहरण-

(1)      2 Mg (s)                        +  O2 (g)                             2 MgO (s)

मैग्नीशियम                    ऑक्सीजन मैग्नीशियम  ऑक्साइड

(2)      CaO (s)                        +  H2O (1)                             Ca (OH)2 (aq)

क्विक लाइम                    जल                                     स्लेक्ड लाइम

वियोजन अभिक्रिया के उदाहरण-

                                                               ऊष्मा

(1)          CaO3 (s)          →                CaO (S) + CO2

कैल्सियम कार्बोनेट                      (क्विक लाइम)

                                                               ऊष्मा

(2)          2Pb (NO3)2       →                2PbO (S) + 4NO2 (g) + O2 (g)

लैड नाइट्रेट                                    लैड ऑक्साइड

प्रश्न 12. उन वियोजन अभिक्रियाओं के एक-एक समीकरण लिखें जिनमें ऊष्मा, प्रकाश एवं विद्युत के रूप में ऊर्जा प्रदान की जाती है।

उत्तर-(1) वियोजन अभिक्रिया जिसमें ऊष्मा का प्रयोग होता है-

                                                               ऊष्मा

(2)          CaCo3 (s)         →             CaO (s)              +         CO2 (g)

कैल्सियम कार्बोनेट             क्विक लाइम            कार्बन डाइऑक्साइड

(2) वियोजन क्रिया जिसमें प्रकाश का प्रयोग किया जाता है-

                                                                 प्रकाश

(2)         2 AgC1 (s)          →             2 Ag (s)              +         C12 (g)

सिल्वर क्लोराइड                       सिल्वर                          क्लोरीन

(3) वियोजन क्रिया जिसमें विद्युत के रूप में ऊर्जा प्रदान की जाती है-

                                                                 विद्युत

(2)         2 H2O (1)             →           2 H2 (g)              +         O2 (g)

जल                                  हाइड्रोजन                  ऑक्सीजन

प्रश्न 13. विस्थापन एवं द्विविस्थापन अभिक्रियाओं में क्या अंतर है? इन अभिक्रियाओं के समीकरण लिखें।

उत्तर-विस्थापन अभिक्रिया-जब कोई एक तत्व दूसरे तत्व को उसके यौगिक से विस्थापित कर देता है तो वह विस्थापन अभिक्रिया होती है।

उदाहरण-

(1)         Zn (s)                   +               CuSO4                 →           Zn SO4 (aq)              +           Cu (s)

जिंक                            कॉपर सल्फेट                            जिंक सल्फेट                           कॉपर

(2)         C1 2(g)                   +               2KI (aq)                 →           2 KC1 (aq)              +           I2 (aq)

क्लोरीन                    पोटैशियम आयोडाइड                 पोटैशियम क्लोराइड             आयोडीन

द्विविस्थापन अभिक्रिया-विविस्थापन अभिक्रिया में दो अलग-अलग परमाणु या परमाणुओं के समूह (आयन) का आपस में आदान-प्रदान होता है।

उदाहरण-

(1)         BaC12(aq)                   +               Na2SO4 (aq)                →           BaSO4 (s)              +           NaNO3 (aq)

बेरियम क्लोराइड                         सोडियम सल्फेट                       बेरियम सल्फेट            सोडियम क्लोराइड

(1)         AgNO3 (aq)                   +             NaC1 (aq)                →           AgC1 (s)              +           NaNO3 (aq)

सिल्वर नाइट्रेट                      सोडियम क्लोराइड                     सिल्वर क्लोराइड              सोडियम नाइट्रेट

उपरोक्त उदाहरण विस्थापन और द्विविस्थापन अभिक्रियाओं का अंतर स्पष्ट करते हैं।

—————–

प्रश्न 14. सिल्वर के शोधन में, सिल्वर नाइट्रेट के विलयन से सिल्वर प्राप्त करने के लिए कॉपर धातु द्वारा विस्थापन किया जाता है। इस प्रक्रिया के लिए अभिक्रिया लिखिए।

उत्तर-  Cu (s)      +        2 Ag NO3 (ag)               Cu (NO3)2 (aq)  +   2Ag (s)

कॉपर                सिल्वर नाइट्रेट                       कॉपर नाइट्रेट          सिल्वर

प्रश्न 15. अवक्षेपण अभिक्रिया से आप क्या समझते हैं? उदाहरण देकर समझाएं।  (HP 2016 Set III)

उत्तर-जब दो विलयनों को मिलाया जाता है और उनकी अभिक्रिया से श्वेत रंग के एक पदार्थ का निर्माण होता है जो जल में अविलेय है,  इस अविलेय पदार्थ को अवक्षेप कहते हैं। जिस अभिक्रिया में अवक्षेप का निर्माण होता है उसे अवक्षेपण अभिक्रिया कहते हैं।

Na2SO4 (aq)        +       BaC12 (aq)                    BaSO4 (s)        +    2NaC1(aq)

(सोडियम सल्फेट)        (बेरियम क्लोराइड)       (बेरियम सल्फेट)   (सोडियम क्लोराइड)

Ba2+ तथा SO42- की अभिक्रिया से BaSO4 के अवक्षेप का निर्माण होता है।

प्रश्न 16. ऑक्सीजन के योग या ह्रास के आधार पर निम्न पदों की व्याख्या करें। प्रत्येक के लिए दो उदाहरण दें-

(a) उपचयन (b) अपचयन।   (HP 2014 Set C)

उत्तर-(a) उपचयन-किसी अभिक्रिया में पदार्थ का उपचयन तब होता है जब उसमें ऑक्सीजन की वृद्धि या हाइड्रोजन का ह्रास होता है।

उदाहरण-

(1)          2Mg (s)          +             O2 (g)                                         2MgO (s)

मैग्नीशियम                     ऑक्सीजन                                 मैग्नीशियम ऑक्साइड

(2)         CuO (s)            +             H2 (g)                                          Cu (s) + H2O (g)

कॉपर ऑक्साइड               हाइड्रोजन                                                    कॉपर जल

यहां H2 में O2 की वृद्धि अर्थात H2 के साथ O2 ने मिल कर जल बनाया है।

(b) अपचयन-पदार्थ का अपचयन तब होता है जब उसमें ऑक्सीजन का ह्रास या हाइड्रोजन की वृद्धि होती है।

उदाहरण-

ऊष्मा

(1)        ZnO (s)                    +                C(s)                       Zn (s)                      +            CO (g)

जिंक ऑक्साइड                           कार्बन                          जिंक                        कार्बन मोनोऑक्साइड

ऊष्मा

(1)        Fe2O3 (s)                    +              A1                        2Fe (s)                      +            A12 O3 (s)

फैरिक ऑक्साइड                   एलुमिनियम                   आयरन                      एलुमिनियम ऑक्साइड

प्रश्न 17. एक भूरे रंग का चमकदार तत्व ‘X’ को वायु की उपस्थिति में गर्म करने पर वह काले रंग का हो जाता है। इस तत्व ङ्गएवं उस काले रंग के यौगिक का नाम बताएं।

उत्तर-यह तत्व ‘X’ कॉपर है क्योंकि कॉपर ही एक भूरे रंग का चमकदार तत्व है जो वायु की उपस्थिति में गर्म करने पर काले रंग का हो जाता है, क्योंकि यह O2 के साथ अभिक्रिया करके कॉपर ऑक्साइड बनाता है।

ऊष्मा

2Cu (s)         +         O2 (g)                                     2CuO (s)

कॉपर                    ऑक्सीजन                              कॉपर (II) ऑक्साइड

(वायु में)                                             (काला)

प्रश्न 18. लोहे की वस्तुओं को हम क्यों पेंट करते हैं?                         (HP 2009, Set B, 2015)

उत्तर-पेंट करने से लोहे के पदार्थ का ऊपरी भाग छुप जाता है। वह वायु के साथ सीधे संपर्क में नहीं आता जिसके कारण उसमें जंग नहीं लगता। इसलिए पेंट करने से हम लोहे के उस पदार्थ को जंग लगने से बचा सकते हैं।

प्रश्न 19. तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थ को नाइट्रोजन से प्रभावित क्यों किया जाता है?

