चीड़ की पत्तियों पर आधारित उद्योग लगाओ, टेंशन फ्री हो जाओ

सरकार 50 प्रतिशत सब्सिडी के साथ फ्री में देगी कच्चा माल

चीड़ की पत्तियों पर आधारित उद्योग लगाओ, टेंशन फ्री हो जाओ

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल में जंगलों को आग से बचाने के लिए चीड़ की पत्तियों पर आधारित उद्योगों को स्थापित करने की मुहिम तो प्रदेश सरकार (state government) ने छेड़ रखी है, लेकिन उद्यमियों में इन उद्योगों को लेकर कई तरह की शंकाएं होने के कारण यह मुहिम धरातल पर सही ढंग से नहीं उतर पा रही है। उद्यमियों की शंकाओं को दूर करने के लिए आज वन विभाग की तरफ से मंडी में जोनल स्तर की कार्यशाला (Workshop) का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता पीसीसीएफ (हॉफ) अजय शर्मा ने की जबकि उनके साथ वन व उद्योग विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे। इन्होंने उद्यमियों की शंकाएं दूर की और ऐसे उद्योग स्थापित करने के लिए प्रेरित किया।



5 लाख से मिलेगी ब्रिकेटस बनाने की मशीन, सरकार देगी सब्सिडी

वन विभाग के पीसीसीएफ (हॉफ) अजय शर्मा ने बताया कि आईआईटी मंडी (IIT Mandi) ने चीड़ की पत्तियों के ब्रिकेटस बनाने के लिए एक मशीन बनाई है जिसे पंजाब की कंपनियां साढ़े पांच लाख रूपए में बेच रही हैं। इस मशीन के जरिए चीड़ की पत्तियों के ब्रिकेटस बनते हैं जिन्हें ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने बताया कि इस उद्योग को स्थापित करने के लिए वन विभाग की ओर से 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है, जो कि अधिकतम 25 लाख तक हो सकती है। हिमाचल में अभी तक कुल 27 आवेदन विभाग के पास पहुंचे हैं जिन्हें इन प्रिंसिपल अप्रूवल दे दी गई है। अब इन्हें उद्योग विभाग की सिंगल विंडो क्लीयरेंस जरूरी है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

इन उद्यमियों को वर्कशॉप के जरिए विस्तार से बताया गया कि उन्हें कच्चा माल कैसे मिलेगा, उत्पादित माल कैसे बिकेगा और कैसे उद्योग लगाया जाएगा। अजय शर्मा ने बताया कि उद्योग लगाने वाले को वन विभाग एक साल तक चीड़ की पत्तियां निशुल्क मुहैया करवाएगा और ब्रिकेटस की मार्केटिंग के लिए सरकार पूरी मदद करेगी। उन्होंने उद्यमियों को स्पष्ट किया कि पर्यावरण विभाग की ओर अधिसूचना जारी कर दी गई है कि सीमेंट (Cement) व अन्य प्रकार के उद्योगों को 0.1 प्रतिशत फॉरेस्ट बेस्ड रॉ मटीरियल ईंधन के रूप में इस्तेमाल करना ही होगा। वहीं, मंडी डिवीजन में स्थापित एक फर्म ने उत्पादन शुरू कर दिया है। फर्म का उत्पादित माल लेह की एक फर्म ने खरीद भी लिया है। 20 क्विंटल माल दस रूप्ये प्रति किलो के हिसाब से खरीदा गया है। जबकि फर्म की ओर से और अधिक माल की मांग की गई है।

उद्यमी प्रेम सिंह ने बताया कि रोजाना तीन से चार क्विंटल माल उत्पादित किया जा सकता है। मशीन करीब एक घंटे में करीब 60 से 70 किलो ब्रिकेटस तैयार करती है। पालमपुर डिवीजन में चीड़ पत्तियों पर आधारित उद्योग स्थापित करने जा रहे उद्यमी सचिन गुप्ता का कहना है कि उन्हें इस बारे कई शंकाएं थी जिन्हें वर्कशॉप में आए अधिकारियों ने दूर किया है। उन्होंने बताया कि वन विभाग इस तरह का उद्योग स्थापित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। उद्यमियों को विभाग की ओर से हर प्रकार की सहायता मिल रही है। वर्कशॉप में मंडी, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा से आए 12 उद्यमी मौजूद रहे। इस दौरान सीसीएफ मंडी उपासना पटियाल, डीएफओ मंडी एसएस कश्यप और डीएसपी हेडक्वार्टर मुंशी राम सहित वन और उद्योग विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ब्रेकिंग: सियाचिन में हिमस्खलन, चार सैनिक और दो नागरिकों की मौत

बिग ब्रेकिंगः Ravinder Ravi के कहने पर ही मसंद ने वायरल की थी पोस्ट, रिपोर्ट में खुलासा

कोटखाई में सड़क हादसा, दो लोगों की मौत- जांच में जुटी पुलिस

दलाई लामा से मिले बंडारू दत्तात्रेय, तिब्बतियों को पूर्ण समर्थन का दिया आश्वासन

Important : अब गैर हिमाचलियों की तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर नहीं होगी नियुक्ति

जयराम बोलेः अप्रशिक्षित व अनुभवहीन पैराग्लाइडर पर होगी कार्रवाई

कैबिनेट का बड़ा फैसला : भरी जाएंगी फार्मासिस्ट की यह 200 पोस्ट

जवाली महिला मौत मामलाः सड़क पर शव रख एक घंटा चक्का जाम, दर्ज हो मर्डर केस

कुल्लू: पत्नी संग हनीमून मनाने आया था युवक, पैराग्‍लाइडिंग हादसे में चली गई जान

जयराम सरकार यहां मनाएगी दो साल का जश्न, लगी मुहर

Live : विधानसभा का शीतकालीन सत्र दिसंबर की किस तारीख से, कैबिनेट में हुआ फैसला

सुंदर ठाकुर बोले- डबल इंजन कहलाने वाली सरकार का इंजन सीज हो गया

गाइड की सताई छात्रा ऐसे रोई कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर पर आफत बन आई ,देखें वीडियो

केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान : बिजली, पानी और यात्रा के बाद अब ये सेवा होगी मुफ्त

जेएनयू छात्रों का संसद मार्च शुरू : बैरिकेड तोड़े, पुलिस के साथ धक्का-मुक्की, छात्र हिरासत में

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है