Covid-19 Update

14491
मामले (हिमाचल)
10870
मरीज ठीक हुए
176
मौत
61,45,291
मामले (भारत)
3,35,80,503
मामले (दुनिया)

“गणतंत्र” जो हमारा है

“गणतंत्र” जो हमारा है

- Advertisement -

गणतंत्र का अर्थ है देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति और सही दिशा में देश के नेतृत्व के लिए राजनीतिक नेता के रूप में अपने प्रतिनिधि चुनने के लिए केवल जनता के पास अधिकार है। इसलिए भारत एक गणतंत्र देश है जहां जनता अपना नेता प्रधानमंत्री के रूप में चुनती है। भारत में “पूर्ण स्वराज्य” के लिए हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत संघर्ष किया। उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी जिससे उनके आने वाली पीढ़ी को कोई संघर्ष न करना पड़े और वे देश को आगे ले जा सकें।


भारत का संविधान 26 नवंबर, 1949 में बनकर तैयार हो गया था, लेकिन कानूनी रूप से भारत का संविधान 26 जनवरी,1950 को ही लागू इसलिए हुआ था। क्योंकि 26 जनवरी, 1930 के लाहौर अधिवेशन में कांग्रेस अध्यक्ष तथा भारत के पहले प्रधानमंत्री ने इस तारीख को पूर्ण स्वराज्य अर्थात पूर्ण स्वतंत्रता का दिन घोषित कर दिया था। कुछ कारणों से इस दिन भारत देश को पूर्ण रूप से स्वराज्य प्राप्त नहीं हो सका और इस दिन को 15 अगस्त की तरह यादगार बनाने के लिए इस दिन संविधान लागू करने के बारे में विचार विमर्श किया गया और तभी से इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।
गणतंत्र दिवस का राष्ट्रीय समारोह प्रत्येक वर्ष नई दिल्ली के इंडिया गेट पर मनाया जाता है। यह समारोह प्रातः 9 बजे शुरू हो जाता है, और लगातार तीन घंटे तक चलता है। इस समारोह के मुख्य अध्यक्ष भारत के राष्ट्रपति होते हैं। इस समारोह को मनाने के लिए प्रतिवर्ष राष्ट्रपति अन्य राज्यों के प्रतिनिधियों को और एक विदेशी प्रतिनिधि को मेहमान के रूप में इंडिया गेट पर आमंत्रित करते हैं। इंडिया गेट पर इस समारोह को मनाने के लिए विशेष तैयारी की जाती हैं इस भव्य दृश्य को देखने के लिए यहां आम जनता की भीड़ एकत्रित होती हैं।

21 तोपों की देते हैं सलामी

गणतंत्र दिवस की इस परेड की शुरुआत अमर जवान ज्योति पर शहीदों की याद राष्ट्रपति के द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद 21 तोपों की सलामी से होती है। अमर जवान ज्योति पर शहीदों को सलामी देने के बाद राष्ट्रपति के द्वारा राष्ट्रीय तिरंगा झंडा फहराया जाता है। इसके बाद राष्ट्रपति भाषण देते हैं। राष्ट्रपति का भाषण खत्म हो जाने के बाद इंडिया गेट पर भारत की तीनों सेना जल सेना, वायु सेना और थल सेना विभिन्न झांकियां निकालती हैं और राष्ट्रपति को सलामी देते हैं। सेना की सलामी के बाद अलग-अलग राज्यों की झांकियां, स्कूल के छोटे-छोटे बच्चों का नाच व गाना होता है। विभिन्न पशुओं की झांकियां जैसे घोड़े, हाथी तथा ऊंट की झांकी निकलती हैं और टैंक, तोप, हवाई जहाज, मोटरसाइकिल पर अनेक व अदभुत करतब दिखाती हुई झांकियां इंडिया गेट से लाल किले तक जाती हैं। इसके बाद बहादुर बच्चों, शहीदों को राष्ट्रपति के द्वारा पुरस्कार बांटे जाते हैं। समारोह के अंत में सभी एक साथ खड़े होकर पूरे उत्साह के साथ राष्ट्रगान गाते हैं। आप सभी को गणतंत्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Kangra Corona Update: पीटीसी डरोह के 14 और प्रशिक्षु निकले पॉजिटिव

Himachal: अनुबंध काल पूरा कर चुके सैकड़ों कर्मचारी इस दिन होंगे नियमित, प्रदेश सरकार देगी तोहफा

बड़ी खबरः Statistical Assistant Post Code 821 के लिए ना करें आवेदन- जानिए क्यों

कोरोना राहतः #Himachal में 75 फीसदी से अधिक पहुंचा रिकवरी रेट, आज 259 ठीक

Play Store से हटाए गए 17 खतरनाक ऐप्स: गूगल ने किया बैन, आप भी कर दें डिलीट

8,000 से कम है Salary तो भी खरीद सकेंगे वाहन, महिलाओं के लिए #PNB की स्पेशल स्कीम

#Corona Breaking: हिमाचल में आज चार पुलिस कर्मियों और 22 प्रशिक्षुओं सहित 266 पॉजिटिव

बड़ी खबरः कोरोना संकट के बीच Himachal के अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य बदले

मुकेश अग्निहोत्री बोले, BJP कृषि बिल की आड़ में किसानों को लूटने का कर रही काम

इस देश में हैं Chocolate Museum, अनोखी चीजें देखकर हो जाएंगे हैरान

Mumbai से Delhi जा रहा था इंडिगो का विमान, हवा में हुआ कुछ ऐसा, वापस लौटना पड़ा

#UPSC : असिस्टेंट इंजीनियर सहित 42 पदों पर निकाली Vacancy, जानिए कैसे करें आवेदन

हर रोज करेंगे एलोवेरा का सेवन तो हमेशा निरोगी रहेगा शरीर

#Corona Breaking: हिमाचल में आज राहत के साथ आफत- जानने के लिए पढ़ें खबर

#Corona काल में मुंह मीठा करवाकर पर्यटकों का स्वागत, शिमला में हुआ कुछ ऐसा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि

पहली से आठवीं कक्षाओं के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षाओं की Datesheet जारी

#HPBose: डीईएलईडी पार्ट वन और टू का रिजल्ट आउट, कितने सफल, कितने असफल- जानिए

छात्र Online देख सकते हैं SOS की प्रेक्टिकल परीक्षा के अंक , feeding का भी विकल्प

D.El.Ed CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग में आधे अभ्यर्थी ही पात्र

#HPBose: SOS मैट्रिक व जमा दो कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षा की डेटशीट जारी

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है