                                                                            (H.P. 2009, Set C, 2011 Set II, 2012 Set A, 2013 Set III, 2015)

उत्तर-तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थ को वायुरोधी बर्तनों में रखने से उपचयन की गति धीमी हो जाती है। तेल एवं वसायुक्त पदार्थ को नाइट्रोजन से भी इसीलिए युक्त किया जाता है ताकि उसमें उपचयन न हो सके।

प्रश्न 20. निम्न पदों का वर्णन करें तथा प्रत्येक का एक-एक उदाहरण दें-

(a) संक्षारण (HP 2008) (b) विकृत गंधिता।    (HP 2015)

उत्तर-(a) संक्षारण-लोहे की बनी हुई वस्तुएं चमकीली होती हैं लेकिन कुछ समय पश्चात उन पर लालिमायुक्त भूरे रंग की परत चढ़ जाती है। आमतौर पर इस प्रक्रिया को लोहे पर जंग लगना कहते हैं। कुछ अन्य धातुओं में भी ऐसा ही परिवर्तन होता है। जब कोई धातु अपने आसपास अम्ल, नमी आदि के संपर्क में आती है तब ये संक्षारित होती हैं और इस प्रक्रिया को संक्षारण कहते हैं। चांदी के ऊपर काली परत और तांबे के ऊपर हरी परत चढऩा, संक्षारण के उदाहरण हैं।

संक्षारण के कारण कार के ढांचे, पुल, जहाज तथा धातु, विशेषकर लोहे से बनी वस्तुओं की बहुत क्षति होती है।

(b) विकृत गंधिता-वसायुक्त अथवा तैलीय खाद्य सामग्री जब लंबे समय तक रखा जाता है तब उसका स्वाद या गंध में परिवर्तन आ जाता है। उपचयित होने पर तेल और वसा विकृत गंधी हो जाते हैं तथा उनके स्वाद तथा गंध बदल जाते हैं। आमतौर पर तैलीय तथा वसायुक्त खादय सामग्रियों में उपचयन रोकने वाले पदार्थ (प्रति ऑक्सीकारक) मिलाये जाते हैं। वायुरोधी बर्तनों में खाद्य सामग्री रखने से उपचयन की गति धीमी हो जाती है। क्या आप जानते हैं कि चिप्स बनाने वाले चिप्स की थैली को नाइट्रोजन जैसे गैस से युक्त कर देते हैं ताकि चिप्स का उपचयन न हो सके और उन्हें देर तक संरक्षित रखा जा सके।

अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्न

(OTHER IMPORTANT QUESTIONS)

दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

(Long Answer Type Questions)

प्रश्न 1. रासायनिक समीकरण किस प्रकार लिखा जाता है?

उत्तर-शब्दों की अपेक्षा रासायनिक सूत्र का उपयोग करके रासायनिक समीकरणों को अधिक संक्षिप्त तथा उपयोगी बनाया जा सकता है। रासायनिक समीकरण किसी रासायनिक अभिक्रिया को दर्शाता है। मैग्नीशियम, ऑक्सीजन तथा मैग्नीशियम ऑक्साइड के शब्द सूत्रों को समीकरण द्वारा इस प्रकार लिखा जा सकता है।

Mg                    +                        O2                                           MgO

(मैग्नीशियम)                         (ऑक्सीजन)                    मैग्नीशियम ऑक्साइड

तीर के निशान के बायीं और दाईं ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या की गिनती कर उनकी तुलना करें।

यदि तीर के निशान के दोनों ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या बराबर हो तो समीकरण संतुलित है। यदि ऐसा नहीं है तो समीकरण असंतुलित है। क्योंकि दोनों ओर का द्रव्यमान बराबर नहीं है। किसी अभिक्रिया का ऐसा रासायनिक समीकरण कंकाली रासायनिक समीकरण कहलाता है।

रासायनिक समीकरण के विभिन्न उदाहरण-

2 Na + C1                                2 Na C1

Cu + 2 Ag NO2                        Cu (NO3)2 + Ag

Fe2O3 + 3CO                           2Fe + 3CO2

MgO(g) + C (s)                        Co(g)  + Mg (s)

प्रश्न 2. संतुलित रासायनिक समीकरण को किस प्रकार लिखा जाता है?

उत्तर-संतुलित रासायनिक समीकरण को लिखने के तरीके के बारे में जानने के लिए एक उदाहरण लेते हैं।

जिंक + सल्फ्यूरिक अम्ल जिंक सल्फेट + हाइड्रोजन

इस समीकरण को निम्नलिखित रासायनिक समीकरण से प्रकट किया जा सकता है।

Zn + H2 SO4         ZnSO4 + H2

तीर के निशान के दोनों ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या की जांच कर लें।

तत्व

 

अभिकारकों में परमाणुओं  की संख्या (LHS) उत्पाद में परमाणुओं

की संख्या (RHS)

Zn

H

S

O

1

2

1

4

1

2

1

4

समीकरण में, तीर के चिह्न के दोनों तरफ के प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या बराबर है इसलिए यह एक संतुलित रासायनिक समीकरण है।

अब निम्नलिखित रासायनिक समीकरण को संतुलित करने का प्रयत्न करते हैं-

Fe            +             H2O                     Fe3 O4              +           H2

चरण 1. रासायनिक समीकरण को संतुलित करने के लिए सबसे पहले प्रत्येक सूत्र के चारों ओर एक बॉक्स बना लें। समीकरण को संतुलित करते समय बॉक्स के अंदर कुछ भी बदलाव न करें।

Fe
H2O
Fe3O4
H2

+                                     →                                    +

चरण 2. असंतुलित समीकरण में उपस्थित विभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या की सूची बनाइए-

तत्व

 

अभिकारकों में परमाणुओं  की संख्या (LHS) उत्पाद में परमाणुओं

की संख्या (RHS)

Fe

H

O

1

2

1

3

2

4

 

चरण 3. सबसे अधिक परमाणु वाले यौगिक को पहले संतुलित करें चाहे वह अभिकारक हो या उत्पाद। उस यौगिक में सबसे अधिक परमाणु वाले तत्व को चुन लें। इस आधार पर हम Fe3O4, और उसके ऑक्सीजन तत्व को चुन लेते हैं। दायीं ओर ऑक्सीजन के चार परमाणु हैं और बायीं ओर केवल एक। ऑक्सीजन परमाणु को संतुलित करने के लिए-

ऑक्सीजन के परमाणु अभिकारकों में उत्पाद में
(i) प्रारंभ में

(ii) संतुलन के

1 (H2O में)

1×4

4(Fe3O4 में)

2

परमाणुओं की संख्या को बराबर करने के लिए हम अभिक्रिया में शामिल तत्वों तथा यौगिकों के सूत्रों को नहीं बदल सकते हैं। जैसे-ऑक्सीजन परमाणु को संतुलित करने के लिए हम ‘4’ गुणांक लगाकर 4 H2O लिख सकते हैं लेकिन H2O4 या (H2O) नहीं।

Fe
H2O
Fe3O4
H2

+ 4                                    →                                  +

 

आंशिक रूप से संतुलित समीकरण अब इस प्रकार होगा-

चरण 4. Fe तथा H परमाणु अब भी असंतुलित हैं। इनमें किसी एक तत्व को चुनकर आगे बढ़ते हैं। हाइड्रोजन परमाणु को बराबर करने के लिए दायीं ओर हाइड्रोजन अणु की संख्या को ‘4’ कर देते हैं।

हाइड्रोजन के परमाणु अभिकारकों में उत्पादों में
प्रारंभ में

संतुलन के लिए

18 (4H2O में)

8

2 (H2 में)

2×4

अब समीकरण इस प्रकार होगा-

Fe
H2O
Fe3O4
H2

+          4                                   +

 

चरण 5. ऊपर दिए समीकरण की जांच करें तथा तीसरा तत्व चुन लें जो अब तक असंतुलित है। आप पाएंगे कि केवल लोहा ही एक तत्व है, जिसे संतुलित करना शेष है।

लोहा (आयरन) परमाणु अभिकारकों में उत्पादों में
(i) प्रारंभ में

(ii) संतुलन के लिए

1 (Fe में)

1×3

3 (Fe3O4 में)

3

Fe को संतुलित करने के लिए बायीं ओर हम Fe के 3 परमाणु लेते हैं।

Fe
H2O
Fe3O4
H2

3   +     4                +    4

 

चरण 6. अंत में, इस संतुलित समीकरण की जांच के लिए समीकरण में दोनों ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या की गिनती करते हैं।

3Fe + 4 H2O        Fe3O4 + 4 H2                                                                                            (संतुलित समीकरण)

समीकरण में दोनों ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या बराबर है। अत: यह समीकरण अब संतुलित है। रासायनिक समीकरणों को संतुलित करने की इस विधि को हिट एंड ट्रायल विधि कहते हैं क्योंकि सबसे छोटी पूर्णांक संख्या के गुणांक का उपयोग करके समीकरण को सुंतलित करने का प्रयत्न करते हैं।

चरण 7. भौतिक अवस्थाओं के संकेत लिखना-ऊपर लिखे संतुलित समीकरण में भौतिक अवस्था की कोई जानकारी नहीं है।

रासायनिक समीकरण को अधिक सूचनापूर्ण बनाने के लिए अभिकारकों तथा उत्पादों के रासायनिक सूत्र के साथ उनकी भौतिक अवस्था को भी दर्शाया जाता है। अभिकारकों तथा उत्पादों के ठोस, गैस, द्रव तथा जलीय अवस्थाओं को क्रमश: (s), (g), (1) तथा (aq) से दर्शाया जाता है। अभिकारक या उत्पादों जब जल में घोल के रूप में उपस्थित रहता है तब (aq) लिखते हैं।

अत: संतुलित समीकरण इस प्रकार होगा-

3Fe(s) + 4H2O (g)     →    Fe3O4 (S) + 4H2 (g)

H2O के साथ (g) चिह्न का उपयोग किया गया है जो यह स्पष्ट करता है कि इस अभिक्रिया में जल का उपयोग भाप के रूप में किया गया है। आमतौर पर रासायनिक समीकरण में भौतिक अवस्था को शामिल नहीं किया जाता है, जब तक कि यह आवश्यक न हो।

