- Advertisement -

नाहन में गिरा बम निकला 84 एमएम एंटी टैंक का असला

फटता तो पहुंचता भारी नुकसान, चोटिल हो सकते थे लोग

0

- Advertisement -

नाहन। शहर की एक छत पर गिरी बमनुमा वस्तु 84 एमएम एंटी टैंक का असला निकली। जांच के दौरान मौके पर पहुंची पुलिस ने इसकी पुष्टि की है। यह ग्रेनेड का एक आर्टिकल था, जिसे सेना में युद्ध के समय इस्तेमाल किया जाता है।

  • ढाई से तीन किलो है वजन, टैंक में होता है इसका इस्तेमाल

गनीमत यह रही कि यह फटा नहीं। फटता तो इलाके को नुकसान पहुंचता। यही नहीं लोग भी इससे चोटिल हो सकते थे। गनीमत यही रही कि जिस समय यह घर की छत पर गिरा, इस दौरान यहां लोग नहीं थे। गिरने के बाद इस असले ने भारी नुकसान पहुंचाया है।

जांच के दौरान पता चला कि इस पर मार्का भी लगा है। आम आदमी इसका इस्तेमाल नही कर सकता। न ही इसे तैयार कर सकता है। इस तरह का असला सेना में ही इस्तेमाल होता है। बता दें कि यह घटना शहर के अमरपुर मोहल्ले में दिवाली की शाम सवा 7 बजे के आसपास की बताई जा रही है। दिवाली मनाने के लिए मौके पर काफी संख्या में लोग उपस्थित थे। लेकिन गनीमत यह रही है कि ठोस लोहे से बनी यह वस्तु किसी के ऊपर नहीं गिरी। जानकारी के अनुसार इसके उत्पादन की तिथि 2008 अंकित है। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। आसमान से जब यह वस्तु दुर्गेश शर्मा के लैंटर पर गिरी, तो वहां गड्डा भी हो गया, जिससे परिवार दहशत में आ गया। हालांकि इसमें किसी तरह का विस्फोट नहीं हुआ।

उधर, डीएसपी बबीता राणा ने बताया कि जांच में पाया गया कि जिस तरह से ग्रेनेट होता है, उसी तरह का यह एक आर्टिकल था। इस पर जो मार्क दिया गया था, वह एंटी-84 एमएम एंटी टैंक वेपेन का असला था। उन्होंने कहा कि जिस एरिया में यह असला गिरा है, वहां के लोग बाल-बाल बचे हैं। यदि यह फट जाता तो आग लग सकती थी, लोग घायल हो सकते थे। गनीमत यह रही है कि उस वक्त वहां पर लोग मौजूद नहीं थे और जिस व्यक्ति के पास यह गिरा है वह भी बाल-बाल बचा है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि आर्मी की ट्रेनिंग के दौरान इसका इस्तेमाल किया गया हो, क्योंकि यह असला आम आदमी की पहुंच से दूर है और न ही आम आदमी इस तरह का असला तैयार कर सकता है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी जांच जारी है। फिलहाल अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

- Advertisement -

Leave A Reply