Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

चीन के पीछे पड़ा ब्रिटेन: Asia में भेज रहा एयरक्राफ्ट कैरियर; Huawei को किया बैन

चीन के पीछे पड़ा ब्रिटेन: Asia में भेज रहा एयरक्राफ्ट कैरियर; Huawei को किया बैन

- Advertisement -

लंदन। हॉंग कॉंग को लेकर आक्रामक तेवर दिखा रहे चीन (China) को सबक सिखाने के लिए ब्रिटेन (UK) ने कमर कस ली है। अमेरिका (US) से आगे निकलने की होड़ और दुनिया भर में कोरोना संक्रमण फैलाने की गलती पर पर्दा डालने में जुटे चीन के बीच अब ब्रिटेन हाथ धो कर पड़ गया है। बतौर रिपोर्ट्स, ‘रॉयल नेवी के सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट कैरियर (Aircraft Carrier) एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ को पूरे फ्लीट के साथ ब्रिटेन चीन के नजदीक तैनात करने की योजना बना रहा है। यह एयरक्राफ्ट कैरियर साउथ चाइना सी में जारी तनाव के बीच अमेरिका और जापान की सेना के साथ इस इलाके में बड़े पैमाने पर युद्धाभ्यास करेगा।’ इसके अलावा ब्रिटेन ने चीन के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए चीनी कंपनी हुवावे (Huawei) को 5जी नेटवर्क बनाने को लेकर बैन कर दिया है।


हुवावे पर डेटा चोरी और गुप्त सूचनाओं को लीक करने का आरोप है


ब्रिटेन से पहले अमेरिका ने भी हुवावे के सभी उपकरणों को प्रतिबंधित किया था। जिसके बाद अब ब्रिटिश सरकार ने टेलिकॉम कंपनियों को आदेश दिया है कि वे 2027 तक 5जी नेटवर्क से हुवावे के सभी उपकरणों को हटा दें। ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन की अध्यक्षता में हुई नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल की मीटिंग के बाद फैसला लिया गया कि देश में 5जी नेटवर्क के निर्माण में चीनी कंपनी की भागीदारी को खत्म किया जाएगा। ब्रिटिश सरकार ने यह फैसला नेशनल साइबर सिक्योरिटी काउंसिल के रिपोर्ट की समीक्षा करने के बाद लिया। चीनी कंपनी हुवावे पर डेटा चोरी और गुप्त सूचनाओं को लीक करने का आरोप है।

यह भी पढ़ें: America से लौटी बिना कोरोना लक्षण वाली महिला, 71 लोगों को कर दिया Positive

वहीं ब्रिटेन की तरफ से एयरक्राफ्ट कैरियर की तैनाती किए जाने से पहले ही ऐसा माना जा रहा है कि चीन के नजदीक युद्धाभ्यास करने से दोनों देशों के बीच तनाव और गहरा सकता है। वहीं, चर्चा है कि इस युद्धाभ्यास में ऑस्ट्रेलिया और कनाडा को भी आमंत्रित किया जा सकता है। इन दोनों देशों से भी चीन के संबंध निचले स्तर पर हैं। बतौर रिपोर्ट्स, ‘चीन के खतरे से निपटने लिए अमेरिका का करीबी सहयोगी ब्रिटेन भी एशिया में अपने सैनिक भेज रहा है।’

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है