कभी-कभी अभिक्रिया की परिस्थिति जैसे तापमान, दाब, उत्प्रेरक आदि को भी तीर के निशान के ऊपर या नीचे दर्शाया जाता है। जैसे-

340atm

CO(g) + 2H2 (g)      →      Ch3OH(1)

प्रश्न 3. रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार उदाहरण सहित लिखो।                    (HP 2014 Set II)

उत्तर-रासायनिक अभिक्रिया के दौरान किसी एक तत्व का परमाणु दूसरे तत्व के परमाणु में नहीं बदलता है। न ही कोई परमाणु मिश्रण से बाहर जाता है या बाहर से मिश्रण में आता है। वास्तव में, किसी रासायनिक अभिक्रिया में परमाणुओं के आपसी आबंध के टूटने और जुडऩे से नए पदार्थों का निर्माण होता है।

1.संयुक्त अभिक्रिया-ऐसी अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अभिकारक मिलकर एकल उत्पाद का निर्माण करते हैं उसे संयुक्त अभिक्रिया कहते हैं।

जैसे-कैल्सियम ऑक्साइड जल के साथ तीव्रता से अभिक्रिया करके बुझे हुए चूने (कैल्सियम हाइड्रोक्साइड) का निर्माण करके अत्यधिक मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करता है।

CaO(s)                 +           H2O(1)            →              Ca(OH)2(aq)

(बिना बुझा हुआ चूना)                                                          (बुझा हुआ चूना)

इस अभिक्रिया में कैल्सियम ऑक्साइड तथा जल मिलकर एकल उत्पाद, कैल्सियम हाइड्रोक्साइड बनाते हैं।

2.वियोजन अभिक्रिया-वह अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक पदार्थ मिलकर एक नया पदार्थ प्रदान करता है।

वियोजन अभिक्रिया के उदाहरण-

ऊष्मा

(1)               CaCO3(s)              →         CaO(s)                 +     CO2

(कैल्सियम कार्बोनेट)                                      (कैल्सियम ऑक्साइड)

ऊष्मा

(1)               2Pb(NO3)2            →        2Pb O (s) + 4No2(g) + O2(g)

लैड नाइट्रेट                                    लैड ऑक्साइड

  1. विस्थापन अभिक्रिया-जब कोई तत्व दूसरे तत्व को उसके यौगिक से विस्थापित कर देता है तो वह विस्थापन अभिक्रिया होती है।

उदाहरण-

Zn(s)              +         CuSO4(aq)                        Zn SO4 (aq)        +    Cu (S)

जिंक                         (कॉपर सल्फेट)                             (जिंक सल्फेट)                (कॉपर)

C12(q)            +          2KI (aq)                              2KC1 (aq)           +     I2 (S)

(क्लोरीन) गैस            (पोटाशियम आयोडाइड)               (पोटाशियम क्लोराइड)         (आयोडीन)

  1. द्विविस्थापन अभिक्रिया-द्विविस्थापन अभिक्रिया में दो अलग-अलग परमाणु या परमाणुओं के समूह का आपस में आदान-प्रदान होता है।

उदाहरण-

(i)            BaC12               +         Na2SO4                        BaSO4         +      2 NaC1

(बेरियम क्लोराइड)        (सोडियम सल्फेट)                 (बेरियम सल्फेट)     (सोडियम क्लोराइड)

(Model Q. Paper H.P. 2009)

(ii)            AgNO3            +          NaC1                            AgC1          +       Na NO3

(सिल्वर नाइट्रेट)      (सोडियम क्लोराइड)               (सिल्वर क्लोराइड)    (सोडियम नाइट्रेट)

प्रश्न 4. उपचयन एवं अपचयन की उदाहरण सहित संक्षेप में व्याख्या कीजिए-

उत्तर-किसी अभिक्रिया में पदार्थ का उपचयन तब होता है जब उसमें ऑक्सीजन की वृद्धि या हाइड्रोजन का ह्रास होता है इसके विपरीत पदार्थ का अपचयन तब होता है जब उसमें ऑक्सीजन का ह्रास या हाइड्रोजन की वृद्धि होती है।

उदाहरण-कॉपर चूर्ण के सतह पर कॉपर ऑक्साइड (II) की काली परत चढ़ जाती है। यह काला पदार्थ क्यों बना?

यह कॉपर ऑक्साइड कॉपर में ऑक्सीजन के योग से बना है।

                                               ताप

2Cu + O2               2CuO

यदि इस गर्म पदार्थ के ऊपर हाइड्रोजन गैस प्रवाहित की जाए तो सतह की काली परत भूरे रंग की हो जाती है क्योंकि इस स्थिति में विपरीत अभिक्रिया होती है तथा कॉपर प्राप्त होता है।

                                                                ताप

CuO + H2                   Cu + H2O

अभिक्रिया के दौरान जब किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की वृद्धि होती है तो कहते हैं कि उसका उपचयन हुआ है और जब अभिक्रिया में किसी पदार्थ में ऑक्सीजन का ह्रास होता है तो कहते हैं कि उसका अपचयन हुआ है।

अभिक्रिया में कॉपर (II) ऑक्साइड में ऑक्सीजन का ह्रास हो रहा है, इसलिए यह अपचयित हुआ है। हाइड्रोजन में ऑक्सीजन की वृद्धि हो रही है, इसलिए यह उपचयित हुआ है। अर्थात, किसी अभिक्रिया में एक अभिकारक उपचयित तथा दूसरा अभिकारक अपचयित होता है। इन अभिक्रियों को उपचयन-अपचयन अथवा रेडॉक्स अभिक्रिया कहते हैं।

                                                           अपचयन

                                                                ताप

CuO + H2                   Cu + H2O

                                                                        अपचयन

रेडॉक्स अभिक्रिया के कुछ अन्य उदाहरण हैं-

ZnO + C   →  Zn + CO

MnO2 + 4 HC1 MnC12 + 2H2O + C12

अभिक्रिया में कार्बन उपचयित होकर CO तथा ZnO अपचयित होकर्र Zn बनता है।

अभिक्रिया में HC1, C12 में उपचयित तथा MnO2, MnC12 में अपचयित हुआ है।

 

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

(Short Answer Type Questions)

प्रश्न 1. एक पूर्ण रासायनिक समीकरण क्या प्रदर्शित करता है और रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है?

उत्तर-एक पूर्ण रासायनिक समीकरण, अभिकारक, उत्पाद एवं प्रतीकात्मक रूप से उनकी भौतिक अवस्था को प्रदर्शित करता है।

रासायनिक समीकरण को संतुलित किया जाता है जिससे समीकरण में अभिकारक तथा उत्पाद, दोनों ही ओर, रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले प्रत्येक परमाणु की संख्या समान हो। समीकरण का संतुलित होना आवश्यक है।

प्रश्न 2. हमारे दैनिक जीवन की दो परिस्थितियों का उदाहरण देकर स्पष्ट करें कि हमारे दैनिक जीवन में भी रासायनिक परिवर्तन होते हैं?

उत्तर-(1) अंगूर का किण्वन (Fermentation) हो जाता है।

(2) हमारा शरीर भोजन को पचा लेता है।

(3) गर्मियों में कमरे के ताप पर दूध छोड़ देने पर उसमें परिवर्तन होता है।

प्रश्न 3. संतुलित और कंकाली रासायनिक समीकरण में अंतर स्पष्ट करें।

उत्तर-संतुलित समीकरण-यदि रासायनिक अभिक्रिया के पहले और पश्चात प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या समान रहती है तो उसे संतुलित रासायनिक समीकरण कहते हैं।

कंकाली रासायनिक समीकरण-यदि अभिक्रिया में पहले और पश्चात प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या समान न हो तो वह कंकाली समीकरण कहलाता है।

प्रश्न 4. संतुलित और कंकाली समीकरण का एक-एक उदाहरण दें।                                                       (H.P. 2015)

उत्तर–      2KC1 + O2     2KC1 (S) + 3O2 (g)

यह संतुलित समीकरण का उदाहरण है।

Zn + AgNO3 (aq) →  Zn(NO3)2 + Ag

यह कंकाली समीकरण का उदाहरण है।

प्रश्न 5. रासायनिक समीकरण को संतुलित करने की विधि को हिट एंड ट्रायल विधि क्यों कहते हैं?

उत्तर-इसे हिट एंड ट्रायल विधि इसलिए कहते हैं क्योंकि इसमें सबसे छोटी पूर्णांक संख्या के गुणांक का उपयोग करके समीकरण को संतुलित करने का प्रयत्न करते हैं।

प्रश्न 6. CO2 और H2O के बीच होने वाली अभिक्रिया जिससे हमें C6H12O6 और O2 मिलते हैं किन परिस्थितियों में पूर्ण होती है?

