Covid-19 Update

41,229
मामले (हिमाचल)
32,309
मरीज ठीक हुए
656
मौत
9,499,710
मामले (भारत)
64,194,692
मामले (दुनिया)

तीर्थन घाटी की फिजाओं पर फिदा #Bollywood कलाकार, छुट्टियां बिताने आ रहे इस खूबसूरत जगह

होमस्टे में छुट्टियां मनाकर मुंबई लौटीं बॉलीवुड अभिनेत्री शहनाज, ट्रैकिंग और फिशिंग का भी उठाया लुत्फ

तीर्थन घाटी की फिजाओं पर फिदा #Bollywood कलाकार, छुट्टियां बिताने आ रहे इस खूबसूरत जगह

- Advertisement -

बंजार। प्रदेश में कोरोना काल के दौरान सरकार व पर्यटन विभाग द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार अब पर्यटन कारोबार धीरे-धीरे पटरी पर लौटना शुरू हो गया है। उपमंडल बंजार की तीर्थन घाटी (Tirthan valley) में भी करीब सात माह के बाद वीकेंड पर पर्यटकों की खूब आवाजाही देखने को मिल रही है। हालांकि आम दिनों में कम ही पर्यटक घाटी का भर्मण कर रहे हैं, लेकिन वीकेंड और छुट्टियों के दौरान यहां पर पर्यटकों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है। तीर्थन घाटी शांत, सुरम्य और प्रदूषण रहित वादियों के कारण पर्यटकों को खूब भाती है। फिल्मनगरी मुंबई से बॉलीवुड के कई सितारों के अलावा कई महान हस्तियां भी तीर्थन घाटी की फिजाओं पर फ़िदा हैं। महशूर अभिनेता सनी देओल, अरबाज खान, अभिनेत्री शहनाज ट्रेजरी, दीप्ती नवल, अदिति पहिनकर के अलावा खेल और उद्योग जगत की कई हस्तियां तीर्थन घाटी का भर्मण कर चुके हैं। अभी हाल ही में कुछ दिन पहले इश्क-विश्क और डैली वेली जैसी फिल्मों में काम कर चुकी बॉलीवुड अभिनेत्री शहनाज (Actress shehnaaz) तीर्थन घाटी के कुदरत बुटीक होमस्टे में ठहराव करके वापस गई हैं।

यह भी पढ़ें: तीर्थन घाटी के अनोखे मेले और त्योहार सैलानियों को करते हैं आकर्षित

 

उन्होंने सोशल मीडिया में अपनी यात्रा का वीडियो (Video) भी शेयर किया है जिसे लाखों लोग देख चुके हैं। तीर्थन घाटी के गांव बन्दल से कुदरत बुटीक होमस्टे के मालिक सुधीर नेहरू ने बताया कि अभिनेत्री शहनाज पिछले चार दिनों तक इनके होमस्टे में रुकी हुई थी। इस दौरान शहनाज ने यहां के स्थानीय व्यंजनों के अलावा ट्रैकिंग और फिशिंग का भी पूरा लुत्फ उठाया है। इन्होंने बताया कि एक दिन शहनाज ने होमस्टे से सरची, जमाला और बाडासारी तक करीब 10 किलोमीटर का सफर पैदल ट्रैक करके ही तय किया। इस दौरान वह यहां के स्थानीय लोगों, बच्चों और चरवाहों के साथ भी खुलकर मिली और तीर्थन की वादियों और नदी के किनारे भी खूब अठखेलियां की हैं। फिल्मी सितारों के अलावा घाटी में पर्यटकों की आमद भी काफी बढ़ रही है। इसको देखकर स्थानीय पर्यटन व्यवसायिओं, टैक्सी चालकों, दुकानदारों, गाइडों और ढाबा संचालकों का कारोबार धीरे-धीरे पटरी पर उतरने लगा है। तीर्थन घाटी में आजकल बाहरी राज्यों के अलावा हिमाचल प्रदेश के अन्य जिलों से भी सैलानी दस्तक दे रहे हैं। जो यहां पर आकर खूबसूरत प्राकृतिक स्थलों, पहाड़ों, झरनों, नदियों और ग्रामीण क्षेत्रों का भर्मण कर रहे हैं और यहां की फिजाओं में मौजूद शुद्ध आबोहवा का खूब आनंद ले रहे हैं।

 

 

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क और ट्राउट मछली के लिए विख्यात तीर्थन घाटी की शांत, सुरम्य और प्रदूषण रहित वादियां पर्यटकों को खूब भा रही है। घाटी में बने छोटे-छोटे होमस्टे सैलानियों को काफी पसंद आ रहे हैं। तीर्थन घाटी की शान्त और हसीन वादियां मायानगरी के बॉलीवुड सितारों (Bollywood stars) को भी अपनी ओर आकर्षित कर रही हैं। यहां पर प्राकृतिक सुन्दरता और जैविक विविधता का अनमोल खजाना भरा पड़ा है। तीर्थन घाटी को कुदरत ने दिल खोलकर सौन्दर्य प्रदान किया है। यहां पर आकर पर्यटक ट्रैकिंग, कैम्पिंग, फिशिंग, नेचर वॉक, रीवर क्रॉसिंग जैसी साहसिक गतिविधियों का आनंद लेते हैं। ट्रैकिंग के दौरान कुछ ही दूरी पर बदलते दृश्य पर्यटकों को और भी रोमांचित करते हैं। समुची तीर्थन घाटी वर्षाकाल के पश्चात अपनी अलग ही खुबसूरती पेश कर रही है। प्राकृतिक सौंदर्य से ओतप्रोत यहां की वादियां, हरे भरे जंगल, ऊंचे पहाड़ों से गिरते हुए झरने, परिन्दों की सुरलेहरिओं से गुनगुनाती धारें, उफनती गरजती नदियां, सुरमयी झीलें, ढलानदार वादियां और चारागाहों जैसी अछूती दृश्यावली के कारण ही यह स्थल पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।

 

 

कोरोना काल के इस दौर में हिमाचल आने वाले अधिकतर सैलानी बड़े होटलों में ठहरने की अपेक्षा होमस्टे में रहना पसंद कर रहे हैं। प्राकृतिक सौन्दर्य से लवरेज कुदरत की गोद में बसी तीर्थन घाटी में बने छोटे छोटे होमस्टे सैलानियों को काफी पसंद आ रहे हैं। होमस्टे में ठहर कर सैलानी यहाँ के स्थानीय व्यंजनों का लुत्फ लेने के साथ साथ यहाँ की पहाड़ी संस्कृति, रहन सहन, वेशभूषा और मेलों त्योहारों से भी परिचित हो रहे हैं। होमस्टे में रहकर वे कोरोना सक्रमण से भी सुरक्षित मान रहे हैं। कई लोगों ने तो यहां पर लम्बी अवधि के लिए होमस्टे बुक किए हैं जो यहीं से ऑनलाइन अपने दफ्तरों का कार्य कर रहे हैं। आजकल वीकेंड के दौरान तीर्थन घाटी में पर्यटकों की आवाजाही में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। स्थानीय गाइड के सहयोग से तीर्थन घाटी के अनछुए और अनदेखे स्थलों में पर्यटक दस्तक दे रहे हैं। ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के बफर जॉन वखाड़ी टॉप, बाडासारी, सरची, जमाला, बठाहड़, रांगथड, एंट्री गेट, जलोड़ी पास, जीभी रघुपूर फोर्ट आजकल पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं।

 

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है