Expand

BPL में शामिल रसूखदारों से नहीं हो सकती रिकवरी

BPL में शामिल रसूखदारों से नहीं हो सकती रिकवरी

- Advertisement -

मंडी। बीपीएल परिवारों में एंट्री मार कर लंबे समय तक उनके हक लूटने वाले रसूखदार गरीबों से रिकवरी का कोई प्रावधान नहीं हैं। यह बात खुद पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा ने कही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में ग्राम सभाएं ही सुप्रीम हैं और ग्राम सभाओं के पास ही किसी बीपीएल परिवार का चयन करने और उसे बाहर निकालने का अधिकार है। mandi1यदि कोई किसी गलत परिवार का चयन बीपीएल में किया गया है तो फिर उसे एसडीएम के माध्यम से बाहर निकालने का प्रावधान है। मंडी में पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा  ने एक के बाद एक कई खुलासे किए हैं। बता दें कि हाल ही में ग्राम पंचायत भौर में रसूखदार बीपीएल परिवारों का खुलासा हुआ था और बताया था कि किस प्रकार से सुविधा संपन्न परिवार गरीबी का ढोंग रचकर गरीबों का हक डकारने में लगे हुए हैं। इस मामले को उजागर करने के बाद प्रशासन ने भी कार्रवाई करना शुरू कर दी है। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा ने बताया कि बीपीएल परिवारों का चयन करना और उन्हें बाहर निकालने का अधिकार ग्राम पंचायतों को ही है। उन्होंने बताया कि अगर किसी परिवार की शिकायत आती है तो फिर उसके खिलाफ एसडीएम को कार्रवाई करने का अधिकार है। एसडीएम ऐसे परिवारों को इस श्रेणी से बाहर कर सकता है। अनिल शर्मा ने बताया कि रसूखदार बीपीएल परिवारों का पर्दाफाश हो सके इसलिए सरकार ने घरों के बाहर गरीबी का बोर्ड लगाने का निर्णय लिया है जिसके तहत इस प्रकार के मामले उजागर हो रहे हैं। उन्होंने माना कि कुछ रसूखदार परिवार गरीबों को अपना हक लेने नहीं देते और ग्राम सभाओं में हुडदंग मचाते हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे स्थानों से आने वाली शिकायतों पर सरकार ग्राम सभाओं की वीडियोग्राफी करवाती है और हुड़दंगियों के खिलाफ कार्रवाई करती है। जिन रसूखदारों ने अब तक बीपीएल का लाभ उठा लिया उनसे रिकवरी करने का कोई प्रावधान नहीं है। ऐसा कोई प्रावधान नहीं कि इतने लंबे समय तक गरीबी का ढोंग रचकर गरीबों का हक डकारने वालों से उसकी भरपाई की जा सके। बता दें कि बहुत से मामलों में सरकार के पास रिवकरी का प्रावधान होता है लेकिन इस मामले में सरकार के पास ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। जो लोग गरीबी का ढोंग रच रहे हैं उन्हें मात्र इस श्रेणी से ही बाहर किया जा सकता है जबकि उनसे किसी भी प्रकार की रिकवरी नहीं होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है