उत्तर-इस अभिक्रिया के लिए आवश्यक परिस्थितियां हैं-

(1) सूर्य प्रकाश की उपस्थिति

(2) क्लोरोफिल की उपस्थिति।

प्रश्न 7. संयुक्त अभिक्रिया की परिभाषा उदाहरण सहित समझाइए।

उत्तर-संयुक्त अभिक्रिया-ऐसी अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अभिकारक मिलकर एकल उत्पाद का निर्माण करते हैं उसे संयुक्त अभिक्रिया कहते हैं।

उदाहरण-        CaO(s)              +              H2O(1)            →           Ca(OH)2(aq)

बिना बुझा हुआ चूना                       जल                               बुझा हुआ चूना

प्रश्न 8. बुझे हुए चूने का रासायनिक सूत्र और उसका एक उपयोग बताएं।                               (H.P. 2015)

उत्तर-रासायनिक सूत्र  Ca(OH)2

बुझे हुए चूने के विलयन का उपयोग दीवारों की सफेदी करने के लिए होता है।

प्रश्न 9. सफेदी करने के दो-तीन दिन बाद चमक क्यों आ जाती है?

उत्तर-कैल्सियम हाइड्रोक्साइड वायु में उपस्थित कार्बन डाइऑक्साइड के साथ धीमी गति से अभिक्रिया करके दीवारों पर कैल्सियम कार्बोनेट की एक पतली परत बना देता है। सफेदी करने के दो-तीन दिन बाद कैल्सियम कार्बोनेट का निर्माण होता है और इससे दीवारों पर चमक आ जाती है।

प्रश्न 10. संगमरमर का रासायनिक सूत्र तथा उसके बनने की अभिक्रिया बताइए। उत्तर-संगमरमर को कैल्सियम कार्बोनेट भी कहते हैं।

इसका रासायनिक सूत्र है- Ca CO3

इसके बनने की अभिक्रिया-

Ca(OH)2 (aq) + CO2   CaCO3 (s) + H2O

कैल्सियम कार्बोनेट

प्रश्न 11. कोयले का दहन तथा जल का निर्माण किस प्रकार की अभिक्रियाएं हैं? इनका संतुलित समीकरण दर्शाइए।

उत्तर-

  1. कोयले का दहन

C (s) + O2 (g)   CO2 (g)

  1. H2 तथा O2 से जल का निर्माण-

2 H2 (g)  + O2 (g)   →   2 H2O (1)

प्रश्न 12. ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया की परिभाषा तथा दो उदाहरण दीजिए। (H.P. 2013 Set II)

उत्तर-ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया (Exothermic Reaction)-जिन अभिक्रियाओं में उत्पाद के निर्माण के साथ-साथ ऊष्मा भी उत्पन्न होती है उन्हें ऊष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं। A + B C + D + ऊष्मा

इन अभिक्रियाओं में अभिकारकों की कुल ऊर्जा उत्पादों की कुल ऊर्जा से अधिक होती है।

अभिकारकों की ऊर्जा > उत्पादों की ऊर्जा

ऊष्माक्षेपी अभिक्रियाओं के कुछ अन्य उदाहरण हैं-

(i) प्राकृतिक गैस का दहन-

CH4(g) + 2O2 (g)        CO2 (g) + 2H2O (g) + ऊर्जा

(ii) साग-सब्जियों का विघटित होकर कंपोस्ट बनाना भी ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया का ही उदाहरण है।

प्रश्न 13. ऊष्माशोषी अभिक्रियाओं की उदाहरण सहित परिभाषा दीजिए।             (HP. 2013 Set-I)

उत्तर-ऊष्माशोषी अभिक्रिया (Endothermic Reaction)-जिन अभिक्रियाओं में ऊष्मा का अवशोषण होता है उन्हें ऊष्माशोषी अभिक्रियाएं कहते हैं।

A +B ऊष्मा C + D

इस अभिक्रिया में अभिकारकों की कुल ऊर्जा उत्पादों की कुल ऊर्जा से कम होती है।

अभिकारकों की ऊर्जा < उत्पादों की ऊर्जा

उदाहरण-

(1) कोक की भाप के साथ अभिक्रिया-

C(s) + H2O (g) + ऊष्मा    →   CO (g) + H2 (g)

(2) N2 और O2 (g) की प्रक्रिया-

N2(g) + O2 (g) + ऊष्मा  2NO (g)

प्रश्न 14. वियोजन अभिक्रिया संयोजन अभिक्रिया से किस प्रकार अलग है?

उत्तर-संयोजन अभिक्रिया में दो या दो से अधिक पदार्थ मिलकर एक नया पदार्थ बनाते हैं जबकि वियोजन अभिक्रिया इसके विपरीत है। वियोजन अभिक्रिया में एकल पदार्थ वियोजित होकर दो या दो से अधिक पदार्थ प्रदान करता है।

प्रश्न 15. वियोजन अभिक्रिया के दो उदाहरण दीजिए।

ऊष्मा

उत्तर-(1)       2 Fe SO4 (s)         Fe 2 O3 (s) + SO2 (g) + SO3 (g)

फेरस सल्फेट                    फेरिक ऑक्साइड

ऊष्मा

        (2)       CaCO3 (s)              CaO (s) + CO2 (g)

चूना पत्थर                       बुझा हुआ चूना

प्रश्न 16. विस्थापन अभिक्रिया की परिभाषा तथा उदाहरण दीजिए।

उत्तर-जब कोई तत्व दूसरे तत्व को उसके यौगिक से विस्थापित कर देता है तो वह विस्थापन अभिक्रिया होती है।

(1)             Zn(s)                  +             CuSO4 (aq)                      ZnSO4 (aq)               +         Cu (s)

जिंक                                 कॉपर सल्फेट                       जिंक सल्फेट                           कॉपर

उपरोक्त उदाहरण में Zn कॉपर से ज्यादा क्रियाशील है इसलिए वह कॉपर सल्फेट से कॉपर का विस्थापन करके स्वयं सल्फेट के साथ जिंक सल्फेट बनाता है।

प्रश्न 17. द्विविस्थापन अभिक्रिया की परिभाषा तथा उदाहरण दीजिए।

उत्तर-द्विविस्थापन अभिक्रिया-वैसी अभिक्रियाएं जिनमें अभिकारकों के बीच आयनों का आदान-प्रदान होता है उन्हें द्विविस्थापन अभिक्रिया कहते हैं।

उदाहरण-

       BaC12 (aq)          +                  Na2SO4 (aq)                     BaSO4 (s)              +            2NaC1

बेरियम क्लोराइड                       सोडियम सल्फेट                   बेरियम सल्फेट               सोडियम क्लोराइड

उपरोक्त अभिक्रिया में C1 तथा So4-2 आयनों का आदान-प्रदान हो रहा है इसलिए यह द्विविस्थापन अभिक्रिया का उदाहरण है।

प्रश्न 18. उपचयन तथा अपचयन में क्या अंतर है?

उत्तर-अभिक्रिया में पदार्थों से ऑक्सीजन या हाइड्रोजन का योग अथवा ह्रास भी होता है। ऑक्सीजन का योग या हाइड्रोजन का ह्रास ऑक्सीकरण या उपचयन कहलाता है। ऑक्सीजन का ह्रास या हाइड्रोजन का योग अपचयन कहलाता है।

प्रश्न 19. MnO2 + 4HC12  →   Mn C12 + 2H2O +C12

उपरोक्त अभिक्रिया में उपचयन तथा अपचयन अभिक्रियाएं दर्शाएं तथा उपरोक्त अभिक्रिया जिसमें उपचयन तथा अपचयन दोनों अभिक्रियाएं हो रही हों उसे क्या कहते हैं?

उत्तर-

अपचयन

                              MnO2 + 4HC1  →   MnC12 + 2 H2O +C12

                                                                      अपचयन

इस अभिक्रिया को रेडॉक्स अभिक्रिया भी कहते हैं।

                                                                  

प्रश्न 20.   Pb (No3)2 (s)       …………… + 4 No2 (g) + O2 (g)

नाइट्रोजन डाइऑक्साइड

उपरोक्त अभिक्रिया को पूरा करें तथा उत्पाद का रंग भी बताएं।

उत्तर-उपरोक्त अभिक्रिया है-

                                                                  

Pb (No3)2 (s)   →    …………… + PbO + 4 No2 + O2

लैड ऑक्साइड

यह उत्पाद PbO पीले रंग का है।

प्रश्न 21. निम्न विलयनों के रंग बताइए।

(1)  FeSO4     (2) CuSO4

उत्तर- FeSO4 – हरे रंग का होता है।

CuSO4 –  नीले रंग का होता है।

प्रश्न 22. निम्नलिखित अभिक्रियाओं को पूरा करें-

(1)  Cu (sS) + 2 Ag No3   ? + 2 Ag (s)

                                                     सिल्वर

(2) Mg (s) + Cu SO4 (aq)    ? + Cu (s)

और बताएं कि यह किस प्रकार की अभिक्रियाएं हैं?

उत्तर-पूर्ण अभिक्रियाएं हैं-

(1) Cu (s) + 2 Ag No3  →  Cu (NO3)2 + 2 Ag (s)

सिल्वर

(2) Mg (s) + Cu SO4 (aq)  →  Mg SO4 (aq) + Cu (s)

प्रश्न 23. मैग्नीशियम रिबन का दहन करने पर क्या मिलता है और इस मिलने वाले उत्पाद का क्या रंग होता है? उत्तर-मैग्नीशियम रिबन के दहन की अभिक्रिया-

2 Mg (s) + O2 (g) →  2 MgO (s)

मैग्नीशियम ऑक्साइड

MgO का रंग सफेद है।

प्रश्न 24. संक्षारण किसे कहते हैं?

