×

नाड़ियों के लिए पौष्टिक ब्राह्मी

नाड़ियों के लिए पौष्टिक ब्राह्मी

- Advertisement -

ब्राह्मी एक औषधीय पौधा है, जो भूमि पर फैलकर बड़ा होता है। इसके तने और पत्तियां मुलायम, गुदेदार और फूल सफेद होते हैं। यह पौधा नम स्थानों में पाया जाता है तथा मुख्यत: भारत ही इसकी उपज भूमि है। इसका पौधा हिमालय की तराई में हरिद्वार से लेकर बद्रीनारायण के मार्ग में अधिक मात्रा में पाया जाता है। जो बहुत उत्तम किस्म का होता है। ब्राह्मी पौधे का तना जमीन पर फैलता जाता है, जिसकी गांठों से जड़, पत्तियां, फूल और बाद में फल भी लगते हैं। इसकी पत्तियां स्वाद में कड़वी और काले चिन्हों से मिली हुई होती है। ब्राह्मी के फूल छोटे, सफेद, नीले और गुलाबी रंग के होते हैं।


ब्राह्मी के फलों का आकार गोल लंबाई लिए हुए तथा आगे से नुकीलेदार होता है, जिसमें से पीले और छोटे बीज निकलते हैं। ब्राह्मी की जड़ें छोटी और धागे की तरह पतली होती है। इसमें गर्मी के मौसम में फूल लगते हैं। जहां नदी, नाले और नहरों की बहुलता होगी, वहां यह अधिक मात्रा में पाया जाता है। जड़ी-बूटी की पहचान न होने के कारण लोग कभी-कभी मंडूकपर्णी को भी ब्राह्मी समझ बैठते हैं। जबकि उसके गुण बिल्कुल पृथक है। इसकी पत्तियां एक इंच अथवा इंच के चौथाई भाग तक चौड़ी गोलाकार होती है।

फलों का रंग नीला अथवा हल्का गुलाबी होता है। फलों की आकृति गोल और अग्रभाग नुकीला रहता है। ब्राह्मी को सुखाकर भी पाउडर के रूप में उतना ही उपयोगी माना जाता रहा है। एक वर्ष की अवधि तक इसका पूर्ण प्रयोग किया जा सकता है।

मिर्गी होने पर लें ब्राह्मी की जड़ का रस

यह पूर्ण रूपेण औषधीय पौधा है। यह औषधि नाड़ियों के लिए पौष्टिक होती है। कब्ज को दूर करती है। इसके पत्ते के रस को पेट्रोल के साथ मिलाकर लगाने से गठिया दूर करती है। ब्राह्मी में रक्त शुद्ध करने के गुण भी पाए जाते हैं। यह हृदय के लिए भी पौष्टिक होता है। मिर्गी होने पर 14 से 28 मिलीलीटर ब्राह्मी की जड़ का रस या 3 से 6 ग्राम चूर्ण को दिन में3 बार 100 से 250 मिलीलीटर दूध के साथ लेने से मिर्गी का रोग ठीक हो जाता है। 3 से 6 ग्राम ब्राह्मी के पत्तों का चूर्ण भोजन के साथ लेने से आंखों की कमजोरी दूर हो जाती है।

10 मिलीलीटर सूखी ब्राह्मी का रस, 1 बादाम की गिरी, 3 ग्राम कालीमिर्च को पानी से पीसकर 3-3 ग्राम की टिकिया बना लें। इस टिकिया को रोजाना सुबह और शाम दूध के साथ रोगी को देने से दिमाग को ताकत मिलती है।

वजन कम करता है तरबूज

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है