उत्तर-जब कोई धातु अपने आसपास अम्ल, नमी आदि के संपर्क में आती है तब ये संक्षारित होती है और इस अभिक्रिया को संक्षारण कहते हैं।

प्रश्न 25. संक्षारण के दो उदाहरण दीजिए।

उत्तर-संक्षारण के उदाहरण हैं-

(1) चांदी के ऊपर वाली परत

(2) तांबे के ऊपर हरी परत।

प्रश्न 26. जंग लगना किसे कहते हैं? जंग का रासायनिक सूत्र लिखिए। इससे होने वाली हानि क्या है?

उत्तर-लोहे की बनी नई वस्तुएं चमकीली होती हैं लेकिन कुछ समय पश्चात उन पर लालिमा युक्त भूरे रंग की परत चढ़ जाती है। आमतौर पर इस प्रक्रिया को लोहे पर जंग लगना कहते हैं।

जंग का रासायनिक सूत्र है : Fe2SO3 x H2O

जंग हाइड्रेटेड आयरन (III) ऑक्साइड है।

यह भंगुर है और समय के साथ धातु की सतह से पृथक् होता रहता है जिस कारण लोहे से बनी वस्तुएं क्षतिग्रस्त होती रहती हैं।

प्रश्न 27. वसायुक्त अथवा तैलीय (पदार्थ) खाद्य सामग्री को जब लंबे समय तक रखा जाता है तो उसमें क्या परिवर्तन आता है? इस प्रक्रिया को क्या कहते हैं?

उत्तर-खाद्य सामग्री को जब लंबे समय तक रखा जाता है तो उसके स्वाद एवं गंध में परिवर्तन आ जाता है। इस प्रक्रिया को विकृत गंधिता कहते हैं।

प्रश्न 28. विकृत गंधिता को कैसे रोका जा सकता है?

उत्तर-(1) खाद्य सामग्रियों में उपचयन रोकने के लिए प्रति ऑक्सीकारक मिलाए जाने चाहिए।

(2) खाद्य-सामग्री को वायुरोधी बर्तनों में रखकर भी उसके उपचयन की गति को धीमा कर सकते हैं।

(3) चिप्स की थैली को नाइट्रोजन जैसी गैस से युक्त कर देते हैं ताकि चिप्स का उपचयन न हो सके।

प्रश्न 29. जिंक धातु कॉपर सल्फेट के विलयन में से कॉपर का विस्थापन कर सकती है परंतु कॉपर धातु, जिंक सल्फेट के विलयन में से जिंक का विस्थापन नहीं कर सकती। कारण स्पष्ट कीजिए।

उत्तर-जिंक कॉपर से अधिक क्रियाशील है। वह कॉपर को कॉपर सल्फेट विलयन से विस्थापित कर सकती है। कॉपर जिंक से कम क्रियाशील होने के कारण जिंक को जिंक सल्फेट विलयन से विस्थापित नहीं कर सकती।

प्रश्न 30. क्या होता है जब जिंक की छड़ कॉपर सल्फेट के विलयन में रखी जाती है? अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण दीजिए।

उत्तर-जिंक कॉपर से अधिक अभिक्रियाशील है। वह कॉपर सल्फेट विलयन से कॉपर को विस्थापित कर देता है, और जिंक सल्फेट बनता है। कॉपर सल्फेट का नीला विलयन धीरे-धीरे सफेद होता चला जाता है।

CuSO4                      +                       Zn             +              ZnSO4                     +                  Cu

कॉपर सल्फेट                                        जिंक                       जिंक सल्फेट                                कॉपर

प्रश्न 31. ‘चूना शमन का तात्पर्य क्या होता है? इस प्रक्रिया में सूं-सूं की ध्वनि क्यों होती है? संबंधित अभिक्रिया को प्रदर्शित करने वाली रासायनिक समीकरण लिखिए।

उत्तर-जब चूने में जल मिलाया जाता है, यह बुझे चूने में बदल जाता है। इसे चूना शमन कहते हैं। यह एक उष्मापेक्षी अभिक्रिया है जिसमें उष्मा बाहर निकलती है जिसके कारण सूं-सूं की ध्वनि उत्पन्न होती है।

CaO (s)    +    H2O (1)             →                  Ca(OH)2(aq)  + ऊष्मा

चूना               जल                                   कैलिस्यम हाइड्रॉक्साइड

प्रश्न 32. A, B तथा C तीन तत्व हैं जो नीचे लिखे समीकरणों के अनुसार अभिक्रिया करते हैं-

A2O3 + 2B       →        B2O3 + 2A

3 CSO4 + 2B   →         B2 (SO4)3 + 3C

3CO + 2A       →        A2O3 + 3C

इनमें से सबसे अधिक और सबसे कम अभिक्रियाशील तत्व का नाम लिखिए।

उत्तर-(i) पहली अभिक्रिया में, तत्व B ने तत्व A को विस्थापित किया है। इसलिए B, A  से अधिक अभिक्रियाशील है।

(ii) दूसरी अभिक्रिया में, तत्व B ने तत्व C को विस्थापित किया। इसलिए B, C से अधिक अभिक्रियाशील है।

(iii) तीसरी अभिक्रिया में, तत्व A ने तत्व C को विस्थापित किया है। इसलिए A, C से अधिक अभिक्रियाशील है। अत: B, A और C दोनों से तथा A, C से अधिक अभिक्रियाशील है। अभिक्रियाशीलता का क्रम निम्न प्रकार है :

B > A > C

प्रश्न 33. पीतल और तांबे के बर्तनों में दही एवं खट्टे पदार्थ क्यों नहीं रखने चाहिए? (HP 2012, Set-II, III)

उत्तर-पीतल और तांबे के बर्तनों में दही एवं खट्टे पदार्थ अम्लीय उपस्थिति के कारण धातुओं की सतह पर विषैले यौगिकों का हानिकारक प्रभाव उत्पन्न करते हैं। इसलिए खाद्य पदार्थों को ऐसे बर्तनों में नहीं रखना चाहिए।

प्रश्न 34. चिप्स बनाने वाले चिप्स की थैली में क्या युक्त कर देते हैं ताकि उनमें उपचयन न हो सके?

                                                        (H.P. Model Q Paper 2009, H.P. 2011 Set-II,  2013 Set-III)

उत्तर-नाइट्रोजन गैस।

प्रश्न 35. निम्नलिखित रासायनिक समीकरणों को संतुलित कीजिए

  1. H2 + N2 →  NH3
  2. BaC12 + A12(SO4)3 →   A1C13 + BaSO4
  3. H2S + O2 → SO2 + H2O
  4. KBr + Ba I2 → KI + BaBr2
  5. A1 + CuC12 → A1C13 + Cu
  6. AgNO3 + Cu → Cu (NO3)2 + Ag
  7. A1 (OH)3 → A12O3 + H2O
  8. NH3 + CuO → Cu + N2 + H2O
  9. KC1O3 → KC12 + O2                                                                                     (H.P. 2010 Set-III)
  10. KNO3 → KNO2 +O2
  11. BaC12 + K2SO4 → 2BaSO4 +KC1 (H.P. 2009 Set-C)
  12. HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + H2                                            (H.P. 2009 Set-I)
  13. NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + H2O (H.P. 2009, Set-II, 2011 Set-I, 2013 Set-III)

                                       सूर्य का प्रकाश

  1. AgC1 →      Ag + C12                                                                           (H.P. 2010 Set-I)
  2. Na + H2O → NaOH + H2 (H.P. 2010 Set-II, 2011, Set-1, II)
  3. HNO3 + Ca (OH)2 →  Ca(NO3)2 + H2O                                   (H.P. 2009 Set I, 2011, Set-I, III)
  4. Fe + H2O → Fe3O4 + 4H2                                                     (H.P. 2015)
  5. ZnCO3 → ZnO + CO2 (H.P. 2012 Set-I)
  6. H2 + C12 → HC1 (H.P. 2012 Set-I)
  7. BaC12 + Na2SO4 → BaSO4 + NaC1 (H.P. 2013 Set-I)
  8. Cu + AgNO3 → Cu(NO3)2 + Ag                                   (H.P. 2013 Set-II)
  9. CO2 + H2O → C6H12O6+O2 (H.P. 2012 Set-I)
  10. CH4 + O2 → CO+H2O
  11. MnO2 + HC1 → MnC12 + H2O + C12 (H.P. 2014 Set-III)
  12. N2 + H2 → NH3 (H.P. 2015 Set-III)

उत्तर- 1. 3H2 + N2 →  2NH3

  1. 3BaC12 + A12 (SO4)2 → 2A1C13 + 3BaSO4
  2. 2H2S + 3O2 →  2SO2 + 2H2O
  3. 2KBr + BaI2 → 2KI + BaBr2
  4. 2A1 + 3CuC12 → 2A1C13 + 3Cu
  5. 2 Ag NO3 + Cu → Cu (NO3)2 + 3Cu
  6. 2 A1 (OH)3 → A12O3 + 3H2O
  7. 2NH3 + 3CuO → Cu+ N2 + 3H2O
  8. 2KC1O3 → 2KNO2 + 3O2
  9. 2KNO3 → 2KNO2+O2
  10. BaC12 + K2SO4 → BaSO4 + 2KC1

12  2HNO3 → Ca (OH)2  Ca (NO3)2 + 2H2

  1. 2NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + 2H2O

                                            सूर्य का प्रकाश

  1. 2AgCI →      2Ag + Cl2
  2. 2Na + 2H2O → 2NaOH + H2
  3. 2HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + 2H2O
  4. 3Fe + 4H2O → Fe3O4 + 4H2
  5. 2 ZnCo3 → 2 ZnO + 2CO2
  6. H2 + C12 → 2HC1
  7. BaC12 + NaSO4 → BaSO4 + 2NaC1
  8. Cu + 2AgNO3 → Cu(NO3)2 + 2Ag
  9. 6CO2 + 6H2O → C6H12O6 + 6O2
  10. CH4 + 2 O2 → CO2 + 2H2O
  11. MnO2 + 2HC1 → MnC12, + H2O + CO2
  12. N2 + 3H2 → 2NH3

प्रश्न 36. निम्नलिखित अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए।

  • जिंक कार्बोनेट (s) → जिंक ऑक्साइड + कार्बन डाइआक्साइड (g) (H.P. 2012, Set-1)
  • हाइड्रोजन (g) + क्लोरीन (g) → हाइड्रोजन क्लोराइड (g) (H.P. 2012, Set-1)
  • कार्बन (s)+ ऑक्सीजन (g) → कार्बन डाईआक्साइड (g) (H.P. 2012, Set-1)
  • हाइड्रोजन (g) + ऑक्सीजन (g) → जल (1) (H.P. 2012, Set-1)

                                                                           ∆

  • चूना पत्थर  →     बुझा हुआ चूना + कार्बन डाइऑक्साइड                  (P. 2012, Set-II)
  • जिंक + कॉपर सल्फेट → जिंक सल्फेट + कॉपर                                   (H.P. 2012, Set-II)
  • मैग्नीशियम + ऑक्सीजन → मैग्नीशियम ऑक्साइड                             (H.P. 2012, Set-III)

उत्तर-

  • ZnCO3 (s) → ZnO + CO2
  • H2 (g) + C12 (g) → 2HC1
  • C (s) + O2 (g) → CO2
  • 2H2 + O2 (g) → 2H2O (I)
  • CaCO3 → CaO + CO2
  • Zn + CuSO4 + CaO + CO2
  • 2Mg + O2 → 2MgO

प्रश्न 37. Fe + Cuso FeSO4 + Cu.

उपरोक्त अभिक्रिया में अभिकारकों तथा उत्पादकों के नाम दर्शाइए।                    (H.P. 2012, Set-II)

 उत्तर- अभिकारक = Fe, CuSO4

उत्पाद = FeSO4, C

 प्रश्न 38. निम्न समीकरणों में उपचयित और अपचयित पदार्थों के नाम लिखिए-

(1) SO+  2H2S  →  2H2O + 3S

(2) 2A1 + 3HC1 → 2A1C13 + 3H2

(3) 2H2S + SO2 → 3S + 2H2O

(4) Zn + 2AgNO3 → Zn (NO3)2 + 2Ag

(5) H2 + CuO → Cu + H2O.

उत्तर-(1) SO2, में S का अपचयन तथा H2S में S का उपचयन हुआ।

(2) एलुमीनियम उपचयित तथा क्लोरीन अपचयित हुआ।

(3) हाइड्रोजन का उपचयन हुआ और सल्फर का अपचयन हुआ।

(4) जिंक का उपचयन हुआ और सिल्वर का अपचयन हुआ।

(5) हाइड्रोजन का उपचयन हुआ तथा तांबा का अपचयन हुआ।

अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

(Very Short Answer Type Questions)

प्रश्न 1. मैग्नीशियम रिबन का दहन होने पर वह किस में परिवर्तित होता है?

उत्तर-श्वेत रंग के चूर्ण में, यह मैग्नीशियम ऑक्साइड का चूर्ण है।

प्रश्न 2. रासायनिक अभिक्रिया में तीर का सिरा किसकी ओर होता है?

उत्तर-उत्पाद की ओर।

प्रश्न 3. तीर अभिक्रिया में क्या दर्शाता है?

उत्तर-यह अभिक्रिया होने की दिशा को दर्शाता है।

प्रश्न 4. मैग्नीशियम के वायु में जलने का समीकरण कैसा है?

उत्तर-कंकाली समीकरण।

प्रश्न 5. द्रव्यमान के संरक्षण नियम का वर्णन कीजिए।

उत्तर-किसी भी रासायनिक अभिक्रिया में द्रव्यमान का न तो निर्माण होता है और न ही विनाश।

प्रश्न 6. संतुलित रासायनिक समीकरण की परिभाषा लिखो।

उत्तर-रासायनिक अभिक्रिया के पहले और उसके पश्चात प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या यदि समान रहती है तो उसे संतुलित समीकरण कहते हैं।

प्रश्न 7. संतलित समीकरण का एक उदाहरण दीजिए।

उत्तर- 3Fe + 4H2O → Fe3O4 + 4H2

प्रश्न 8. अभिकारकों तथा उत्पादों के ठोस तथा द्रव अवस्थाओं को क्रमश: कैसे दर्शाते हैं?

उत्तर-ठोस-(S)

द्रव- (I)

प्रश्न 9. अभिकारकों तथा उत्पादों की गैस तथा जलीय अवस्थाओं को क्रमश: कैसे दर्शाते हैं?

उत्तर-गैस-(g)

जलीय-(aq)

प्रश्न 10. यदि जल के साथ (g) हो तो वह किस रूप में उपयोग किया जाता है?

उत्तर-भाप के रूप में।

प्रश्न 11. कभी-कभी अभिक्रिया की परिस्थित जैसे तापमान, दाब, उत्प्रेरक आदि को कहां पर दर्शाया जाता है?

उत्तर-तीर के ऊपर या नीचे।

प्रश्न 12. रासायनिक अभिक्रिया में नए पदार्थों का निर्माण कैसे होता है?

उत्तर-परमाणुओं के आपसी आबंध के टूटने और जुडऩे से नए पदार्थों का निर्माण होता है।

प्रश्न 13. संयुक्त अभिक्रिया की परिभाषा दीजिए।

उत्तर-वह अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अभिकारक मिलकर एकल उत्पाद का निर्माण करते हैं, संयुक्त अभिक्रिया कहलाती है।

प्रश्न 14. बुझे हुए चूने का एक उपयोग बताइए।

उत्तर-दीवारों की सफेदी करने के लिए।

प्रश्न 15. संगमरमर का रासायनिक फार्मूला लिखिए।

उत्तर-CaCO3

प्रश्न 16. जल के निर्माण के लिए संयोजन अभिक्रिया बताएं।

उत्तर- 2H2(g) + O2(g) → 2H2O (I)

प्रश्न 17. प्राकृतिक गैस का दहन करने पर क्या प्राप्त होता है?

उत्तर– CO2 H2O और ऊर्जा।

प्रश्न 18. एक ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया का उदाहरण दीजिए।

उत्तर-श्वसन।

प्रश्न 19. भोजन में उपस्थित कार्बोहाइड्रेट के टूटने पर क्या मिलता है?

उत्तर-ग्लूकोज (C6H1206)

प्रश्न 20. फेरस सल्फेट का सूत्र लिखिए।

उत्तर- FeSO4. 7H2O

प्रश्न 21. NO2 का धुआं किस रंग का होता है?

उत्तर-भूरे रंग का।

प्रश्न 22. लेड नाइट्रेट का रासायनिक सूत्र लिखिए।

उत्तर- Pb(NO3)2

प्रश्न 23. सूर्य के प्रकाश में सिल्वर क्लोराइड धूसर रंग का हो कर क्या बनाता है?

उत्तर-सिल्वर धातु।

                                                 सूर्य का

प्रश्न 24. 2AgBr (s) →  2Ag (s) + Br2 (g).

                                                  प्रकाश

उपरोक्त अभिक्रिया का उपयोग कहां पर किया जाता है?

उत्तर-श्वेत-श्याम फोटोग्राफी में।

प्रश्न. Zn (s) + CuSO4 (aq) ……….. + Cu (s)

उपरोक्त अभिक्रिया को पूर्ण करें।

उत्तर- Zn (s) + CuSO4 (aq) ZnSO4 (aq) + Cu (s)

प्रश्न 26. कुछ समय बाद लोहे की चमकीली वस्तुओं का रंग क्यों ढल जाता है?

उत्तर-जंग के कारण।

प्रश्न 27. लोहे पर चढऩे वाली जंग की परत किस रंग की होती है?

उत्तर-भूरे रंग की।

प्रश्न 28. संक्षारण किसे कहते हैं?

उत्तर-जब कोई धातु अपने आसपास अम्ल, नमी आदि के संपर्क में आती है तब इस प्रक्रिया को संक्षारण कहते हैं। प्रश्न 29. संक्षारण के कारण चांदी पर चढऩे वाली परत का रंग क्या होता है?

उत्तर-काली परत।

प्रश्न 30. तांबे पर चढऩे वाली परत का रंग क्या होता है?

उत्तर-हरी परत।

प्रश्न 31. तैलीय तथा वसायुक्त खाद्य सामग्री जब लंबे समय तक रखी रह जाती है तो उसमें स्वाद और गंध किस क्रिया के कारण बदल जाते हैं ?

उत्तर-उपचयन के कारण।

प्रश्न 32. उपचयन रोकने वाले पदार्थों को क्या कहते हैं?

उत्तर-प्रति ऑक्सीकारक।

प्रश्न 33. उपचयन को रोकने के लिए खाद्य पदार्थों को कहां रखा जाता है?

उत्तर-वायुरोधी बर्तनों में।

प्रश्न 34. चिप्स बनाने वाले चिप्स की थैली में क्या युक्त कर देते हैं ताकि उनमें उपचयन न हो सके?

उत्तर-नाइट्रोजन गैस।

प्रश्न 35. कॉपर ऑक्साइड (II) की परत किस रंग की होती है?

उत्तर-काले रंग की।

                                                       ताप

प्रश्न 36. 2Cu + O2     →   2 CuO; इस गर्म पदार्थ के ऊपर H2 गैस प्रवाहित करने पर सतह की काली परत किस रंग की हो जाती है?

उत्तर-भूरे रंग की।

प्रश्न 37. यदि किसी अभिक्रिया में एक अभिकारक उपचयित और दूसरा अपचयित होगा तो उसे क्या कहेंगे?

उत्तर-उसे उपचयित-अपचयित अभिक्रिया कहेंगे।

प्रश्न 38. उपचयित-अपचयित अभिक्रिया का दूसरा नाम क्या है?

उत्तर-रेडॉक्स अभिक्रिया।

प्रश्न 39. रेडॉक्स अभिक्रिया का एक उदाहरण दीजिए।

उत्तर-MnO2 + 4HC1 →  MnC12 + 2H2O + C12

                                                        ताप

प्रश्न 40. CuO + H2       Cu +H2O उपरोक्त अभिक्रिया में उपचयन तथा अपचयन को दर्शाएं।

उत्तर-

                                                                                         उपचयन

                                                                                            ताप

CuO + H2    →         Cu + H2O

                                                                                        अपचयन

प्रश्न 41. किसी अभिक्रिया में पदार्थ का उपचयन कब होता है?

उत्तर-जब O2 की वृद्धि या H2 का ह्रास होता है।

प्रश्न 42. किसी अभिक्रिया में पदार्थ का अपचयन कब होता है?

उत्तर-जब O2 का ह्रास या H2 की वृद्धि होती है।

प्रश्न 43. द्विविस्थापन अभिक्रिया की परिभाषा बताएं।

उत्तर-वो अभिक्रियाएं जिनमें अभिकारकों के बीच आयनों का आदान-प्रदान होता है। उन्हें द्विविस्थापन अभिक्रिया कहते हैं।

प्रश्न 44. लेड क्लोराइड का रासायनिक सत्र लिखें।

उत्तर-PbC12

प्रश्न 45. ऐसे दो तत्वों के नाम बताएं जो कॉपर की अपेक्षा अधिक क्रियाशील हैं।

उत्तर-जिंक तथा लेड।

प्रश्न 46. किस की अभिक्रिया से क्चड्डह्यश, के अवक्षेप का निर्माण होता है।

उत्तर-Ba2+So42-

प्रश्न 47. सूर्य के प्रकाश में श्वेत रंग का सिल्वर क्लोराइड किस रंग का हो जाता है?

उत्तर-धूसर रंग का।

प्रश्न 48. ऊष्माशोषी अभिक्रिया का एक उदाहरण दीजिए।

                                          सूर्य का प्रकाश

उत्तर- 2AgC1 (s)     →        2Ag (s) + C12 (g)

प्रश्न 49. ऊष्मा देने पर कैल्सियम कार्बोनेट किस में नियोजित होता है?

उत्तर-कैल्सियम ऑक्साइड तथा कार्बन डाइऑक्साइड।

प्रश्न 50. बुझे हुए चूने का रासायनिक सूत्र लिखिए।

उत्तर-CaO

प्रश्न 51. यदि लैड नाइट्रेट को ताप दें तो उसकी अभिक्रिया किस प्रकार होगी?

                                                           ताप

उत्तर- 2Pb (NO3)2 (s)   →  2PbO (s) + 4NO2 (g) + O2 (g)

प्रश्न 52. चावल, आल तथा ब्रैड में विशेष रूप से क्या होता है?

उत्तर-कार्बोहाइड्रेट।

प्रश्न 53. कार्बोहाइड्रेट के टूटने पर क्या प्राप्त होता है?

उत्तर-ग्लूकोज।

प्रश्न 54. ग्लूकोज हमारे शरीर की कोशिकाओं में मौजूद ऑक्सीजन से मिलकर क्या उत्पन्न करता है?

उत्तर-ऊर्जा प्रदान करता है।

प्रश्न 55. प्राकृतिक गैस का दहन होने पर होने वाली अभिक्रिया को लिखिए।

उत्तर- CH4 (g) + 2O2 (g)  →  CO2 (g) + 2H2 O (g) + ऊर्जा।

प्रश्न 56. कोयले का दहन तथा H2 और O2 से जल का निर्माण कैसी अभिक्रिया को दर्शाते हैं?

उत्तर-संयोजन अभिक्रिया।

प्रश्न 57. Ca (OH)2 वायु में उपस्थित CO2 के साथ धीमी गति से अभिक्रिया करने पर क्या बनाता है ?

उत्तर- Ca(OH)2 + Co2 (g)  →   CaCO3 (s) + H2O (1)

(aq)                           कैल्सियम कार्बोनेट

प्रश्न 58. संयुक्त अभिक्रिया का उदाहरण दीजिए।

उत्तर- CaO (s) + H2O (1) →  Ca(OH)2 (aq)

बुझा हुआ चूना

प्रश्न 59. 6CO2 (aq) + 6H2O (1)         C6H12O6 (aq) + 6O2 (aq) उपरोक्त अभिक्रिया में A क्या है?

उत्तर-क्लोरोफिल।

प्रश्न 60. Fe + H2O Fe3O4 + H2                                                               (H.P. 2015)

उपरोक्त अभिक्रिया का संतुलित समीकरण कीजिए।

उत्तर-  3Fe (s) + 4H2O (g) →   Fe3O4(s) + 4H2 (g)

प्रश्न 61. किसी भी रासायनिक अभिक्रिया में उत्पाद तत्वों के कुल द्रव्यमान का अभिकारक तत्वों के कुल द्रव्यमान से क्या संबंध है?

उत्तर-दोनों बराबर होते हैं।

प्रश्न 62. रासायनिक समीकरण किसे दर्शाता है?

उत्तर-रासायनिक अभिक्रिया को।

प्रश्न 63. कंकाली रासायनिक समीकरण क्या है?

उत्तर-यदि एक रासायनिक अभिक्रिया में दोनों ओर के तत्वों के परमाणुओं की संख्या समान न हो तो इस असंतुलित समीकरण को कंकाली समीकरण कहते हैं।

प्रश्न 64. कंकाली समीकरण का एक उदाहरण दीजिए।

उत्तर- Mg + O2  → MgO

प्रश्न 65. उत्पाद किसे कहते हैं?

उत्तर-वे पदार्थ जिनमें रासायनिक परिवर्तन होता है उन्हें उत्पादन कहते हैं।

प्रश्न 66. अभिकारक किसे कहते हैं?

उत्तर-किसी अभिक्रिया में जिन नए पदार्थों का निर्माण होता है, उन्हें अभिकारक कहते हैं।

प्रश्न 67. जस्ते पर तनु सल्फ्यूरिक अम्ल की अभिक्रिया से किस गैस का निर्माण होता है?

उत्तर-हाइड्रोजन।

प्रश्न 68. लेड नाइट्रेट का दूसरा नाम क्या है?

उत्तर-सीसा।

प्रश्न 69. मैग्नीशियम रिबन का वायु में दहन करने से पहले उसे किससे साफ किया जाता है?

उत्तर-रेगमाल से रगडक़र।

प्रश्न 70. अपचयन क्रिया क्या है?

उत्तर-अपचयन एक ऐसी क्रिया है जिसमें O2 का ह्रास तथा H2 की वृद्धि होती है।

प्रश्न 71. उपचयन क्रिया क्या है?

उत्तर-उपचयन वह क्रिया है जिसमें H2 का ह्रास तथा O2 की वृद्धि होती है।

प्रश्न 72. यदि किसी अभिक्रिया में एक अभिकारक उपचरित तथा दूसरा अपचरित होता है तो उसे क्या कहते हैं? उत्तर-रेडॉक्स अभिक्रिया।

प्रश्न 73. चिप्स की थैली में कौन-सी गैस भरी होती है?               (H.P. 2011 Set-B)

उत्तर-नाइट्रोजन गैस (N2)

प्रश्न 74. नाइट्रिक अम्ल और चूने के बीच होने वाली अभिक्रिया लिखें।  (H.P. 2013 Set-II, 2016 Set-I)

उत्तर- Ca(OH)2 + 2HNO3  →  Ca(NO3)2  + 2H2O

बहु-विकल्पी प्रश्नोत्तर

(Multiple Choice Questions)

  1. मैग्नीशियम रिबन के दहन से वह किस रंग के चूर्ण में परिवर्तित हो जाता है-

(A) काला                    (B) भूरा

(C) सफेद                    (D) पीला।

  1. दानेदार जिंक पर तनु HC1 डालने से कौन-सी गैस उत्पन्न होती है?

(A) O2                         (B) H2

(C) C12                        (D) SO2

  1. किस गैस की उपस्थिति में मैग्नीशियम रिबन का दहन होता है?

(A) CO2                     (B) CO

(C) H2                                   (D) O2

  1. अभिक्रिया जिस में रासायनिक परिवर्तन होता है उसे ……… कहते हैं ?

(A) अभिकारक          (B) उत्पाद

(C) संयोजक              (D) वियोजक।

  1. अभिकारकों के बीच योग का चिह्न लगाकर किस ओर लिखा जाता है ?

(A) दाईं ओर            (B) बाईं ओर

(C) ऊपर की ओर   (D) नीचे की ओर।

  1. अभिक्रिया के तीर का सिरा किस ओर होता है?

(A) उत्पाद               (B) अभिकारक

(C) अवक्षेप              (D) गैस।

  1. द्रव्यमान के संरक्षण के अनुसार रासायनिक अभिक्रिया में किस का न तो निर्माण होता है और न ही

विनाश।

(A) पदार्थ                (B) वस्तु

(C) द्रव्यमान           (D) इनमें से कोई नहीं।

  1. कौन-सा चिह्न दर्शाता है कि उत्पन्न उत्पाद अवक्षेप है-

(A) ↑                           (B) →

(C) ↓                            (D) ←

  1. रासायनिक समीकरण में तीर के दोनों ओर जब तत्त्वों के परमाणुओं की संख्या बराबर हो तो उसे क्या कहते हैं ?

(A) कंकाली समीकरण  (B) पूरा समीकरण

(C) असंतुलित              (D) संतुलित समीकरण।

  1. जब दो या दो से अधिक पदार्थ संयोग कर के एकल उत्पाद निर्मित करते हैं तो उसे क्या कहते हैं ?

(A) वियोजन               (B) विस्थापन

(C) द्विविस्थापन          (D) संयोजन।

  1. रासायनिक समीकरण को संतुलित करते समय सुविधा के लिए ………. परमाणु वाले यौगिक को पहले संतुलित करना चाहिए।

(A) कम                       (B) अधिक

(C) किसी को भी       (D) इन में से कोई नहीं।

(12. ताप, दाब, उत्प्रेरक आदि को अभिक्रिया में तीर के निशान पर कैसे दिखाया जाता है?

(A) ऊपर                      (B) नीचे)

(C) आगे                      (D) ऊपर या नीचे।

  1. किसी रासायनिक अभिक्रिया में किसके टूटने एवं जुडऩे से नए पदार्थों का निर्माण होता है?

(A) आपसी आबंध     (B) आपसी संयोग

(C) आपसी वियोग    (D) आपसी संबंध।

  1. दो या दो से अधिक अभिकारक मिलकर एकल उत्पाद किस अभिक्रिया में बनाते हैं?

(A) वियोजन              (B) संयोजन

(C) विस्थापन            (D) द्विविस्थापन।

  1. संगमरमर का रासायनिक सूत्र है-

(A) CaO                        (B) Ca(OH)2

      (C) CaCO3                   (D) CaOC12

प्रश्न 16. CH4 (g) +2O2 (g) → CO2 (g) + 2H2O (g) यह रासायनिक कैसी है-

(A) ऊष्मा क्षेपी        (B) ऊष्मा शोषी

(C) ऊष्मा चालक    (D) ऊष्मा संहारका कारण

  1. C6H12O6 (aq) + 6O2 (aq) + 6H2O (1) + ऊर्जा यह रासायनिक अभिक्रिया का विशेष नाम क्या है?

(A) उत्सर्जन            (B) पाचन

(C) श्वसन                 (D) प्रजनन।

  1. शाक-सब्जियों का विघटित हो कर कंपोस्ट बनाना कैसी अभिक्रिया है?

(A) ऊष्मा शोषी       (B) ऊष्मा संवेदी

(C) ऊष्मा क्षेपी         (D) ऊष्मा रोधी।

  1. कौल्सियम कार्बोनेट का कैल्सियम ऑक्साइड तथा कार्बन डाइऑक्साइड में बदल जाना कैसी अभिक्रिया है?

(A) संयोजन         (B) वियोजन

(C) विस्थापना     (D) द्विविस्थापन।

  1. बुझा हुआ चूना किस सूत्र से प्रकट किया जाता है?

(A) CaCO3            (B) CaO

(C) Ca(OH)2           (D) Ca(HCO3)2

उत्तर

  1. (C) सफेद 2. (B) H2 3. (D) O2 4. (A) अभिकारक
  2. (B) बाईं ओर 6. (A) उत्पाद 7. (C) द्रव्यमान 8. (C) ↓ 9. (D) संतुलित 10. (D) संयोजन 11. (B) अधिक 12. (D) ऊपर या नीचे समीकरण  13. (A) आपसी आबंध 14. (B) संयोजन 15. (C) CaCO3 16. (A) ऊष्माक्षेपी  17. (C) श्वसन 18. (C) ऊष्माक्षेपी 19. (B) वियोजन 20. (B) CaO

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

पुराने पैटर्न में ही डाल दिया 12वीं Computer Science का प्रैक्टिकल पेपर, छात्र हुए परेशान

लापरवाही: बीच रास्ते में बस से उतर गया HRTC का टल्ली कंडक्टर, दूसरे के आने तक रुकी रही Bus

14 गोरखा ट्रेनिंग सेंटर सुबाथू में कोर्स 125 के जवानों ने ली देश सेवा की शपथ

Jai Ram सरकार ने Kangra को ब्रिक्स से बाहर कर किया कुठाराघात, देखें Video

दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक New Zealand ने बनाए 216 रन, भारत के खिलाफ 51 रन की बढ़त

लीग मैच के दौरान Pak खिलाड़ियों ने की फिक्सिंग ! शोएब अख्तर ने शेयर की तस्वीर

विधवा से दुष्कर्म मामले में BJP MLA समेत 6 को क्लीन चिट, एक गिरफ्तार

बेटी का हत्यारा निकला रक्षा मंत्री की सुरक्षा में तैनात Commando,ऐसे हुआ खुलासा

पशुओं के लिए चारा लेने जंगल गया था युवक, खाई में गिरने से गई जान

जयराम बोले- जल्द तय की जाएगी Cabinet विस्तार की तारीख

Nirbhaya Case : तिहाड़ जेल प्रशासन ने दोषियों के परिजनों को लिखी चिठ्ठी, पूछी ये बात

बातचीत की एक और कोशिश, लगातार चौथे दिन Shaheen Bagh पहुंची साधना रामचंद्रन

ओवैसी की आस्था Pakistan में बसती है, चाहे तो DNA Test करवा लो : बीजेपी विधायक

Corona Virus: भारतीयों को वापस भेजने के लिए जानबूझ कर मंजूरी नहीं दे रहा चीन

US President Trump ने की "शुभ मंगल ज्यादा सावधान" की तारीफ, कहा- ग्रेट

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

विज्ञान विषयः अध्याय-10... प्रकाश-परावर्तन तथा अपवर्तन

Students के लिए अब आसान होगी केलकुलेशन, शिक्षा बोर्ड करेगा कुछ ऐसा

विज्ञान विषयः अध्याय-9......... अनुवंशिकता एवं जैव विकास

विज्ञान विषयः अध्याय-8......... जीव जनन कैसे करते हैं?

इस बार दो लाख 17 हजार 555 छात्र देंगे बोर्ड परीक्षाएं, 15 से Practical

शिक्षा बोर्डः 10वीं और 12वीं के Admit Card अपलोड, फोन नंबर भी जारी

ब्रेकिंगः HP Board ने इस शुल्क में की कटौती, 300 से 150 किया

विज्ञान विषयः अध्याय-7......... नियंत्रण एवं समन्वय

विज्ञान विषयः अध्याय-6......... जैव प्रक्रम

बोर्ड इन छात्रों को पेपर हल करने के लिए एक घंटा देगा अतिरिक्त, डेटशीट जारी

विज्ञान विषयः अध्याय-5......... तत्वों का आवर्त वर्गीकरण

बोर्ड एग्जाम में आएंगे अच्छे मार्क्स,  बस फॉलो करें ये ख़ास टिप्स

विज्ञान विषयः अध्याय-4… कार्बन और इसके घटक

Breaking: ग्रीष्मकालीन स्कूलों की 9वीं और 11वीं वार्षिक परीक्षा की Date Sheet जारी

विज्ञान विषयः अध्याय-3 ……धातु एवं अधातु


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है